बिहार : पटना, गया और आरा में जल्‍द खुलेंगे चार कृषि कॉलेज

0
267

बीएयू के वीसी को 15 दिनों में जमीन चिह्नित करने का निर्देश
पटना/सबौर : राज्य सरकार खेतीबारी के विकास के लिए कृषि अनुसंधान व शिक्षा को प्राथमिकता दे रही है. तीसरे कृषि रोडमैप (2017-2022) के तहत कृषि और इससे जुड़े विषयों की पढ़ाई के लिए चार नये काॅलेजों की स्थापना की जायेगी. कृषि विभाग ने इस दिशा में काम शुरू कर दिया है.

इनमें दो कॉलेज गया में और एक-एक कॉलेज पटना और आरा में खुलेंगे. कृषि विभाग के प्रधान सचिव सुधीर कुमार ने बिहार कृषि विश्वविद्यालय (बीएयू), सबौर के कुलपति डॉ अजय कुमार सिंह को चारों कॉलेजों के लिए स्थल चिह्नित कर पूरी परियोजना के साथ 15 दिनों के अंदर रिपोर्ट देने का निर्देश दिया है.

मालूम हो कि इसके लिए बीएयू के कुलपति व कुलसचिव और संबंधित जिले के जिला कृषि पदाधिकारी की कमेटी बनायी गयी है. बीएयू के प्रसार शिक्षा निदेशक सह रजिस्टार डॉ आर के सोहाने ने बताया कि कृषि विभाग के अधीन प्रक्षेत्र, विश्वविद्यालय की जमीन या फिर अन्य कोई सरकारी जमीन को इसके लिए चिह्नित किया जायेगा.

कहां और कौन कॉलेज खुलेगा

-गया: कृषि अभियंत्रण महाविद्यालय और सामुदायिक विज्ञान/फूड टेक्नोलॉजी महाविद्यालय
-पटना : कृषि व्यवसाय प्रबंधन महाविद्यालय
-आरा: जैव प्रौद्योगिकी महाविद्यालय
कृषि रोड मैप : स्थापित विवि व कॉलेज
-बिहार कृषि विश्वविद्यालय, सबौर
-सहरसा, पूर्णिया, डुमरांव व किशनगंज में कृषि कॉलेज
-उद्यान महाविद्यालय, नूरसराय, नालंदा
कृषि को प्रोत्साहन

इन कृषि कॉलेजों की स्थापना से राज्य में कृषि अनुसंधान व कृषि शिक्षा को बढ़ावा मिलेगा. राज्य के छात्र कृषि व संबद्ध विषयों की पढ़ाई कर अपने बेहतर भविष्य का निर्माण करेंगे. साथ ही राज्य की प्रगति में भागीदार बनेंगे.

डाॅ प्रेम कुमार, कृषि मंत्री, बिहार

तेजी से काम

सरकार के निर्देश पर कार्ययोजना पर तेजी से काम शुरू कर दिया गया है. बहुत जल्द कॉलेजों के लिए जमीन चिह्नित की जायेगी. इससे कृषि विकास के साथ ही राज्य की प्रतिभा निखरेगी. देश-विदेश में बिहार कृषि के बहुयामी विकास का अनुसरण होगा.
डॉ अजय कुमार सिंह, वीसी, बीएयू, सबौर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here