लालू एंड फैमिली की बढ़ी मुसीबत, IRCTC घोटाला मामलें CBI की चार्जशीट जल्द

0
135

राजद सुप्रीमो लालू यादव और उनके परिवार पर सीबीआइ अब अपना शिकंजा कसने की तैयारी कर रही है। जल्द ही रेलवे टेंडर घोटाला मामले में उनपर और परिवार पर सीबीआइ चार्जशीट दायर कर सकती है।
पटना । रेलवे टेंडर घोटाले में राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद और उनके परिजनों की मुश्किलें बढऩे वाली हैं। लालू प्रसाद के रेल मंत्री रहते रांची व पुरी स्थित रेलवे के दो होटलों को लीज पर दिए जाने में हुए भ्रष्टाचार को लेकर सीबीआइ अगले एक-डेढ़ महीने के अंदर चार्जशीट दाखिल करने वाली है। चार्जशीट दिल्ली स्थित सीबीआइ की विशेष अदालत में दाखिल की जाएगी।

सीबीआइ सूत्रों के अनुसार रेलवे टेंडर घोटाले को लेकर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) और आयकर विभाग ने अपनी जांच लगभग पूरी कर ली है। ये दोनों एजेंसियां अपनी विस्तृत जांच रिपोर्ट इस साल के अंत तक सीबीआइ को सौंप देंगी।

सीबीआइ के विधि विशेषज्ञ दोनों जांच एजेंसियों की जांच रिपोर्ट का अध्ययन करने के बाद चार्जशीट को अंतिम रूप देंगे। सूत्र बताते हैं कि चार्जशीट को अंतिम रूप देने से पहले सीबीआइ एक बार फिर राजद सुप्रीमो से पूछताछ भी कर सकती है।

विदित हो कि आयकर विभाग और ईडी की जांच टीम ने लालू प्रसाद और उनके परिजनों की कई संपत्तियों को जब्त कर रखा है। इनमें दिल्ली स्थित तीन फार्म हाउस के अलावा पटना के बेली रोड पर बेशकीमती तीन एकड़ जमीन भी शामिल है। इसी जमीन पर लालू प्रसाद के परिजन मॉल का निर्माण करा रहे थे।

वहीं सीबीआइ ने रेलवे टेंडर घोटाले में लालू प्रसाद, उनकी पत्नी व पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी, उनके छोटे पुत्र तेजस्वी प्रसाद यादव, राजद के राज्यसभा सदस्य प्रेमचंद गुप्ता की पत्नी सरला गुप्ता, रांची व पुरी में रेलवे के दोनों होटलों को लीज पर लेने वाले विनय कोचर व विजय कोचर के साथ-साथ आइआरसीटीसी के तत्कालीन प्रबंध निदेशक पीके गोयल को नामजद अभियुक्त बनाया है।

अबु दोजाना से भी होगी ईडी की पूछताछ

राजद विधायक अबु दोजाना प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के रडार पर हैं। इनकी कंपनी मेसर्स मैरिडियन कंस्ट्रक्शन (इंडिया) प्राइवेट लिमिटेड लालू प्रसाद के परिजनों की कंपनी लारा प्रोजेक्ट के लिए पटना के बेली रोड पर बिहार के सबसे बड़े मॉल का निर्माण कर रही थी। ईडी की टीम जल्द ही अबु दोजाना से पूछताछ कर सकती है।

दोजाना सीतामढ़ी के सुरसंड से राजद विधायक हैं। उनके खिलाफ पहले से निगरानी अन्वेषण ब्यूरो ने बेली रोड स्थित निर्माणाधीन मॉल की मिट्टी को बिना टेंडर निकाले संजय गांधी जैविक उद्यान को करीब 90 लाख में बेचने के मामले में जांच कर रहा है।

ईडी के सूत्रों की मानें तो सैयद अबु दोजाना का नाम ईडी के प्रोविजन अटैचमेंट ऑर्डर की फाइनल रिपोर्ट में शामिल है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here