PAK सुप्रीम कोर्ट की फटकार, कटासराज मंदिर में क्यों नहीं राम-हनुमान की मूर्ति?

0
64

पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने पंजाब प्रांत के ऐतिहासिक कटासराज मंदिर में भगवान राम और हनुमान की मूर्तियां ना होने पर नाराजगी व्यक्त की है. मंदिर परिसर में पवित्र सरोवर के सूखने पर स्वत: संज्ञान लेने के बाद सुनवाई करते हुए प्रधान न्यायाधीश साकिब निसार ने सवाल किया, क्या अधिकारियों के पास मूर्तियां हैं या उन्हें हटा दिया गया है.

न्यायमूर्ति निसार ने मीडिया में आई इन खबरों के आधार पर इस मुद्दे को उठाया कि कटासराज सरोवर सूख रहा है क्योंकि पास की सीमेंट फैक्ट्रियां कई बोरवेल के जरिए बड़ी मात्रा में पानी खींच रही हैं जिससे जमीन के अंदर जलस्तर कम हो रहा है.

डॉन की खबर के अनुसार, सुनवाई के दौरान के न्यायमूर्ति निसार की अध्यक्षता वाली तीन सदस्यीय पीठ ने क्षेत्र में सीमेंट फैक्ट्रियां को विध्वंसकारी बताया और मंदिर के पास स्थित फैक्ट्रियों के नाम बताने को कहा. पंजाब सरकार के वकील ने अदालत को बताया कि मंदिर के पास बेस्ट वे सीमेंट फैक्ट्री चकवाल और डीजी खान सीमेंट सहित कई अन्य फैक्ट्री हैं.

मंगलवार को अदालत ने कहा कि इस मामले में जो लोग संदिग्ध हैं उनको अबतक गिरफ्तार क्यों नहीं किया गया. इसपर वक़्फ़ बोर्ड के वकील ने जवाब दिया कि संदिग्ध लोग पाकिस्तान से फरार हैं.

क्यों है खास?
आपको बता दें कि कटासराज पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के चकवाल जिले में स्थित हिंदुओं का प्रसिद्ध मंदिर है. मान्यता है कि भगवान शिव की पत्नी सती की मौत पर शिव के रोने के कारण कटासराज मंदिर परिसर में आंसू का तालाब बन गया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here