कल श्रीलंका के खिलाफ सीरीज जीतने उतरेगी टीम इंडिया, हौसले बुलंद

0
168

विशाखापत्तनम : श्रीलंका के खिलाफ तीसरे और आखिरी एक दिवसीय क्रिकेट मैच में कल भारतीय टीम उतरेगी तो बल्लेबाजों के उम्दा फार्म और इस शहर में दमदार रिकार्ड के बूते उसका पलड़ा भारी होगा. भारत ने अभी तक इस मैदान पर अक्तूबर 2015 में दक्षिण अफ्रीका से श्रृंखला गंवाने के बाद कोई श्रृंखला नहीं हारी है.

दूसरी ओर श्रीलंका की नजरें भारत में पहली द्विपक्षीय श्रृंखला जीतने पर होगी जिसने आठ में पराजय का सामना किया और एक ड्रा खेली. मोहाली में कप्तान रोहित शर्मा ने शानदार दोहरे शतक के साथ मोर्चे से अगुवाई की जबकि धर्मशाला में पहले वनडे में भारत को शर्मनाक पराजय झेलनी पड़ी थी. रोहित एंड कंपनी की नजरें यहां लगातार दूसरा मैच जीतकर श्रृंखला अपने नाम करने पर लगी होंगी. भारत ने इस मैदान पर सात मैच खेले हैं और सिर्फ एक में उसे पराजय झेलनी पडी. मेजबान को उम्मीद होगी कि उसका शानदार फार्म यहां बरकरार रहेगा.

धर्मशाला में मिली हार के बाद भारत आईसीसी वनडे रैंकिंग में दक्षिण अफ्रीका को पछाड़ नहीं सकेगा. लेकिन यहां श्रृंखला में जीत दाव पर है और भारतीय टीम टेस्ट श्रृंखला के बाद वनडे में भी अपना दबदबा बरकरार रखना चाहेगी. भारतीय कप्तान श्रीलंकाई बल्लेबाजों पर अपना खौफ कायम रखने के इरादे से उतरेंगे जबकि बाकी बल्लेबाजों से भी अच्छे प्रदर्शन की अपेक्षा होगी. धर्मशाला में 112 रन पर आउट होने के बाद मेजबान टीम ने दूसरे वनडे में लय हासिल की.

शिखर धवन ने अर्धशतक बनाया जबकि युवा श्रेयस अय्यर ने 88 रन बनाकर चयनकर्ताओं का ध्यान खींचा होगा. भारतीय बल्लेबाजों ने पहले मैच की हार के बाद लय हासिल कर ली है और कल उनसे इसी प्रदर्शन के दोहराव की उम्मीद होगी. मध्यक्रम में दिनेश कार्तिक और मनीष पांडे अच्छी पारियां खेलना चाहेंगे जबकि महेंद्र सिंह धोनी और हार्दिक पंड्या से भी बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद होगी. ऐसा लगता है कि अजिंक्य रहाणे को फिर बाहर रहना होगा बशर्ते टीम प्रबंधन पांडे या कार्तिक पर उन्हें तरजीह देने का फैसला ना ले.

गेंदबाजों ने अभी तक अच्छा प्रदर्शन किया है और उनसे इसके दोहराव की उम्मीद होगी. वैसे पिछले रिकार्ड को देखते हुए यह विकेट बल्लेबाजों की मददगार लग रही है. पहले 10 ओवर में अच्छी गेंदबाजी के महत्व को भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमरा के अलावा सुरंगा लकमल भी समझते होंगे. हरफनमौला एंजेलो मैथ्यूज भी इस मैच के लिये उपलब्ध होंगे जिससे श्रीलंकाई आक्रमण मजबूत होगा. मोहाली में शतक जमाने वाले मैथ्यूज श्रीलंका की अनुभवहीन बल्लेबाजी की रीढ़ हैं.

श्रीलंकाई बल्लेबाजी क्रम में उपुल थरंगा सबसे अनुभवी है जिनसे बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद रहेगी. लाहिरु तिरिमन्ने, धनुष्का गुणतिलका और निरोशन डिकवेला भी लगातार अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सके हैं . पिछले मैच में रोहित के हाथों धुलाई के बाद श्रीलंकाई गेंदबाजों के पास मनोबल हासिल करना बडी चुनौती होगी.

टीमें : भारत : रोहित शर्मा ( कप्तान ), शिखर धवन, श्रेयस अय्यर , दिनेश कार्तिक, मनीष पांडे, एम एस धोनी, हार्दिक पंड्या, एम एस वाशिंगटन सुंदर, भुवनेश्वर कुमार, युजवेंद्र चहल, जसप्रीत बुमरा, कुलदीप यादव, अजिंक्य रहाणे, अक्षर पटेल, सिद्धार्थ कौल.

श्रीलंका : तिसारा परेरा ( कप्तान ) , उपुल थरंगा, धनुष्का गुणतिलका, लाहिरु तिरिमन्ने, असेला गुणरत्ने, सदीरा समरविक्रमा, निरोशन डिकवेला, धनंजय डिसिल्वा, एंजेलो मैथ्यूज, सचित पतिराना, सुरंगा लकमल, नुवान प्रदीप, अकिला धनंजया, चतुरंगा डिसिल्वा, दुष्मंता चामीरा, कुसल परेरा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here