गलत साबित हुई लालू की भविष्यवाणी, गुजरात चुनाव को लेकर किये थे बड़े-बड़े दावे

0
397

पटना : बिहार के सबसे बड़े सियासी परिवार के मुखिया और राजद सुप्रीमो लालू यादव ने गुजरात चुनाव की भविष्यवाणी को लेकर बड़ी-बड़ी बातें कही थीं. लालू ने कई बयान दिये थे और कहा था कि इस बार भाजपा की हार हो रही है. इसी महीने 14 दिसंबर को लालू ने मीडिया से बातचीत में कहा था कि जहां-जहां भारी तादाद में लोग वोटिंग कर रहे हैं, वहां भाजपा की हार हो रही है. लालू ने यह भी कहा था कि चुनाव आयोग को पीएम नरेंद्र मोदी को नोटिस भेजना चाहिए. टीवी चैनल के खिलाफ क्यों कार्रवाई की जा रही है.

उन्होंने कहा था कि आज मतदान हो रहा है और आज भी प्रधानमंत्री मोदी भाषण कर रहे हैं. लालू ने भगवान कृष्ण की नगरी का उदाहरण देते हुए पत्रकारों से कहा था कि मैंने भविष्यवाणी कर दी है. भाजपा की हार निश्चित है, मैंने पहले ही केंद्र सरकार के साढ़े तीन साल शासन में रहने की भविष्यवाणी की थी, जो गुजरात चुनाव में पूरी तरह सही साबित होने जा रही है. उन्होंने कहा था कि द्वारिकाधीश की नगरी यानी गुजरात में बहुत जल्द ही जीत हार का फैसला हो जायेगा. लालू यादव इससे पूर्व भी गुजरात चुनाव के बारे में टिप्पणी कर चुके हैं.

लालू ने सोशल मीडिया पर गुजरात चुनाव को लेकर कई बार टिप्पणी की थी. उन्होंने कहा था कि गुजरात के भाइयों बहनों से अपील है कि इस आदमी का बोझ उतारिये अपने सिर से. लालू ने बिना नाम लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज कसा था, लेकिन चुनाव परिणाम बिल्कुल उलटा रहा है.

लालू ने 27 नवंबर को किये गये अपने ट्वीट में कहा था कि सुनो मोदी, लालू डरने वाला इंसान नहीं है. किसी दूसरे को डराओ, जैसे नीतीश को डराया. बिहार की 11 करोड़ जनता और बच्चा-बच्चा मेरा रक्षक है.

गुजरात चुनाव को लेकर लालू वहां प्रचार करने के लिए जाने वाले थे, लेकिन लालू की सुरक्षा में कटौती होने के बाद लालू ने पीएम मोदी पर बड़ा हमला करते हुए कहा था कि PM मोदी नहीं चाहते हैं कि हम कहीं आये और जाये, मुझ पर कहीं भी हमला कराया जा सकता है. लालू ने कहा था कि रेल मंत्री रहते गुजरात गया था तब मोदी सीएम थे. उस वक्त भी इन्होंने मेरी गाड़ी पर पथराव करवाया था. मेरे गुजरात चुनाव में जाने के नाम से ही सुरक्षा काट दिया।लालू से काहे इतना डरते हो?

अपने 6 दिसंबर के ट्वीट में लालू ने कहा था कि बिहार चुनाव में ई लोग गाय और पाकिस्तान को खोज कर लाये थे और अब गुजरात में आठ से नौ सौ साल पहले गड़े मुर्दों को. मतलब हालात वहीं हैं और हाल भी वहीं होने वाला है.

दिसंबर 7 को लालू ने मोदी के भाषणों पर तंज कसते हुए कहा कि इस देश में राजनीतिक मर्यादा, भाषा और व्याकरण को सिर्फ और सिर्फ एक व्यक्ति ने तार-तार एवं तहस-नहस किया है.

आठ दिसंबर को अपने ट्वीट में लालू ने गुजरात के लोगों से अपील किया कि गुजरात वालों याद रखना कमल का फूल पूरे 5 साल अप्रैल फूल बनाता है. गुजरात में तो विगत 22 वर्ष से बना रहा है. सतर्क रहो, सावधान रहो, ख़ुश रहो.

लालू ने उसके अगले दिन नौ दिसंबर को ट्वीट कर कहा कि गुजरात मॉडल पर बात करने में किसका नाना याद आ रहा है? करों ना गुजरात के विकास मॉडल पर बात? किसने रोका है?

लालू ने मोदी के चुनाव प्रचार के लिए सी प्लेन पर चढ़ने को लेकर कहा था कि भैयों-बनों, 22 साल के कुशासन बाद भी रोजगार-नौकरी भूलों! अब विदेशी सी-प्लेन और पायलट का सर्कस देखों, वोट दो.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.