Gujarat assembly election result 2017: गुजरात नहीं, 2019 का आम चुनाव लड़ा जा रहा है!

0
216

चुनाव तो हिमाचल विधानसभा के भी हुए हैं. वहां भी वोटों की गिनती जारी है. लेकिन जनता को इंतजार है गुजरात चुनाव का. ऐसा इसलिए क्योंकि यह 2019 में प्रस्तावित आम चुनाव की प्रयोगशाला बना हुआ है. जानकार बता रहे हैं कि नरेंद्र मोदी और राहुल गांधी वास्तव में गुजरात नहीं, उसके बहाने 2019 के लोकसभा चुनाव की जमीन तैयार कर रहे हैं

लंबे समय से बीजेपी कवर करने वाले वरिष्ठ पत्रकार सुभाष निगम कहते हैं कि “प्रधानमंत्री और सत्ताधारी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष इसी प्रदेश से हैं. इसलिए प्रतीकात्मक तौर पर यहां की जीत-हार का मैसेज पूरे देश में जाएगा. असल में बीजेपी और दोनों पार्टियां इसे आम चुनाव के लिए जीतना चाहती हैं. ”

“1998 से लगातार गुजरात पर शासन कर रही बीजेपी अगर अपनी सत्ता बचा लेती है तो यह माना जाएगा कि मोदी की नीतियों को समर्थन मिल रहा है. अगर हार हुई तो यह संदेश जाएगा कि जिसकी नीतियों को उसके गृह प्रदेश में नकार दिया गया है, भला उसे देश कैसे स्वीकार करेगा. इससे कांग्रेस को संजीवनी मिल सकती है.”

गुजरात विधानसभा चुनाव परिणाम 2017, Gujarat assembly-election-result-2017-live-Narendra Modi, Rahul gandhi is actually fighting 2019 Lok Sabha election in Gujarat गुजरात चुनाव बीजेपी, कांग्रेस दोनों का भविष्य तय करेगा

इन्हीं कारणों से राजनीतिक विश्लेषक मान रहे हैं कि गुजरात विधानसभा चुनाव में बीजेपी की जीत-हार से 2019 में होने वाले आम चुनाव की तस्वीर स्पष्ट हो जाएगी. इसीलिए इसे आम चुनाव का सेमीफाइनल माना जा रहा है.

यह चुनाव कितना महत्वपूर्ण है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 28,119 और राहुल गांधी ने 20,010 किलोमीटर यात्रा करके धुंआधार चुनाव प्रचार किया.

हालांकि मोदी सरकार आश्वस्त है कि उसे जनता एक मौका और देगी. इसीलिए उसने अपने कई महत्वपूर्ण वादों को आम चुनाव के पार पूरा करने की समय सीमा तय की है. बुलेट ट्रेन की योजना 2022 तक पूरी होगी. सरकार का संकल्प है कि साल 2022 तक देश के किसानों की आय दो गुना करेंगे. प्रधानमंत्री ने 2022 तक सबको घर देने का वादा किया है. यही नहीं 2019 में महात्मा गांधी की 150वीं जयंती तक भारत को स्‍वच्‍छता के मामले में अव्‍वल बनाने का लक्ष्‍य भी रखा गया है.

इसी आत्मविश्वास की वजह से गांधीनगर (गुजरात) में आयोजित भाजपा के गौरव महासम्मेलन में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि ‘वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव की चिंता छोड़ कार्यकर्ता 2024 के चुनाव पर ध्यान दें.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here