खुशखबरी… सहायक शिक्षकों के 2213 रिक्त पदों के लिए जारी हुई मेरिट लिस्ट

0
721

पटना.बिहार कर्मचारी चयन आयोग ने 2,213 रिक्त सहायक शिक्षकों के पदों पर नियुक्ति के लिए मेधा सूची का प्रकाशन किया है। 34,540 कोटि के इन शिक्षकों के लिए पहले 16 दिसंबर को मेधा सूची ऑनलाइन जारी किए जाने का निर्णय लिया गया था। हालांकि, दो दिन बाद बिहार एसएससी ने यह सूची ऑनलाइन जारी की है। इस बार बिहार एसएससी ने मेधा सूची सभी के लिए जारी नहीं की है। अभ्यर्थियों की चालाकी को रोकने के लिए भी आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं।

राज्य में 34,540 कोटि के शिक्षक वर्ष 2010 से पदों के भरे जाने की प्रतीक्षा कर रहे हैं। उस समय जारी की गई नियुक्ति सूचना के तहत 1,23,149 अभ्यर्थियों ने शिक्षक नियोजन के लिए आवेदन किया था। आयोग की ओर से चली नियुक्ति प्रक्रिया के तहत 34,540 मेधा सूची में चयनित अभ्यर्थियों को नियोजन का मौका दिया गया। इसमें से 32,327 पदों पर नियुक्ति की प्रक्रिया पूरी कर ली गई। 2,213 पद खाली रह गए।

इन पदों को भरे जाने के लिए करीब दो वर्षों से बचे 88,609 अभ्यर्थी संघर्ष कर रहे थे। वर्ष 2016 में कोर्ट की ओर से जारी आदेश के बाद आयोग की ओर से नियुक्ति प्रक्रिया दोबारा शुरू किए जाने के मामले में कार्रवाई शुरू हुई। हालांकि, प्रक्रिया के शुरू होने में एक वर्ष से अधिक का समय बीत गया है। आयोग ने अब जाकर नियुक्ति की प्रक्रिया शुरू की है।

नहीं चलेगी चालाकी

सहायक शिक्षक नियुक्ति प्रक्रिया में अभ्यर्थी अब अधिक चालाकी नहीं दिखा पाएंगे। अगर उन्होंने आयोग की ओर से जारी की गई मेधा सूची से छेड़छाड़ करने की कोशिश की, तो उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई भी होगी। इस बार हर यूजर के ओपी आईडी व जन्मतिथि से किन-किन कंप्यूटर व स्थान से मेधा सूची को खोला जा रहा है, इसकी जानकारी आयोग सर्वर से लेगा। मेधा सूची को कॉपी करने या किसी अन्य विधि से इसमें बदलाव करने की कोशिश के भी आंकड़े नए साफ्टवेयर से आयोग को मिल जाएंगे। आयोग का कहना है कि इस प्रकार की व्यवस्था से अभ्यर्थियों को होने वाली परेशानी से बचाया जा सकता है।

सहायक शिक्षक की ओपी आईडी व जन्मतिथि से लॉगइन पेज खुलेगा

अभ्यर्थियों को पेज पर अपनी मेरिट लिस्ट व साथी अभ्यर्थियों की मेरिट लिस्ट नजर आएगी। इस अपलोड की जानेवाली सूची में सभी प्रकार की जानकारी दी रहेगी। अगर अभ्यर्थी को अपने विवरण में किसी प्रकार की गड़बड़ी नजर आए या किसी साथी उम्मीदवार की वरीयता सूची पर कोई आपत्ति होगी, तो वे वहीं पर ऑनलाइन आपत्ति दर्ज करा सकेंगे। अगर किसी दूसरे अभ्यर्थी ने आपके संबंध में कोई आपत्ति दर्ज कराई है, तो भी उसे आप वहां देख सकते हैं। इस संबंध में अपनी आपत्ति भी आपकी ओर से दर्ज कराई जा सकती है। लेकिन, अगर आपने कई स्थानों से लॉगइन किया या आपके लॉगइन विवरण कई स्थानों पर प्राप्त किए जाने का प्रयास किए गए, तो वह रिकार्ड होता रहेगा। इस संबंध में आयोग की ओर से संबंधित अभ्यर्थी से जानकारी भी ली जा सकती है। आयोग का कहना है कि ऐसे अभ्यर्थियों के खिलाफ सूचना लीक करने के मामले में कानूनी कार्रवाई भी होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here