SPK News desk, ओला अब घर-घर खाने की डिलीवरी के बिजनेस में भी एक बार फिर से अपना भाग्य अजमाने जा रही है। कंपनी 2015 में अपने वेंचर ओला कैफे के बंद हो जाने के बाद एक बार फिर से इस सेगमेंट में अपनी किस्मत अजमाने जा रही है। ओला ने जर्मनी के डिलीवरी हीरो ग्रुप से फूडपांडा इंडिया को खरीद लिया है। फूडपांडा देश में जोमेटो और स्विगी के बाद तीसरे नंबर का फूड डिलीवरी ऐप है। इसके लिए कंपनी 200 मिलियन डॉलर निवेश के साथ-साथ 50 मिलियन का स्टॉक बेस्ड निवेश किया है। फूडपांडा इंडिया के सीईओ सौरभ कोचर ने अपने पद से इस्‍तीफा देने का फैसला किया है। ओला के संस्‍थापक सदस्‍य प्रणय जीवराज को फूडपांडा इंडिया का अंतरिम सीईओ नियुक्‍त किया गया है और वे मौजूदा टीम के साथ काम कर रहेफूडपांडा के प्‍लेटफॉर्म पर भारत के 100 से अधिक शहरों में 15,000 से अधिक रेस्‍टोरेंट रजिस्‍टर्ड हैं। 2016-17 में इसका राजस्‍व 62.16 करोड़ रुपए रहा, जो कि इससे पहले के वित्‍त वर्ष में 37.81 करोड़ रुपए था। 2015-16 में फूडपांडा को 142.64 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ था, जो 2016-17 में 69 प्रतिशत घटकर 44.81 करोड़ रुपए रह गया। कंपनी ने कहा था कि उसका लक्ष्‍य 2019 तक फायदे में आना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here