वाराणसी में चलेगी देश की पहली लाइट मेट्रो

0
141

वाराणसी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी + के संसदीय क्षेत्र में भारत की पहली लाइट मेट्रो रेल सर्विस शुरू होने जा रही है। वाराणसी में इसे लेकर सारी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। इस मेट्रो की वहन क्षमता और कीमत दोनों कम होती है। छोटे शहरों के लिए यह मेट्रो उपयुक्त रहती है।

लखनऊ मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन के प्रमुख सलाहकार ई श्रीधरन ने बताया कि वाराणसी + में मेट्रो का डीपीआर प्रदेश सरकार के अनुरोध पर बदल दिया गया है। प्रदेश सरकार ने एलएमआरसी से वाराणसी का डीपीआर फिर से बनाने को कहा था। यह नया डीपीआर नई मेट्रो पॉलिसी के आधार पर बनाया गया है।

उन्होंने बताया कि नई पॉलिसी के अनुसार 20 लाख की आबादी वाले शहर में मेट्रो चलाई जाएगी इसलिए उन लोगों ने सोचा कि वाराणसी में लाइट मेट्रो सर्विस शुरू की जाए।

एलएमआरसी + के एमडी कुमार केशव ने बताया कि लाइट मेट्रो की यात्रियों को ले जाने की क्षमता 12000 से कम होती है जबकि मीडियम मेट्रो में 12,000 से लेकर 50,000 तक की क्षमता होती है। वहीं भारी मेट्रो में 50,000 से क्षमता का भार वहन हो सकता है।

दिल्ली के अतिरिक्त भारत के हर शहर जयपुर, बेंगलुरु, कोची और यहां तक की लखनऊ में अभी मीडियम मेट्रो रेल का संचालन हो रहा है। वाराणसी देश का पहला ऐसा शहर होगा जहां लाइट मेट्रो + चलाई जाएगी।

श्रीधरन ने बताया कि अगर मीडियम मेट्रो से तुलना करें तो लाइट मेट्रो बनाने में 20 फीसदी कम खर्च होगा। मेट्रो के पहियों और उसके कोचों का भार कम कर दिया जाता है इससे उसकी कीमत कम हो जाती है।

इसलिए अब इलाहाबाद, गोरखपुर सहित दूसरे शहरों में अब सिर्फ लाइट मेट्रो ही चलाई जाएगी। श्रीधरन ने कहा कि कानपुर मेट्रो का डीपीआर और आगरा मेट्रो का डीपीआर सरकार को स्वीकृति के लिए भेजा जा चुका है। अब मेरठ, गोरखपुर और इलाहाबाद का डीपीआर बनाया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here