बिहार बंद के दौरान गुंडागर्दी: मरीज को गोद में ले जाना पड़ा, जबरदस्‍ती लगवाये नारे

0
237

बिहार बंद के दौरान राजद समर्थकों की गुंडागर्दी सौफ तौर पर देखी गई। कहीं एंबुलेंस को रोक दिया गया तो कहीं लोगों से जबरदस्‍ती लालू जिंदाबाद के नारे लगावाये गये।
पटना । बिहार बंद के दौरान राजद समर्थकों की अराजकता सौफ तौर पर देखी गई। बंद के नाम पर उपद्रव करते हुए राजद कार्यकर्ताओं ने लाठी-डंडे लेकर जगह-जगह रास्ता जाम, आगजनी, तोड़फोड़ और रेल परिचालन बाधित किया। राजद के बंद की वजह से लोग घरों में कैद रहे। जो अपरिहार्य कारण से बाहर निकले, उन्हें भारी परेशानी से गुजरना पड़ा। कहीं एंबुलेंस को रोक दिया गया तो कहीं लोगों से जबरदस्‍ती लालू जिंदाबाद के नारे लगावाये गये। दुकानों में तोड़-फोड़ की गई तो सड़कों पर चल रहे वाहनों को क्षतिग्रस्‍त कर दिया गया। राजद समर्थकों ने मीडियाकर्मियों को भी नहीं बख्‍शा। डालते हैं कुछ ऐसी ही घटनाओं पर नजर:

केस 1 : राजधानी पटना में दीघा थाने के समीप राजद कार्यकर्ताओं ने सड़क को जाम कर दिया। लोगों को कहीं आने जाने नहीं दे रहे थे। यहां तक मीडियाकर्मियों को नहीं बख्‍शा। कहा कि लालू यादव जिंदाबाद के नारे लगाने के बाद जाने देंगे।

केस 2 : बिहार के सिवान जिले में राजद समर्थकों की दादागिरी साफ तौर पर देखने को मिली। घोषणा की गई थी कि बंद को आवश्यक सेवाओं से मुक्त रखा जाएगा, लेकिन गुरुवार को जब सड़क पर बंद कराने उतरे तो स्कूल बसों के साथ एंबुलेंस को भी रोक दिया गया। सिवान के बबुनिया मोड़ के पास पैर टूटने के कारण महिला को एंबुलेंस से सदर अस्पताल लाया जा रहा था। एंबुलेंस को रोक दिए जाने के कारण परिजन गोद में उठा लिए और करीब डेढ़ किमी दूर सदर अस्पताल पहुंचाया।

केस 3 : सिवान में ही बिहार बंद के दौरान राजद के एक नेता द्वारा प्रखंड मुख्यालय स्थित बाजार बंद के दौरान अखबार हॉकर से हुई नोकझोंक एवं मारपीट करने का मामला प्रकाश में आया है। अखबार बिक्रेता सोंधानी निवासी भोला कुमार यादव ने थाने में आवेदन देकर भगवानपुर निवासी राजद नेता बलिराम राय के खिलाफ अखबार फाड़ देने, मारपीट करने एवं 4200 रुपये छीन लेने का आरोपलगाया है।

राजद नेता बलिराम राय ने अपने आवेदन में भोला कुमार यादव पर आरोप लगाते हुए कहा है कि बंद के दौरान वह पार्टी समर्थकों के साथ सड़क पर जमे हुए थे। इसी बीच अखबार हॉकर भोला कुमार यादव तेज गति से गाड़ी चलाते हुए भीड़ में घुस गया। मना करने पर अशोभनीय व्यवहार के साथ मारपीट पर उतर गया। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

केस 4 : बिहार के पटना जिले के मनेर में जिस तरीके की घटना सामने आयी है, उससे यह साफ हो गया कि राजद के नेता और कार्यकर्ता अभी भी 90 की दशक वाला बिहार बनाना चाहते हैं। बंद के दौरान एंबुलेंस स‍हित कई गाडि़यां फंसी रही। लोगों को काफी परेशानी हुई। लेकिन इससे बंद समर्थकों को क्‍या, वे एनएच 30 पर लौंड़ा नाच करवाते रहे।

बंद का किया विरोध, लालू के खिलाफ लगाया नारा

मधेपुरा में राजद के बंद का बाजार के पूर्णियां गोला चौक के समीप कुछ लोगों ने बंद का विरोध करते हुए लालू के खिलाफ नारेबाजी की। लोगों का कहना था कि चाय दुकान पर बंद समर्थकों ने हंगामा कर दुकान में तोड़फोड़ की। उसके बाद दुकानदार व उसके समर्थकों ने सड़क जाम कर विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया। बाद में किसी प्रकार मामला शांत किया गया। वहीं उदाकिशुनगंज में भी लालू के खिलाफ नारेबाजी की। वहां एक व्यवसायी के साथ मारपीट के विरोध में दुकानदारों में विरोध कर दिया है।

फेल हुद राजद नेताओं के दावे

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने प्रकाश पर्व को देखते हुए पार्टी कार्यकर्ताओं से पटना सिटी एवं पुराने बाइपास को अनिसाबाद से लेकर दीदारगंज तक बंद से मुक्त रखने की अपील की थी। उन्होंने बताया कि बंद के दौरान राजद कार्यकर्ता बाहर से आने वाले सिख श्रद्धालुओं का विशेष ख्याल रखेंगे। उनके लिए जगह-जगह चाय-नाश्ते का भी इंतजाम रहेगा। मरीज, एंबुलेंस, ट्रेन एवं स्कूली बसों समेत सभी जरूरी सेवाओं को बंद से मुक्त रखा जाएगा। स्कूल-कालेजों की परीक्षाओं पर भी बंद का असर नहीं पड़ेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here