आध्यात्मिक यूनिवर्सिटी: बच्चियों से मालिश कराता था दिल्ली वाला ‘राम रहीम’

0
252

रोहिणी के आध्यात्मिक विश्वविद्यालय में तीसरे दिन भी अफरातफरी रही। गुरुवार सुबह 11:30 से देर शाम तक बाल कल्याण समिति (सीडब्ल्यूसी) और दिल्ली महिला आयोग (डीसीडब्ल्यू) की टीमों की अगुआई में आश्रम में मौजूद 100 से ऊपर लड़कियों की मेडिकल जांच की गई। लड़कियों की उम्र का पता कर करीब 41 नाबालिग लड़कियों को नरेला और केजी मार्ग के बाल सुधार केंद्र ले जाया गया है। बताया जा रहा है कि यहां बच्चियों की काउंसलिंग होगी। डीसीडब्ल्यू चीफ स्वाति जयहिंद ने बताया कि यहां कई महिलाएं बदहवासी की हालत में मिली हैं, ऐसा लग रहा है कि उन्हें नशे की कोई चीज दी गई है जिससे वे बात नहीं कर पा रही थीं। गुरुवार रात 9 बजे तक करीब डेढ़ सौ महिलाएं आश्रम में ही थीं, जिन्हें जल्द ही नारी निकेतन भेजा जाएगा। स्वाति के मुताबिक कई महिलाओं ने यौन शोषण की बात कही।

चादरों से कवर कर निकाला
आश्रम में गुरुवार को सीडब्ल्यूसी की टीम के सामने सभी लड़कियों को पेश किया गया। इसकी जांच हुई और नाबालिग लड़कियों को आश्रम से बाहर निकाला गया। लड़कियों को पूरा ढककर बाहर निकाला गया। आश्रम से बसों तक की दूरी को चादरों से कवर कर दिया गया। बसों को भी कवर कर दिया गया। इलाके के लोगों को आश्रम के बाहर से हटाया गया और किसी भी तरह की फोटो खींचने और विडियॉग्रफी करने की सख्त मनाही की गई। इस दौरान कुछ लड़कियों के परिवार वाले भी थे, जिन्होंने बताया कि उनकी बच्चियों को यहां कैद करके रखा गया था।

खुद को कृष्ण बताता था, प्रॉपर्टी भी हड़पता था!
आश्रम से निकाली गई महिलाओं ने बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित पर रेप के आरोप भी लगाए हैं। आश्रम के खिलाफ केस लड़ रहे एक परिवार की 12 साल की बच्ची बाबा के आश्रम में फंस गई थी। बच्ची का कहना है कि बाबा उसे अपनी मालिश करने को कहता था, बच्ची को गलत तरीके से छूता था। विरोध करने पर बाबा कहता था कि मैं भगवान कृष्ण हूं जैसे उनकी कई रानियां थीं, तुम भी मेरी रानी बन जाओगी।

लड़कियों को पार्वती कहता था
आश्रम की एक लड़की ने एनबीटी को बताया कि बाबा कहते थे, ‘मैं कृष्ण हूं और राजा की तरह इस संसार में आया हूं। मेरी 16000 गोपियां हैं। यह भी बताया गया कि बाबा खुद को कभी शिव और लड़कियों को पार्वती भी कहता था। उन्होंने मुझसे कहते हैं कि उनसे आर्शीवाद से ही मुझे मोक्ष मिलेगा।’ लड़की ने बताया कि बाबा उससे कई बार मिले और गलत काम किया। एक और लड़की ने बताया, ‘बाबा कहते थे कि सांसरिक लोगों से बातें करना, उनसे रिश्ता रखना पाप है। उन्होंने कहा, मेरे से संबंध बनाकर ही मुझे संसार से मुक्ति मिलेगी और मोक्ष मिलेगा।’ परिवारवालों ने बताया कि वह न सिर्फ लड़कियों के साथ गलत काम करता था, उनके परिवारवालों की जमीन या प्रॉपर्टी या पैसा हड़पने का भी काम करना था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here