ट्रिपल तलाक पर लोकसभ में आज पेश हो सकता है बिल

0
161

नई दिल्ली। एक बार में तीन तलाक के खिलाफ केंद्र सरकार द्वारा बनाए गए बिल को सरकार आज लोकसभा में पेश करेगी। यह बिल पहले गुरुवार को सदन में रखा जाना था लेकिन अब आज इसे पेश किया जाएगा। इसके लिए सरकार ने अपने सभी संसादों को व्हीप जारी कर सदन में रहने के लिए कहा है।

कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद इस बिल को सदन में पेश करेंगे। संसद में पीएम मोदी के बयान पर जारी हंगामे के बीच सरकार आज लोकसभा में यह बिल पेश होगा और देखना होगा कि विपक्ष इसे पेश होने देता है या नहीं।

प्रस्तावित विधेयक में एक बार में तीन तलाक देने वाले पति को तीन साल तक की कैद और जुर्माने का प्रावधान है। यह कानून जम्मू-कश्मीर को छोड़कर पूरे देश में लागू होगा। सुप्रीम कोर्ट ने गत 22 अगस्त को एक बार में तीन तलाक (तलाक-ए-बिद्दत) के चलन को निरस्त कर दिया था। इसके बावजूद लगातार तीन तलाक की घटनाएं हो रही थीं।

इसके मद्देनजर प्रधानमंत्री ने नए कानून पर विचार करने के लिए मंत्रिमंडलीय कमेटी का गठन किया था। इसमें राजनाथ सिंह, सुषमा स्वराज, अरुण जेटली, रविशंकर प्रसाद, पीपी चौधरी और डाक्टर जितेंद्र सिंह शामिल थे। पिछले दिनों कैबिनेट ने विधेयक को मंजूरी दे दी थी।

ऐसा होगा नया कानून –

– तीन तलाक पर प्रस्तावित कानून का नाम मुस्लिम वुमेन प्रोटेक्शन आफ राइटस आन मैरिज होगा

– यह कानून सिर्फ एक साथ एक बार में तीन तलाक यानी तलाक ए बिद्दत के मामलों में ही लागू होगा

– अगर कोई पति अपनी पत्नी को एक बार में तीन तलाक देता है तो वह गैर कानूनी होगा

– एक बार में तीन तलाक हर रूप में गैरकानूनी होगा चाहे वो लिखित हो, बोला गया हो या फिर इलेक्ट्रॉनिक रूप में हो

– जो भी व्यक्ति अपनी पत्नी को एक बार में तीन तलाक देगा उसे तीन साल तक की कैद और जुर्माने की सजा होगी – अपराध संज्ञेय और गैर जमानती होगा। मुकदमे का क्षेत्राधिकार मजिस्ट्रेट की अदालत होगी

– तीन तलाक पीड़िता मजिस्ट्रेट की अदालत में गुजारा भत्ता और नाबालिग बच्चों की कस्टडी की मांग कर सकती है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here