जेल में लालू से मिले राजद नेता और वकील, कहा-लालूजी फिट एंड फाइन हैं

0
244

लालू प्रसाद यादव से बिरसा मुंडा जेल में मिलने राजद नेता और समर्थक पहुंचे हैं। आज लालू के वकील प्रभात कुमार सहित चार नेताओं ने उनसे मुलाकात की और कहा कि लालू यादव बिल्कुल ठीक हैं।

पटना [जेएनएन]। राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव से मिलने आज राजद नेता और लालू के वकील होटवार के बिरसा मुंडा केंद्रीय कारागार पहुंचे, जहां पहले जेल प्रशासन के नियमानुसार तीन लोगों को उनसे मिलने की इजाजत मिली, लेकिन विशेष आग्रह पर दो और लोगों को लालू से मिलने की इजाजत दी गई।

लालू से जेल के अंदर उनके वकील प्रभात कुमार और राजद नेता सह झारखंड की प्रदेश अध्यक्ष अन्नपूर्णा देवी सहित भोला यादव, अवध बिहारी चौधरी और रणविजय सिंह ने मुलाकात की। मुलाकात के बाद नेताओं और वकील ने कहा कि लालू जी ठीक हैं और उन्होंने संदेश दिया है कि लोग शांति और सौहार्द बनाएं रखें, मैं ठीक हूं।

चारा घोटाला मामले में लालू पाए गए दोषी, भेजे गए जेल

चारा घोटाला मामले में फैसला आने के बाद राजद सुप्रीमो लालू यादव दोषी ठहराए गए और उन्हें होटवार के बिरसा मुंडा केंद्रीय कारागार भेज दिया गया है और तीन जनवरी को उनकी सजा का एलान होगा।

आज सुबह से ही जेल के बाहर राजद समर्थक हैं मौजूद

आज सुबह से ही राजद के नेता और समर्थक लालू से मिलने के लिए बिरसा मुंडा केंद्रीय कारागार के बाहर सुबह से डटे हैं, लेकिन जेल प्रशासन ने नियम के अनुसार चार नेताओं को लालू से मिलने की अनुमति दी और तीन नेता लालू से मिलने अंदर गए। विशेष आग्रह पर फिर दो लोगों को मिलने की अनुमति दी गई। लालू से मिलने के लिए आज सुबह से ही राजद समर्थक जेल के बाहर मौजूद हैं, इसे लेकर जेल की सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है।

नहा धोकर पूजा-पाठ करने के बाद अपने नेताओं से मिले लालू

लालू यादव बिरसा मुंडा जेल के मुलाकाती कमरे में अपने नेताओं से मिलने पहुंचे। मुलाकात के बाद जेल से बाहर निकलीं राजद नेता अन्नपूर्णा देवी ने बताया कि लालू यादव नहा-धोकर पूजा पाठ कर हमसे मिलने पहुंचे थे। उन्होंने बताया कि उनका स्वास्थ्य ठीक है और उन्होंने अभी नाश्ता नहीं किया था केवल चाय पी थी। मुलाकात के बाद वो खाना खाएंगे। उन्होंने कहा कि जेल में डॉक्टर आए थे और चेकअप किया था। दवाएं मिलीं हैं खा रहे हैं।

अन्नपूर्णा देवी ने की मांग-लालू से प्रतिदिन परिजनों को मिलने की मिले इजाजत

लालू से मिलकर जेल के बाहर निकलीं राजद नेता अन्नपूर्णा देवी ने मांग की है कि लालू के परिजनों को प्रतिदिन उनसे मिलने की इजाजत मिलनी चाहिए। उन्होंने कहा कि लालू जननेता हैं कोई उग्रवादी या आतंकवादी नहीं कि उनसे मिलने की इजाजत में इतनी परेशानी होनी चाहिए। उनका स्वास्थ्य खराब रहता है तो इस आधार पर प्रतिदिन एक परिजन को उनसे मिलने की इजाजत मिलनी चाहिए।

जेल प्रशासन ने लालू से मिलने आने वाले नेताओं को मिलने के लिए आज सुबह आठ बजे से दोपहर बारह बजे तक का समय निर्धारित किया है। खबर यह भी मिल रही है कि तेजस्वी भी लालू से आज मुलाकात करने जा सकते हैं।

जेल अधीक्षक ने कहा-तीन लोग एक सप्ताह में मिल सकेंगे

बिरसा मुंडा केंद्रीय कारागार के जेल अधीक्षक एके चौधरी ने बताया कि यहां सबके लिए नियम कानून बराबर है। सप्ताह में तीन लोग ही किसी भी कैदी से मिल सकते हैं और मिलने की अवधि पंद्रह मिनट की हो सकती है। उन्होंने कहा कि नियम के अनुसार सभी कैदी जेल प्रशासन के लिए समान हैं। सबको एक जैसी सुविधा दी जाती है और जो भी नियम के अनुकूल होगा जेल प्रशासन उसके अनुसार ही काम करेगा।

लालू की तबियत को ले राबड़ी चिंतित

जेल जाने के बाद राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की तबीयत को लेकर उनकी पत्नी और बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी बेहद चिंतित हैं। पटना में दस सर्कुलर रोड स्थित राबड़ी आवास के माहौल में उदासी दिखी और बताया कि लालू प्रसाद की तबीयत लगातार खराब रहती है।

लालू ने कहा कि उनकी उम्र काफी हो गई है। साथ ही राबड़ी देवी ने यह भी कहा कि लालू प्रसाद के दिल का ऑपरेशन हो चुका है और उन्हें दवाईयों की जरूरत होती है। वो खुद से दवाइयां नहीं ले सकते हैं। उन्हें दवाई देनी पड़ती है।

राबड़ी देवी ने कहा कि बिहार की जनता लालू प्रसाद के साथ है। उन्होंने लालू के समर्थकों से शांति बनाए रखने की अपील की। साथ ही तीन जनवरी को फैसले के दिन को लेकर राबड़ी देवी ने कहा कि उन्हें न्याय जरूर मिलेगा।

सीबीआइ की विशेष अदालत ने चारा घोटाला में लालू को दोषी पाया

सीबीआई की रांची स्थित विशेष अदालत ने चारा घोटाले मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव को दोषी करार दिया है। स्पेशल सीबीआई जज शिवपाल सिंह ने लालू को दोषी ठहराते हुए यह फैसला सुनाया। फैसला सुनाने के बाद लालू यादव को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है वह 3 जनवरी तक रांची की बिरसा मुंडा सेंट्रल जेल में रहेंगे।

तेजस्वी ने कहा-इस फैसले को हाइकोर्ट में चुनौती देंगे

लालू के दोषी करार दिए जाने के बाद एक ओर जहां लालू के समर्थकों में गुस्सा और हताशा साफ-साफ देखा जा रहा है तो वहीं बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और लालू के उत्तराधिकारी तेजस्वी यादव ने कहा कि हम इस जजमेंट को हाई कोर्ट में चुनौती देंगे।

तेजस्वी ने कहा कि हमने पहले ही चाइबासा मामले में हाईकोर्ट में अपील की है। जमानत की प्रक्रिया तभी शुरू होगी जब हाईकोर्ट खुलेगा। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार और बीजेपी शुरू से ही लालू जी को बदनाम करने में और उनकी इमेज को खराब करने में जुटी हुई है।

बता दें कि 950 करोड़ के इस घोटाले में कई लोग दोषी पाए गए थे और उनमें से कुछ को बरी कर दिया गया तो कुछ को दोषी करार दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here