पीएम मोदी बोले, 50 शहरों में जल्द दौड़गी मेट्रो, पेट्रोलियम के साथ बचेगा पर्यावरण

0
242

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोएडा के बॉटेनिकल गार्डेन से दिल्ली के कालका तक मजेंटा लाइन मेट्रो का सोमवार को उद्घाटन किया।

नोएडा, जेएनएन। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) का बहुत बड़ा हिस्सा पेट्रोलियम पदार्थ के आयात में खर्च होता है। हमारा लक्ष्य है 2022 तक पेट्रोलियम पदार्थ की मांग को कम किया जाए। इसमें मेट्रो बहुत उपयोगी है। इससे पेट्रोलियम के साथ पर्यावरण भी बचेगा। जल्द ही देश के 50 शहरों में मेट्रो का संचालन होगा।

दिल्ली में अब 100 किलोमीटर तक मेट्रो का जाल फैल गया है। हमें दुनिया के पांच सबसे बड़े मेट्रो नेटवर्क वाले देश में शामिल होना है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कानपुर व आगरा में इसी वित्तीय वर्ष में मेट्रो दौड़ाने का लक्ष्य है। पूर्वाचल व बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे के निर्माण के साथ उपेक्षित क्षेत्रों तक विकास को तेजी से पहुंचाया जाएगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोएडा के बॉटेनिकल गार्डेन से दिल्ली के कालका तक मजेंटा लाइन मेट्रो का सोमवार को उद्घाटन किया। इसके बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व अन्य लोगों के साथ बॉटेनिकल गार्डन मेट्रो स्टेशन से मेट्रो की सवारी कर ओखला बर्ड सेंचुरी मेट्रो स्टेशन पहुंचे। जहां से सड़क मार्ग से सेक्टर 125 स्थित एमिटी यूनिवर्सिटी में स्थित जनसभा पहुंचे। जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि भविष्य में मास, रैपिड और मल्टी मॉडल ट्रांसपोर्टेशन को बढ़ावा देना होगा।

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को जन्मदिन पर याद करते हुए प्रधानमंत्री ने उन्हें ‘भारत मार्ग विधाता’ की उपाधि दी। कहा कि प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना का सपना अटल जी का था। इसे आगे बढ़ाते हुए वर्ष 2019 तक देश के सभी गांव को पक्की सड़क से जोड़ा जाएगा। उन्होंने कहा कि अटल जी के जन्मदिन को सुशासन दिवस के तौर पर मनाया जाता है। सुशासन का असर है कि हमारी सरकार बनने के बाद प्रतिदिन बनने वाली सड़क और बिछाए जाने वाली रेल लाइन का काम दोगुना हो रहा है। बगैर कोई नई इंडस्ट्री लगे 20 लाख टन यूरिया का उत्पादन बढ़ गया। प्रधानमंत्री ने कहा कि ज्यादा कानून सुशासन की राह में बाधक है। इसी कारण हमारी सरकार बनने के बाद करीब 12 सौ कानून खत्म किए गए। हमारा लक्ष्य विकासोन्मुखसुशासन देना है।

सारे अंधविश्वासों को तोड़कर दो दिनों के भीतर दूसरी बार नोएडा पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश में अब जातिवाद, संप्रदायवाद व वंशवाद की राजनीति कतई नहीं चलेगी। नई सरकार में अब सिर्फ और सिर्फ विकास की राजनीति होगी। पिछले नौ माह में हमने बगैर किसी भेदभाव के समस्त सरकारी योजनाओं का लाभ सभी वर्ग के लोगों तक पहुंचा कर इसे कर भी दिखाया है।

योगी ने कहा कि पिछले 15 साल में नोएडा व ग्रेटर नोएडा को पूर्ववर्ती सरकारों ने अपराध का गढ़ व चरागाह बना रखा था। उन्होंने नोएडा को मजेंटा लाइन मेट्रो से जोड़ने के लिए प्रधानमंत्री का आभार जताते कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी व मदनमोहन मालवीय के जन्मदिन के साथ क्रिसमस पर मिला यह तोहफा खास है। योगी ने कहा कि इस सरकार को किसानों की फिक्र सबसे ज्यादा है उनका कर्ज माफ करने के साथ पहली बार गन्ना किसानों को 14 दिन में बकाया भुगतान कराया गया। अब सभी जिलों में बगैर भेदभाव के बिजली दी जा रही है। इससे किसान के खेत को पानी भी समय से मिलना शुरू हो गया है।

उन्होंने कहा कि ‘रियल एस्टेट रेगुलेटरी एजेंसी’ (रेरा) से 80 हजार बायर्स को लाभ मिलेगा। समारोह में राज्यपाल राम नाईक, केंद्रीय मंत्री डा. महेश शर्मा, केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडेय, उत्तर प्रदेश के मंत्री सतीश महाना व सुरेश खन्ना और विधायक पंकज सिंह भी मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here