इन डॉक्टरों ने बेवजह मरीजों के निकाले थे गर्भाशय, अब रजिस्ट्रेशन होंगे रद

0
238

बिहार के समस्‍तीपुर के एक दर्जन अस्‍पतालों में डॉक्टरों ने बेवजह मरीजों के गर्भाशय निकाल दिए थे। अब इन डॉक्‍टरों पर कार्रवाई हुई है। उनके रजिस्ट्रेशन रद किए जा रहे हैं।

समस्तीपुर । गर्भाशय की अनावश्यक सर्जरी के मामले में 12 अस्पतालों के चिकित्सकों के रजिस्ट्रेशन रद कर दिए जाएंगे। इस आशय का पत्र भारतीय चिकित्सा परिषद, नई दिल्ली के अध्यक्ष को लिखा गया था। इस आलोक में भारतीय आयुॢवज्ञान परिषद, नई दिल्ली ने बिहार काउंसिल ऑफ मेडिकल रजिस्ट्रेशन के रजिस्ट्रार को पत्र भेजा था। इसमें जिला सामाजिक सुरक्षा कोषांग के तत्कालीन सहायक निदेशक सह डीकेएम प्रदीप कुमार ने प्राथमिक दर्ज कराई थी। कांड के अनुसंधान में लापरवाही बरतने के लिए 11 पुलिस पदाधिकारी के विरुद्ध विभागीय कार्रवाई की गई है।
समस्तीपुर के जिला पदाधिकारी प्रणव कुमार ने स्वास्थ्य विभाग के कार्यपालक निदेशक सह विशेष सचिव को पत्र लिखकर मामले से अवगत कराया है। इसमें समस्तीपुर शहर के कृष्णा हॉस्पीटल, माला नसिंग होम, मिश्रा नर्सिंग होम, लाइफ लाइन हॉस्पीटल, मां तारा सेवा संस्थान, भवानी नर्सिंग होम, राम ज्योति हॉस्पीटल, पटोरी स्थित प्रज्ञा सेवा सदन, कृष्णा हॉस्पीटल, दलङ्क्षसहसराय स्थित मां दमयंती हॉस्पीटल, एलबी मेमोरियल अस्पताल और मुक्तापुर स्थित महामुनी सेवा संस्थान को काली सूची में डालते हुए डी-पैनल किया गया था।

जिला सामाजिक सुरक्षा कोषांग द्वारा सभी 12 अस्पतालों के चिकित्सकों का रजिस्ट्रेशन रद करने हेतु भारतीय चिकित्सा परिषद नई दिल्ली के अध्यक्ष से अनुरोध किया गया था। वहीं राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना अंतर्गत जिले में कुल 316 मरीजों की अनावश्यक सर्जरी की गई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here