तीन साल पहले अपहरण कर 16 हजार में बेचा, भागकर घर पहुंची किशोरी

0
102

तीन साल पहले अगवा की गई किशोरी चंगुलों से भागकर घर पहुंच गई है।

ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि । फूलबाग से अपहृत किशोरी तीन साल बाद खरीदारों के चंगुल से भागकर शिवपुरी घर पहुंच गई। किशोरी के मां के पास पहुंचने के बाद पुलिस हरकत में आई। नाबालिग को 16 हजार रपए में खरीदकर पत्नी की हैसियत से रखने वाले युवक, उसकी मां व बहनोई को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

इस दौरान अपहृत किशोरी ने एक बच्ची को भी जन्म दिया, जो छह माह की है। किशोरी ने पुलिस को बताया कि फूलबाग से अपहरण करने के बाद रामकली आदिवासी व उसके पति कृपाल आदिवासी ने उसे 16 हजार में ऊदलनाथ सपेरा मुरैना को बेच दिया। ऊदलनाथ ने किशोरी को खरीदने के बाद उसे अपने साले भुटीनानाथ के यहां उसकी पत्नी की हैसियत से रखवा दिया। भुटीना की मां रामकली किशोरी पर 24 घंटे नजर रखती थी।

किशोरी ने बताया कि भुटीना तीन साल बाद उस पर भरोसा कर उसे 21 दिसंबर गुरवार को मजदूरी कराने के लिए अपने साथ विक्की फैक्ट्री लेकर आया। जहां से मौका मिलते ही किशोरी भागकर शिवपुरी अपनी मां के पास पहुंच गई। किशोरी के बयान दर्ज करने के बाद पुलिस ने ऊदलनाथ, भुटीना व उसकी मां रामकली सपेरा को गिरफ्तार कर लिया है। अपहरण कर बेचने वाले दंपति कृपाल व रामकली आदिवासी की पुलिस तलाश कर रही है। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ मानव तस्करी व दुष्कर्म का मामला दर्ज किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here