PM नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में हुई बड़ी चूक, यूपी पुलिस से खफा योगी

0
134

प्रधानमंत्री के काफिले के रूट भटकने और जाम में फंसने और मुख्यमंत्री के नाराज होने से लखनऊ तक पुलिस अधिकारियों में खलबली बच गई।

नोएडा । नोएडा में मेट्रो की मजेंटा लाइन का उद्घाटन करने 25 दिसंबर (सोमवार) को नोएडा आए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में गंभीर चूक हुई थी। इसका खुलासा अब जाकर हुआ है। दरअसल, एमिटी यूनिवर्सिटी स्थित जनसभा स्थल से निकलकर बोटेनिकल गार्डन स्थित हैलीपैड तक पहुंचने के दौरान प्रधानमंत्री का काफिला भटक गया था।

जानकारी के मुताबिक, पीएम मोदी का काफिला पूर्व से निर्धारित रूट की बजाए अन्य रूट पर चला गया, जिससे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत अन्य सभी वीवीआइपी महामाया फ्लाईओवर पर जाम में फंस गए।

यह भी पढ़ेंः जानें- क्यों योगी की PM मोदी ने की तारीफ, माया-मुलायम से भी जुड़ा है मामला

उनके काफिला के आगे एक बस व कुछ मोटरसाइकिल आ गए, जिससे प्रधानमंत्री के काफिले को रोकना पड़ा। इससे पीएम के साथ चल रहे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी खफा हो गए। उन्होंने तत्काल अधिकारियों को फटकार भी लगाई।

सीएम की फटकार के बाद वाहनों को हटाकर प्रधानमंत्री के काफिले को निकाला गया। अब इस गंभीर चूक की जांच प्रारंभ कर दी गई है। जल्द ही लापरवाही बरतने वाले पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की संभावना है।

दिल्ली में चली चालक रहित मेट्रो, चीन-US जैसे गिने-चुने देशों की फेहरिस्त में भारत

एचसीएम कट पर भटका था काफिला

जानकारी के मुताबिक, सोमवार दोपहर 2:33 बजे एमिटी यूनिवर्सिटी से निकले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के काफिले को एचसीएल कट से एक्सप्रेस वे पर जाना था। एमिटी से निकल कर एचसीएल के पास दो कट है। पहले कट के दो सौ मीटर बाद दूसरा कट आता है।

प्रधानमंत्री के काफिले को दूसरे कट से जाना था लेकिन, उनका काफिला पहले कट से ही निकलकर गलत रूट पर चला गया। उस रूट पर प्रधानमंत्री की सुरक्षा के हिसाब से फोर्स की तैनाती नहीं थी।

आइपीएस नितिन तिवारी थे काफिला प्रभारी

प्रधानमंत्री काफिले के प्रभारी आइपीएस नितिन तिवारी थे। उनके साथ अन्य अधिकारियों को भी लगाया गया था। प्रधानमंत्री काफिले का आने के मद्देनजर रविवार को रिहर्सल भी की गई थी।

जिलाधिकारी को पीएम सुरक्षा चूक की जानकारी नहीं दी गई

प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक, रूट भटकने और जाम में फंसने की जानकारी जिलाधिकारी बीएन सिंह को नहीं दी गई। मंगलवार दोपहर जिलाधिकारी बीएन सिंह ने कहा कि उन्हें इस संबंध में कोई जानकारी नहीं है। किसी ने उन्हें जानकारी भी नहीं दी।

लखनऊ तक मची खलबली

प्रधानमंत्री के काफिले के रूट भटकने और जाम में फंसने और मुख्यमंत्री के नाराज होने से लखनऊ तक पुलिस अधिकारियों में खलबली बच गई। मंगलवार को पूरे दिन अधिकारी इस बात पर मंथन करने में जुटे रहे कि यह गंभीर चूक कैसे और किस स्तर से हुई?

सूत्रों का कहना है कि इस मामले में लखनऊ से भी उच्च स्तरीय जांच हो रही है। हालांकि, आइजी राजकुमार का कहना है कि लखनऊ से जांच हो रही है या नहीं? इस संबंध में उन्हें कोई जानकारी नहीं है।

वहीं, एसएसपी लव कुमार का कहना है कि प्रधानमंत्री जी मात्र दो मिनट के लिए जाम में फंसे थे। इससे मुख्यमंत्री जी का नाराज होना स्वभाविक है। पूरे मामले में हुई चूक के लिए एसपी सिटी का जांच अधिकारी बनाया गया है। जांच रिपोर्ट आने के बाद पीएम सुरक्षा में हुई चूक के दोषी अधिकारियों और कर्मचारियों पर कार्रवाई होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here