तानाशाह की मेज पर लगा है दुनिया की तबाही की बटन

0
220

पूरी दुनिया नए साल का जश्न मना रही है. मगर उत्तर कोरिया के तानाशाह मार्शल किम जोंग उन ने नए साल के पहले ही दिन पूरी दुनिया को तीसरे विश्वयुद्ध की आग में झोंकने की धमकी दे दी है. नए साल के मौके पर राष्ट्र के नाम अपने संदेश में किम जोंग उन ने कहा कि न्यूकलियर बम का बटन हर वक्त उसके टेबल पर होता है. जिस दिन उसे लगा उसी दिन वो बटन दबा देगा.

नए साल पर किम की धमकी

ये पहली बार है जब किम जोंग उन ने बाकायदा टीवी पर आकर खुलेआम परमाणु हमले की धमकी दी है. हालांकि ये धमकी सीधे अमेरिका के लिए है मगर ज़ाहिर है जब परमाणु युद्ध होगा तो उसकी ज़द में पूरी दुनिया आएगी. पूरी दुनिया भले ही नए साल का जश्न मना रही थी. साल 2017 को अलविदा कह कर नए साल 2018 का स्वागत कर रही थी. लेकिन नार्थ कोरिया का तानाशाह दुनिया को धमका रहा था.

ट्रंप को किम जोंग उन का हैप्पी न्यू ईयर

जश्न उसने भी मनाया. जश्न उसके देश में भी मना. मगर नए साल के इसी जश्न के साथ उसने एक ऐसा ऐलान कर दिय़ा कि दुनिया सकते में आ गई. लोग एक-दूसरे को नए साल की बधाई दे रहे थे और वो नए साल में विश्व युद्ध की धमकी दे रहा था. बाकायदा ये कहते हुए धमका रहा था कि न्यूक्लियर बटन मेरी डेस्क पर रहता है. जब चाहे दबा दूं. जी हां, उत्तर कोरिया का तनाशाह किम जोंग उन अमूमन खुद टीवी पर आकर कभी धमकी नहीं देता. मगर नए साल के मौके पर राष्ट्र के नाम संदेश देने वो खुद टीवी पर आया और आते ही दुनिया को धमकी दे डाली. खास कर अमेरिका को. उसकी यही धमकी तीसरे विश्व युद्ध की वजह बन सकती है.

किम की मिसाइलों के निशाने पर अमेरिका

नए साल के मौके पर नॉर्थ कोरिया के नेशनल टेलीवीज़न पर आकर अपने भाषण में किम जोंग-उन ने बाकायदा एलान किया कि पूरा अमरीका उत्तर कोरिया के परमाणु हथियारों की ज़द में है. वो इसे धमकी न समझे ये हकीकत है. पूरा अमेरिका हमारे परमाणु हथियारों के दायरे में हैं और उनका न्यूक्लियर बटन हमेशा मेरे डेस्क पर होता है. यह धमकी नहीं, सच्चाई है. हमने अमेरिका के सभी हिस्सों पर परमाणु बम से हमले की क्षमता विकसित कर ली है. अगर धमकाने की कोशिश जारी रही तो उत्तर कोरिया परमाणु हमला करने से नहीं चूकेगा. ये बात सभी को ध्यान में रखनी चाहिए कि परमाणु हथियारों के साथ मिसाइलें हमले के लिए तैनात हैं.

मेज पर तबाही का बटन

नए साल पर अपने इस भाषण में तानाशाह किम जोंग उन ने अमेरिका को ये बताने की कोशिश की है कि कोरियाई पेनिनसुला में उसकी मौजूदगी उसी पर भारी पर सकती है. क्योंकि उसके परमाणु हथियार किसी भी अमेरिकी शहर को एक बटन दबाते ही तबाह और बर्बाद कर सकता है. किम जोंग उन ने इशारों इशारों में ये भी बता दिया कि तबाही का ये बटन उसकी टेबल पर रहता है. जिसे दबाने में उसे देर नहीं लगेगी.

नॉर्थ कोरिया की ताकत को देखते हुए अमेरिका कभी हमले की हिमाकत नहीं कर सकता. हालांकि उत्तर कोरिया एक ज़िम्मेदार परमाणु राष्ट्र है जो शांति चाहता है. हमारे परमाणु परीक्षण जारी रहेंगे. मगर इसका मक़सद उत्तर कोरिया को परमाणु हथियारों के मामले में दुनिया का सबसे ताकतवर राष्ट्र बनाना है. हम अमेरिका को ब्लैकमेल नहीं कर रहे हैं.

परमाणु परिक्षण से चितिंत हैं कई देश

किम जोंग उन के लगातार परमाणु परिक्षण को लेकर दुनिया भर के देश चिंता जता चुके हैं.. मगर उन तमाम देशों को किम ने ये भरोसा दिलाने की कोशिश की कि अगर उनके मुल्क पर आंच नहीं आई तो वो कोरियाई प्रायद्वीप में सैन्य तनाव कम करने के लिए तैयार हैं. इस दौरान तानाशाह ने साउथ कोरिया को भी ये संदेश दिया कि बातचीत के रास्ते खुले हुए हैं. आपको बता दें कि साउथ कोरिया मे इसी साल फरवरी में विंटर ओलिंपिक्स होने हैं, जिसमें नॉर्थ कोरियाई खिलाड़ियों के हिस्से लेने की उम्मीद भी किम जोंग उन ने जताई है.

नए साल पर अपने 28 मिनट के भाषण में किम जोंग उन ने दक्षिण कोरिया के साथ तो बातचीत की इच्छा ज़ाहिर की है. मगर अमेरिका को धमकी भरे लहजे में दो टूक कह दिया कि वो कोई भी ऐसी गलती न करे कि उसे लेने के देने पड़ जाएं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here