सीबीआइ कोर्ट से वापस जेल चले लालू, अब कल होगा सजा का एलान

0
190

चारा घोटाला मामले में राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव की सजा का एलान अब कल होगा। लालू सुबह दस बजे के बाद होटवार के जेल से सीबीआइ की विशेष अदालत पहुंचे लेकिन सजा आज टल गई ।
पटना । चारा घोटाले में दोषी पाए गए राजद प्रमुख तथा बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव को आज सजा सुनाई जानी थी, लेकिन न्यायालय के एक वकील बिंदेश्वरी प्रसाद के आकस्मिक निधन की वजह से आज सजा का एलान नहीं हो सका और अब लालू सहित 16 दोषियों को कल सजा सुनाई जाएगी।
लालू यादव सुबह दस बजकर पंद्रह मिनट पर होटवार के बिरसा मुंडा केंद्रीय कारागार से रांची की सीबीआइ की विशेष अदालत में पहुंचे और सजा टल जाने के बाद वे फिर से कोर्ट से जेल के लिए निकल गए हैं। कोर्ट के भीतर कंडोलेन्स और जज के बीच मामला के फंस जाने की वजह से फैसला आज टल गया ।
न्यूज एजेंसी एएनआइ से मिली जानकारी के मुताबिक चारा घोटाला मामले में आरोपित राजद सुप्रीमो लालू यादव सहित सोलह लोगों के खिलाफ सजा का एलान आज नहीं हो सका क्योंकि कोर्ट के वकील बिंदेश्वरी प्रसाद के आकस्मिक निधन की वजह से फैसला आज नहीं किया जा सका।
सीबीआइ कोर्ट के वकीलों ने बताया कि वकील के आकस्मिक निधन की वजह से हम सब शोकाकुल हैं जिसकी वजह से कंडोलेंस में वकीलों ने हिस्सा नहीं लिया और जिसकी वजह से कोर्ट ने सजा आज टाल दी है, कल एक-एक कर सभी आरोपितों को सजा सुनाई जाएगी, अब लालू यादव का नंबर कब आता है वो अल्फाबेटिकली निर्भर करता है।
लालू यादव के साथ राजद के नेता रघुवंश प्रसाद सिंह और भाजपा प्रवक्ता प्रतुल नाथ देव भी कोर्ट में मौजूद रहे।जेल से निकलते ही लालू की गाड़ी के पीछे-पीछे राजद कार्यकर्ता और समर्थक भी अपनी-अपनी गाड़ियों से कोर्ट तक पहुंचे । लालू के साथ ही इस मामले के आरोपी जगदीश शर्मा और डॉक्टर आरके राणा भी सीबीआइ की विशेष अदालत पहुंचे थे।
लालू की सजा के एलान को लेकर आज सुबह से ही पटना में राबड़ी आवास में गहमागहमी रही तो वहीं बिहार की राजनीति भी चरम पर रही। चारा घोटाले के सभी दोषी सुबह करीब 11 बजे अदालत में सशरीर पेश हुए।
सीबीआइ कोर्ट के बाहर कड़ी की गई सुरक्षा, न्यायाधीश भी पहुंचे
सीबीआइ के विशेष कोर्ट में लालू को लाने को लेकर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई है कोतवाली पुलिस के अलावा अन्य जवानों को लगाया गया है पुलिस बल पूरी मुस्तैदी के साथ कार्य कर रही है। आने-जाने वालों की जांच हो रही है और उनसे पूछा जा रहा है कि कोर्ट में उनका क्या काम है?
यहां तक कि सिविल कोर्ट के मुख्य परिसर में आने के लिए बने मुख्य गेट पर भी चौकसी बढ़ा दी गई है जवान लोगों को आने से रोक रहे हैं। तमाम जांच और सुरक्षा व्यवस्था के बीच भी कोर्ट परिसर में लोगों की भीड़ लगी है सीबीआई के जिस अदालत में लालू को सजा सुनाए जाने के बिंदु पर सुनवाई होनी है। सीबीआई के विशेष न्यायाधीश शिवपाल सिंह भी अदालत पहुंच गए हैं।
लालू के परिवार का कोई सदस्य नहीं पहुंचा रांची
लालू की सजा के दिन आज हालांकि उनके परिवार का कोई भी सदस्य रांची नहीं पहुंचा है लेकिन पार्टी के नेता और कार्यकर्ता कोर्ट के बाहर और होटवार जेल के बाहर पहुंच गए हैं। नेताओं ने कहा कि लालू यादव का पूरा परिवार रांची में है, हम सब एक परिवार हैं और आज लालू जी को बेल मिलने के बाद उन्हें लेकर पटना जाएंगे।
मिली जानकारी के मुताबिक अगर लालू को सात साल की सजा होती है तो उनके लिए मुश्किलें बढ़ जाएंगी लेकिन अगर सजा तीन साल की होती है तो उनके लिए बेल मिलना आसान हो जाएगा।
तेजप्रताप ने की हनुमान जी की पूजा, पिता के लिए मांगी दुआ
लालू के बड़े पुत्र तेजप्रताप यादव आज सुबह-सुबह पटना के हनुमान मंदिर पहुंचे और पूजा अर्चना की और कहा है कि मैं कोर्ट के फैसले का सम्मान करता हूं जो होगा देखा जाएगा। भगवान पर भरोसा है वो मेरे पिता के हक में ही फैसला देंगे। अब जो फैसला होगा अच्छा ही होगा, ईश्वर से यही कामना है।
रघुवंश ने कहा-फंसाया गया है लालू को
वहीं, राजद नेता रघुवंश प्रसाद सिंह ने कहा कि इस मामले को लेकर हाइकोर्ट जाएंगे, सुप्रीम कोर्ट जाएंगे। ये सब षड्यंत्र करके लालू यादव को फंसाया गया है। ये सब लालू को कमजोर करने के लिए किया जा रहा है।
लालू समेत 16 लोगों को दोषी ठहराया गया है
लालू समेत 16 लोगों को 23 दिसंबर को रांची की सीबीआई की विशेष अदालत ने चारा घोटाले से जुड़े देवघर कोषागार से 89 लाख़, 27 हजार रुपये की अवैध निकासी के मामले में दोषी ठहराया था।
पुलिस ने उसी दिन सभी को हिरासत में लेकर रांची के होटवार स्थित बिरसा मुंडा सेंट्रल जेल भेज दिया था। इस मामले में आज सजा सुनाई जाएगी। बता दें कि सीबीआई ने इस मामले में देवघर कोषागार से फर्जी बिल बना कर राशि की निकासी करने का आरोप सभी पर लगाया था।
आपूर्तिकर्ताओं पर सामान की बिना आपूर्ति किए बिल देने और विभाग के अधिकारियों पर बिना जांच किए उसे पास करने का आरोप है। लालू प्रसाद पर गड़बड़ी की जानकारी होने के बाद भी इस पर रोक नहीं लगाने का आरोप है।
फैसले के दिन हैरान लालू ने कहा-गजबे किया…
23 दिसंबर को रांची की विशेष सीबीआई अदालत में पेशी पर पहुंचे लालू यादव का नाम जब पुकारा गया तो उन्होंने कटघरे में खड़े होकर हाथ ऊपर कर अपनी हाजरी दी।
उसके बाद जब अदालत ने जगन्नाथ मिश्रा को बरी किया गया तो लालू के चेहरे पर मुस्कान दिखी लेकिन जब चारा घोटाले में लालू यादव को दोषी करार दिया तो वे सन्न रह गए। लालू यादव के मुंह से निकल गया देखो न डॉक्टर साहेब को तो छोड़ दिया हमको सजा दे दिया… गजबे किया…
शिवानंद तिवारी ने कहा-हम हर मुसीबत से लड़ने के लिए तैयार हैं
राजद नेता शिवानंद तिवारी ने लालू यादव के चारा घोटाले में सजा के एलान होने से ठीक एक दिन पहले कहा कि हम लोग हर चीज के लिए तैयार हैं और यह बात जानिए जेल भी संघर्ष का हिस्सा है। उन्होंने कहा कि लालू यादव जेल में हैं उससे पार्टी कमजोर नहीं होने वाली है, हम इसको चुनौती की तरह लेंगे।
शिवानंद तिवारी ने कहा कि छह जनवरी को पार्टी की बड़ी मीटिंग होने वाली है और इस मीटिंग में हम लोग कार्यक्रम तय करेंगे और लोगों के बीच जाएंगे। जो लालू यादव के बेटे तेजप्रताप ने पूछा था वही बात लोग महसूस कर रहे हैं और वही सवाल पूछ रहे हैं कि अगर लालू यादव की जगह मिश्रा होते तो क्या होता?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here