CBI कोर्ट ने भेजा नोटिस-तेजस्वी, रघुवंश और मनोज झा 23 जनवरी को हाजिर हों

0
212

चारा घोटाला मामले में आज लालू यादव की सजा टल गई है, अब सजा का एलान कल होगा। सीबीआइ कोर्ट ने तेजस्वी, रघुवंश और मनोज झा को अवमानना का नोटिस भेज कोर्ट में हाजिर होने का आदेश दिया है।
पटना । एक ओर चारा घोटाला मामले में फंसे लालू यादव की सजा का एलान आज टल गया है लेकिन कल उनकी सजा का एलान होगा। वहीं सीबीआई की विशेष अदालत ने इस फैसले के खिलाफ बयान देने पर लालू यादव के छोटे पुत्र तेजस्‍वी यादव, राजद नेता रघुवंश प्रसाद सिंह और मनोज झा को अवमानना का नोटिस जारी किया है।
कोर्ट ने तेजस्वी यादव, मनोज झा और रघुवंश प्रसाद को 23 जनवरी को कोर्ट में हाजिर होने का आदेश दिया गया है। कोर्ट ने कहा है कि अदालत के फैसले पर आपत्ति करना कोर्ट की अवमानना है और उसके लिए इन लोगों को कोर्ट आकर जवाब देना होगा।
बता दें कि राजद सुप्रीमो लालू यादव को दोषी ठहराते हुए कोर्ट ने लालू को जेल भेज दिया था। इस फैसले के बाद आरजेडी के प्रवक्ता मनोज झा ने कहा था कि अवैध निकासी पर जिसने एफआईआर किया है उसी को जेल भेज दिया गया। इसके पीछे पूरी तरह से बीजेपी की साजिश है। उन्होंने कहा था कि हमें पूरी न्यायपालिका पर भरोसा है। इस देश को सिर्फ दो लोग चला रहे हैं।
एेसी ही बातें रघुवंश प्रसाद सिंह और तेजस्वी यादव ने भी कहीं थीं और अदालत के फैसले पर अंगुली उठाई थी, जिसके बाद कोर्ट ने नोटिस जारी किया है।
तेजप्रताप यादव को सुप्रीम कोर्ट ने भेजा नोटिस
राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद के बड़े बेटे व पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप से सुप्रीम कोर्ट ने अवमानना का नोटिस भेज कर 10 दिनों के भीतर जवाब मांगा है।
सुप्रीम कोर्ट के वकील वैभव मिश्रा ने चारा घोटाला मामले में फैसला आने के बाद राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद को जेल व पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्रा को बेल मिलने के बाद तेजप्रताप के उस बयान पर आपत्ति जतायी है, जिसमें उन्होंने जाति सूचक शब्दों का प्रयोग करने के बाद कहा था कि लालू प्रसाद भी यदि ‘मिश्रा’ होते, तो उन्हें भी बेल मिल जाता।
सुप्रीम कोर्ट की नोटिस पर राजद नेता शिवानंद तिवारी ने कहा है कि तेज प्रताप यादव ने ठीक ही कहा है। हम किसी नोटिस की परवाह नहीं करते हैं और हम डरते नहीं है। सच बोलने से अगर जेल भेजा जाता है, तो हम जेल जाने के लिए भी तैयार हैं। उन्होंने कहा कि राजद को कमजोर करने के लिए यह विरोधियों की चाल है और उन्होंने लालू को फंसाया है।
इसपर जदयू के प्रवक्ता नीरज कुमार ने शिवानंद तिवारी के बयान का जवाब देते हुए लालू को सलाह दी है कि लालू जी आप तो रहिएगा जेल में, लेकिन अपने घर में विभीषण को छोड़ दिया है। फ़ैसले के पहले ही उन्होंने कोर्ट पर सवाल खड़ा कर इसकी शुरुआत भी कर दी है, जहां-जहां बाबा का चरण पड़ा है वहां-वहां बर्बादी हुई है’।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here