घने कोहरे के कारण चार वाहनों की टक्कर, पिता-पुत्री समेत तीन की मौत, 10 घायल

0
421

घने कोहरे के कारण जीटी रोड पर चार वाहन आपस में टकरा गए। इस भीषण हादसे में पिता-पुत्री समेत तीन की मौत हो गई। ट्रक चालक समेत टेंपो पर सवार दस यात्री घायल हो गए।

औरंगाबाद । बिहार के औरंगाबाद जिले के मुफस्सिल थाना के जीटी रोड भेडिय़ा गांव के पास शुक्रवार सुबह घना कोहरे के कारण चार वाहनों की टक्कर में पिता-पुत्री समेत तीन की मौत हो गई। ट्रक चालक समेत टेंपो पर सवार दस यात्री घायल हो गए। देव थाना के दधपा गांव निवासी टेंपो चालक आनंद सिंह (45 वर्ष), देव गोदाम पर निवासी मो. शमशेर आलम (35 वर्ष) एवं शमशेर की तीन वर्षीय जैस्विनी की मौत हुई है।

टेंपो पर सवार मृतक शमशेर की पत्नी रूबीना परवीन, देव गोदाम निवासी अजय ङ्क्षसह, अजय के पुत्र गौरव कुमार, नूरजहां खातून, अली हुसैन, ट्रक चालक बोकारो के चंद्रपुरा निवासी राजेश मेहता एवं हजारीबाग के चौपारण थाना के टुईयां निवासी कृष्णा यादव शामिल हैं। घायलों का इलाज सदर अस्पताल में किया गया।

सभी घायलों की स्थिति गंभीर बताई जाती है। चिकित्सकों ने प्राथमिक उपचार के बाद घायलों को बेहतर इलाज हेतु बाहर भेज दिया है।

अस्पताल में घायलों ने बताया कि जामा मस्जिद के पास से टेंपो पर सवार होकर देव जा रहे थे। टेंपो जैसे ही भेडिय़ा गांव के पास पहुंची की जीटी रोड पर घना कोहरा होने के कारण टेंपो से आगे तेज रफ्तार में चल रही दो ट्रक टकरा गया। ट्रकों के बीच टक्कर होने के बाद टेंपो चालक ने संतुलन खो दिया और ट्रक में पीछे से टक्कर मार दी।

टेंपों के पीछे चल रहे ट्रक ने टेंपो में जोरदार टक्कर मारा जिस कारण टेंपो चालक एवं उस पर सवार पिता-पुत्री को मौत हो गई। टेंपो पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया है। दुर्घटना के बाद वाहनों में फंसे घायलों को किसी तरह ग्रामीणों के सहयोग से निकाला गया।

मुफस्सिल थानाध्यक्ष कृष्णनंदन कुमार ने बताया कि टेंपो एवं ट्रक एनएल 01एल-9593 पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया है। एक अन्य ट्रक जेएच02एच-0508 क्षतिग्रस्त हुआ है। एक ट्रक को चालक लेकर भागने में सफल रहा। घटना के बाद जीटी रोड पर वाहनों का परिचालन बंद हो गया। सुबह आठ बजे से एक बजे तक जाम लगा रहा। जब किरान से दोनों ट्रकों को जीटी रोड से हटाया गया तब वाहनों का परिचालन शुरू हुआ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.