अमेरिका में गूंजा ‘चप्‍पल चोर पाकिस्‍तान’ का नारा, जानिए क्‍या है पूरा मामला

0
176

पाकिस्‍तान के खिलाफ लोगों का गुस्‍सा बढ़ता जा रहा है। अमेरिका में भी लोगों ने आवाजें बुलंद कर दी हैं।
वाशिंगटन डीसी, एएनआइ। पाकिस्‍तान में कुलभूषण जाधव की मां और पत्‍नी के साथ हुए दुर्व्‍यवहार को लेकर लोगों का गुस्‍सा शांत नहीं हुआ है। इसको लेकर पाकिस्‍तान दुनियाभर में आलोचनाएं झेल रहा है। आज अमेरिका में पाकिस्‍तान दूतावास के बाहर विरोध-प्रदर्शन किया गया। भारतीय-अमेरिकियों और बलूचिस्‍तानियों के एक समूह ने पाकिस्‍तान के खिलाफ जमकर नारे लगाए और उसे ‘चप्‍पल चोर’ करार दिया।
इस मौके पर एक प्रदर्शनकारी ने तंज कसते हुए कहा, ‘कुलभूषण जाधव की पत्नी की चप्पलें चुरा ली है तो उनका पाकिस्तान इस्तेमाल भी करेगा। मैं ये कहना चाहता हूं कि पाकिस्तान का मतलब क्या है? अमेरिका से डॉलर ला और भारत के जूते खा!’
एक प्रदर्शनकारी ने इसे पाकिस्‍तान की संकीर्ण सोच करार दिया। प्रदर्शनकारी ने कहा कि जिस तरह से पाकिस्‍तान ने कुलभूषण जाधव की मां और पत्‍नी के साथ व्‍यवहार किया, वो उसकी छोटी मानसिकता को दर्शाता है। इसे लोगों को समझने की जरूरत है।
इतना ही नहीं, जाधव परिवार के समर्थन में प्रदर्शनकारियों ने इस्‍तेमाल किए हुए जूते-चप्‍पल पाकिस्‍तान दूतावास को दान भी किए।
हाल ही में पूर्व भारतीय नौसेना अधिकारी जाधव से मिलने उनकी मां और पत्‍नी पाकिस्‍तान गई थीं, मगर वहां उनके साथ अधिकारियों ने दुर्व्‍यवहार किया। मुलाकात से ठीक पहले उनके कपड़े बदलवा दिए। वहीं बिंदी, मंगलसूत्र तक हटवा दिए। यहां तक पत्‍नी के जूते तक वापस नहीं किए। उन्‍हें शक था कि जाधव की पत्‍नी के जूते में कुछ है। इस दुर्व्‍यवहार को लेकर भारत ने कड़ी निंदा जताई। वहीं मुलाकात हुई भी तो उनके बीच में शीशे की एक दीवार खड़ी कर दी गई। एक इंटरकॉम के जरिए बातचीत हुई।
हालांकि पाकिस्‍तान ने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों से इंकार किया है। वहीं हाल ही में अपने बचाव में एक प्रोपगंडा वीडिया भी जारी किया था, जिसमें कुलभूषण जाधव से अपने पक्ष में कई झूठी बातें कहलवाई थीं। जैसे कि जाधव उस वीडियो में यह कहते नजर आए कि पाक अधिकारियों ने उनके साथ कोई दुर्व्‍यवहार नहीं किया है। बल्कि वह मां और पत्‍नी से मिलवाने के लिए पाकिस्‍तान का शुक्रिया अदा करते हैं।
इतना ही नहीं, जाधव वीडियो में उल्‍टे भारत पर आरोप लगाते भी दिखे। उन्‍होंने कहा कि जब उनकी मां और पत्‍नी उनसे मिलने आईं तो उनकी आंखों में भय था। पता नहीं भारतीय अधिकारी उनके साथ कैसे पेश आ रहे हैं। यह भी कहा कि उनकी मां उनसे मिलकर बहुत खुश हुईं। यह बात भी कही कि वह अब भी भारत के एजेंट हैं। पता नहीं क्‍योंकि भारतीय अधिकारी इससे इंकार कर रहे हैं।
आपको बता दें कि जाधव पर पाकिस्‍तान ने जासूसी का आरोप लगाते हुए मौत की सजा सुनाई है। हालांकि अभी यह मामला अंतरराष्‍ट्रीय न्‍यायालय में है और फिलहाल इस सजा पर रोक लगा दी गई है।
आपको यह भी बता दें कि पाकिस्‍तान अपनी करतूतों को लेकर अमेरिका के लगातार निशाने पर है। आतंकवाद के मुद्दे पर राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप द्वारा लताड़ने के बाद अमेरिकी प्रशासन ने एक के बाद एक कार्रवाई करते हुए उसकी सभी सैन्‍य व सुरक्षा सहायता पर रोक लगा दी है। वहीं चेतावनी भी दी है कि अगर उसने तालिबान और हक्‍कानी नेटवर्क के ठिकानों पर कार्रवाई नहीं की तो जल्‍द ही कुछ और कड़े फैसले भी लिए जा सकते हैं।
पाकिस्‍तान के खिलाफ बलूचिस्‍तानियों का भी गुस्‍सा जगजाहिर है। बलूच लोगों पर पाकिस्‍तान के अत्‍याचार के खिलाफ दुनियाभर में प्रदर्शन हो रहे हैं। उनका आरोप है कि पाकिस्‍तानी उनके संसाधनों का अवैध रूप से इस्‍तेमाल कर रहे हैं और बदले में सिर्फ प्रताड़ित कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here