रेलवे स्टेशन पर लावारिस मिली थी दो बच्चियां, अब यूरोप में होगी परवरिश

0
431

कहते हैं ना कि जब किसी का बुरा वक्त आता है तो अच्छा वक्त भी आता है। अगस्त साल 2015 में भोपाल के विदिशा रेलवे स्टेशन पर दो बच्चियां लावारिस मिली थी। जिनकी परवरिश अब यूरोप के माल्टा देश में होगी। दरअसल 5 साल की नंदनी और 6 साल की पूजा को यूरोप के एक कपल ने गोद लिया है।
माल्टा में लाइफ साइंस सेंटर के एचओडी इटिनी विला और फार्मासिस्ट मरियम जैमिन ने इन दोनों बहनों को गोद लिया है। अभी इन दोनों बच्चियों की यहां यशोदा एडॉप्शन सेंटर में परवरिश हो रही थी। यशोदा एडोप्शन सेंटर के डायरेक्टर के मुताबिक देश का यह दूसरा केस है जिसमें एक साथ दोनों बहनों को एक ही कपल ने गोद लिया। सारी लीगल फॉर्मेलिटी पूरी करने के बाद रविवार को यह कपल शहर आए और दोनों बहनों से मिले। पूजा का नाम होगा पिप्पा और नंदनी होगा।
दरअसल इन कपल ने कोर्ट में दोनों बेटियों के नए नाम की मांग की थी। कोर्ट के फैसले के मुताबिक पूजा का नाम पिप्पा होगा और नंदनी का नाम नीना रखा जाएगा। यशोदा एडॉप्शन सेंटर के डायरेक्टर ने बताया कि पिछले 6 महीने से दोनों बच्चियों को अंग्रेजी सिखाई जा रही है। ताकि वहां जाकर उन्हें इंग्लिश बोलने में ज्यादा परेशानी न हो। बच्चियां थोड़ा इंग्लिश समझने लगी हैं।
एक रिपोर्ट्स के मुताबिक इटिनी विला ने बताया कि हम दोनों अच्छी सैलेरी मिलती है। वहीं उनकी पत्नी भी जॉब करती हैं। उनकी शादी के बाद दोनों को कोई बच्चा नहीं हुआ। ऐसे में वे हमेशा से एक इंडियन बच्चे को गोद लेना चाहते थे। इसलिए ऑनलाइन जानकारी मिलने के बाद दोनों बहनों को गोद लेने का निर्णय लिया।
मरियम जिमैन ने कहा कि हम दोनों बेटियों की पढ़ाई के अलावा डांस, म्यूजिक की शिक्षा देंगे। उन्होंने कहा कि दोनों आगे जाकर जैसा चाहेंगी वैसा बनेंगी। हम अपनी इच्छाएं उन पर नहीं थोपेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.