Ind vs SA: विराट कोहली पर यह क्या बोल गए पहले टेस्ट में ‘मैन अॉफ द मैच’ रहे फिलैंडर

0
167

भारत के खिलाफ पहले टेस्ट में मिली जीत के सूत्रधार रहे दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाज वेर्नोन फिलैंडर ने कहा कि भारतीय कप्तान विराट कोहली के बल्ले को खामोश करना उनकी रणनीति थी, जिसमें वे कामयाब रहे। करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए 6 विकेट लेने वाले फिलैंडर ने कहा ,‘‘ विराट बेहतरीन बल्लेबाज है और उनके बल्ले को खामोश रखना जरूरी था। हमने यही किया ।’’ यह पूछने पर कि कोहली के आउट होने के बाद उन्होंने कुछ कहा, फिलैंडर ने कहा ,‘‘ नहीं, मैंने उनसे कुछ नहीं कहा। मैं अपने खिलाड़ियों की हौसलाअफजाई कर रहा था और हम इसी पर फोकस करते हैं ।’’ उन्होंने कहा ,‘‘ मुझे पता था कि विराट बहुत बड़ा विकेट है और उसे आउट करके हम जश्न मना रहे थे ।’’ उन्होंने कहा कि भारत के सामने सिर्फ 208 रन का लक्ष्य था और उन्हें पता था कि तेज आक्रमण की जिम्मेदारी लेकर उन्हें टीम को अच्छी स्थिति में लाना होगा ।
फिलैंडर ने कहा ,‘‘ जब आपने सिर्फ 208 रन का लक्ष्य रखा हो तो किसी एक को जिम्मेदारी लेनी होती है । आप बाद के लिए रुक नहीं सकते क्योंकि हो सकता है कि बाद में मौका नहीं मिले ।’’ उन्होंने आर अश्विन का भी विकेट लिया, जिसने 37 रन बनाकर भारत को मैच में लौटाने की कोशिश की। भारत ने एक समय सात विकेट 82 रन पर गंवा दिए थे, लेकिन अश्विन और भुवनेश्वर कुमार ने आठवें विकेट के लिये 49 रन जोड़े। फिलैंडर ने कहा ,‘‘ आपको ऐसे समय में संयम रखने की जरूरत होती है। हमें पता था कि आखिरी तीन विकेट ले सकते हैं और जो टीम संयम रखेगी, वही जीतेगी । हमने वही किया ।’’
गौरतलब है कि वेर्नोन फिलेंडर के अलावा दो-दो विकेट हासिल करने वाले कगीसो रबादा और मोर्ने मोर्कल की भी मेजबान टीम की जीत में अहम भूमिका रही। चौथे दिन न्यूलैंड्स मैदान पर कुल 64 ओवरों का खेल हुआ और 200 रन बने लेकिन सबसे अहम बात यह रही कि इस दिन 18 विकेट गिरे। इसमें भारत के 10 और मेजबान टीम के आठ विकेट शामिल हैं। टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए दक्षिण अफ्रीका ने पहली पारी में अब्राहम डिविलियर्स (65) और कप्तान फाफ डु प्लेसिस (62) की अर्धशतकीय पारियों के दम पर 286 रनों का स्कोर खड़ा किया था।
जब पंड्या ने भुवनेश्वर से पूछा, ‘एक दूं क्या’, स्टंप माइक्रोफोन में रिकॉर्ड हुई बातचीत क्रिस गेल को चैलेंज कर खुद ही ट्रोल हो गए युजवेंद्र चहल, जानिए कैसे
भुवनेश्वर कुमार ने सबसे अधिक चार विकेट लिए थे, वहीं रविचंद्रन अश्विन को दो सफलता मिली थी। मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह और हार्दि पांड्या को भी एक-एक विकेट मिला था। इसके बाद भारत ने अपनी पहली पारी में 209 रन बनाए। हार्दिक पांड्या ने सबसे अधिक 93 रनों की पारी खेली। इस पारी में फिलेंडर और रबादा ने तीन-तीन विकेट हासिल किए, वहीं डेल स्टेन और मोर्केल को दो-दो सफलता मिली। स्टेन चोट के कारण दूसरी पारी में गेंदबाजी नहीं कर सके लेकिन फिलेंडर, रबादा और मोर्कल की शानदार गेंदबाजी के कारण प्लेसिस को उनकी कमी बिल्कुल नहीं खली। दक्षिण अफ्रीका की दूसरी पारी भारत ने 130 रनों पर ही समेट दी थी। मेजबान टीम को सस्ते में समेटने में शमी (3-28) और बुमराह (3-39) के अलावा, भुवनेश्वर (2/33) और पांड्या (2/27) ने अहम भूमिका निभाई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here