चारा घोटाला: आज जमानत के लिए रांची हाईकोर्ट में अपील करेंगे लालू

0
161

चारा घोटाला मामले में जेल में सजा काट रहे लालू प्रसाद यादव अपनी जमानत के लिए आज रांची हाइकोर्ट में अपील करेंगे। इससे पहले चारा घोटाले के एक और मामले में फैसला आने वाला है।
पटना । चारा घोटाला मामले में सजायाफ्ता लालू प्रसाद की जमानत के लिए गुरुवार को रांची हाईकोर्ट में अपील की जाएगी। इस बीच एक अन्य मामले में उनके खिलाफ सजा की तलवार लटक गई है। देवघर कोषागार से अवैध निकासी मामले में सजा मिलने के बाद सीबीआइ अदालत में चाईबासा मामले की सुनवाई भी पूरी हो गई है। इसमें लालू को 24 जनवरी को सजा सुनाई जा सकती है।
देवघर कोषागार से 89.27 लाख रुपये गबन के मामले में 23 दिसंबर से रांची जेल में बंद लालू की जमानत की पूरी तैयारी हो चुकी है। झारखंड हाईकोर्ट में अपील गुरुवार को होनी है। कानूनी प्रक्रिया में मदद के लिए लालू के नजदीकी विधायक भोला यादव रांची पहुंच चुके हैं। लालू के अधिवक्ता चितरंजन प्रसाद के मुताबिक अपील में जाने की तैयारी हो चुकी है।
अदालत ने शनिवार को ही अपने आदेश की प्रमाणित प्रतिलिपि जेल में लालू के पास भिजवा दी थी। वकीलों के मुताबिक झारखंड हाईकोर्ट में जमानत पर सिर्फ शुक्रवार को सुनवाई होती है। गुरुवार को अपील करने पर शुक्रवार को सूचीबद्ध किया जा सकता है।
इसके बाद अगले शुक्रवार 19 जनवरी को अपील पर सुनवाई हो सकती है। अगर 12 जनवरी को किसी कारणवश सूचीबद्ध नहीं हो सका तो सुनवाई की तारीख एक हफ्ते बढ़कर 26 जनवरी हो सकती है। ऐसी स्थिति में लालू को जमानत मिलना मुश्किल होगा, क्योंकि अन्य केस में 24 जनवरी को ही फैसला आना है।
जमानत का क्या हो सकता है आधार
पटना हाईकोर्ट के वरिष्ठ वकील दीनू कुमार के मुताबिक लालू प्रसाद को जमानत मिलने में कोई अड़चन नहीं है। सजा के आधे समय तक जेल में रहने वाले मुजरिम को बेल तुरंत मिल जाती है। इसके कई नजीर हैं। लालू को साढ़े तीन साल की सजा हुई है और उन्होंने विभिन्न समय में 22 महीने जेल में बिताया है।
लालू के वकीलों के मुताबिक जमानत का बड़ा आधार 13 दिसंबर 2013 में सुप्रीम कोर्ट से मिली जमानत हो सकती है। लालू को 3 अक्टूबर 2013 को पांच साल कैद और 25 लाख रुपये जुर्माने की सजा हुई थी। तब हाईकोर्ट से जमानत नहीं मिलने पर सुप्रीम कोर्ट ने बेल दिया था। उस फैसले को लालू के वकील नजीर की तरह मान रहे हैं।
जमानत का दूसरा बड़ा आधार लालू की सेहत है। राजद प्रमुख को डायबिटीज एवं हार्ट संबंधी कई बीमारियां हैं। विधानसभा चुनाव 2015 से पहले लालू मुंबई में हार्ट की सर्जरी भी करा चुके हैं।
लालू के वकीलों का तर्क है कि पिछले साल भी ठंड के मौसम में उनकी तबीयत खराब थी। इस बार खुद लालू सीबीआइ अदालत में जज से ठंड लगने की गुहार लगा चुके हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here