‘पद्मावत’ पर भी शांत नहीं करणी सेना, अब CBFC दफ्तर पर बोला धावा

0
18

फिल्म ‘पद्मावत’ के विरोध में करणी सेना ने मुंबई में सीबीएफसी दफ्तर के बाद प्रदर्शन किया।
मुंबई । संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावती’ का नाम बदलकर ‘पद्मावत’ होने के बाद भी फिल्म पर छिड़ा विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। करणी सेना किसी भी सूरत में फिल्म को रिलीज नहीं होने देने पर आमादा है। फिल्म के विरोध में करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने आज मुंबई में केन्द्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (सीबीएफसी) के दफ्तर का घेराव किया। फिल्म ‘पद्मावत’ के विरोध में करणी सेना ने सीबीएफसी दफ्तर के बाहर बैनर-पोस्टर के साथ जमकर नारेबाजी की। कई प्रदर्शनकारियों ने पुलिस ने हिरासत में भी लिया।
फिल्म पर पूरे देश में लगे बैन
‘पद्मावत’ नाम से फिल्म रिलीज करने के सीबीएफसी के फैसले पर असहमति व्यक्त करते हुए सुखदेव सिंह गोगामेरी के नेतृत्व में राजपूत संगठन के सदस्यों ने सीबीएफसी कार्यालय के बाहर इकट्ठा होकर हंगामा किया। करणी सेना के सदस्य जीवन सिंह सोलंकी ने कहा, ‘हम किसी भी सूरत में फिल्म को रिलीज नहीं होने देंगे। कई राज्यों ने हमारी मांग को स्वीकार करते हुए फिल्म पर बैन लगा दिया है। हम चाहते हैं कि पूरे देश में फिल्म बैन होनी चाहिए। हम अब रूकने वाले नहीं हैं। हम प्रधानमंत्री से फिल्म पर प्रतिबंध लगाने के लिए आग्रह करेंगे क्योंकि फिल्म में राजपूत समुदाय की विरासत और संस्कृति को बर्बाद करने की कोशिश की गई है। फिल्म निर्माता ने राजपूतों की भावनाओं के साथ खेल किया है।’
‘हम फिल्म देखना नहीं चाहते, इसे प्रतिबंधित किया जाए’
यह पूछने पर कि क्या वे अपने संदेह को साफ करने के लिए फिल्म को रिलीज से पहले देखने के लिए तैयार हैं तो सोलंकी ने कहा, ‘हमारे समुदाय को फिल्म में गलत दर्शाया गया है, हम फिल्म देखना नहीं चाहते हैं, इसे प्रतिबंधित किया जाना चाहिए। करणी सेना के प्रवक्ता विरेंद्र सिंह ने कहा कि संगठन के सदस्य और यहां तक कि अन्य राजपूत संघों के लोग भी विरोध करने के लिए यहां इकट्ठे हुए हैं।
‘पद्मावती’ का नाम बदला, ‘पद्मावत’ से होगी रिलीज
बता दें कि पांच संशोधनों के बाद सीबीएफसी ने फिल्म को मंजूरी दे दी है और इसे पद्मावती’ से ‘पद्मावत’ नाम दिया गया है। भंसाली की फिल्म ‘पद्मावत’ नाम से 25 जनवरी को पूरे भारत में रिलीज होने जा रही है। हालांकि करणी सेना के विरोध के चलते फिल्म राजस्थान में रिलीज नहीं होगी। सीबीएफसी ने तीन सदस्यीय सलाहकार पैनल के परामर्श से यू/ए प्रमाणीकरण के साथ फिल्म को रिलीज को हरी झंडी दिखा दी है।
रणबीर सिंह के मजाकिया बयान ने मामले को बढ़ाया!
गौरतलब है कि राजपूत संगठन ने अभिनेता रणवीर सिंह के जुलाई 2016 के एक बयान को लेकर चिंता जताई थी, जिसमें रणवीर सिंह से कथित तौर पर फिल्म में खलनायक की भूमिका निभाए जाने के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने मजाकिया अंदाज में यह कहा था कि यदि उन्हें दीपिका के साथ दो अंतरंग दृश्य करने का मौका मिलता है तो वह खलनायक से नीचे जाकर भी कोई भूमिका निभाएंगे। रणवीर के इस बयान के बाद यह सवाल उठने लगा कि फिल्म में क्या खिलजी और रानी पद्मावती के बीच अंतरंग दृश्य दर्शाए गए हैं। बाद में करणी सेना ने जयपुर में भंसारी पर हमला भी बोला और कोलापुर में फिल्म के सेट पर तोड़फोड़ भी की। यहां तक की करणी सेना ने फिल्म की लीड अभिनेत्री दीपिका पादुकोण और फिल्म निर्माता संजय लीला भंसाली को धमकी भी दी।
बता दें कि करणी सेना का कहना है कि वे फिल्म को रिलीज नहीं होने देंगे। सिर्फ से ‘आई’ हट जाने से कुछ नहीं होने वाला, अगर फिल्म रिलीज होती है तो इसका परिणाम भुगतने को तैयार हो जाएं। दीपिका पादुकोण, रणवीर सिंह और शहीद कपूर स्टारर फिल्म ‘पद्मावत’ 25 जनवरी को रिलीज होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here