सेवानिवृत्त चिकित्सकों को नियुक्ति में मिलेगा आरक्षण का लाभ

0
116

बिहार में सेवानिवृत्त चिकित्सकों को नियुक्ति में आरक्षण का लाभ मिलेगा। 586 सामान्य एवं 722 विशेषज्ञ सेवानिवृत्त चिकित्सकों की संविदा पर बहाली की प्रक्रिया चल रही है।
पटना । प्रदेश के अस्पतालों में चिकित्सा पदाधिकारियों एवं विशेषज्ञ चिकित्सकों की कमी दूर करने के लिए सेवानिवृत्त डॉक्टरों की सेवा ली जाएगी। 586 सामान्य एवं 722 विशेषज्ञ सेवानिवृत्त चिकित्सकों की संविदा पर बहाली की प्रक्रिया चल रही है। 15 जनवरी आवेदन करने की अंतिम तिथि है।
दूसरे प्रदेश के चिकित्सकों को आरक्षण का लाभ नहीं दिया जाएगा। इससे प्रदेश के चिकित्सकों के लिए अवसर बढ़ जाएंगे। सेवानिवृत्त चिकित्सक 70 साल की आयु तक काम कर सकेंगे। सेवा की अवधि अधिकतम दो साल की होगी।
प्रदेश के सरकारी अस्पतालों में सामान्य और विशेषज्ञ चिकित्सकों की भारी कमी है। पिछले साल चिकित्सकों के पदों पर स्थाई बहाली की प्रक्रिया शुरू की गई थी। बीपीएससी को सामान्य चिकित्सक के 2301 एवं विशेषज्ञ चिकित्सक के 2636 पदों पर नियुक्ति की अनुशंसा भेजी गई थी। इसके विरुद्ध 1805 सामान्य एवं 665 विशेषज्ञ चिकित्सक ही मिल सके।
पटना हाईकोर्ट ने एक जनहित याचिका की सुनवाई करते हुए बेहतर चिकित्सा सुविधा के लिए राज्य सरकार को जल्द से जल्द चिकित्सकों की नियुक्ति कर इन्हें अस्पतालों को उपलब्ध कराने के निर्देश दिए थे। चिकित्सकों के खाली पदों पर तुरंत स्थाई नियुक्ति संभव न देख सरकार द्वारा संविदा पर 70 साल की आयु तक सेवानिवृत्त चिकित्सकों को बहाल करने का फैसला किया गया। इनको न्यूनतम एक साल एवं अधिकतम दो साल के लिए नियुक्त किया जाएगा। इ
सलिए एक जनवरी 2018 को 69 साल पूरा करने वालों के आवेदन मंजूर नहीं किए जाएंगे। इसमें आरक्षण के प्रावधान का अनुपालन किया जाएगा। राज्य सरकार द्वारा प्रदेश के सेवानिवृत्त चिकित्सकों को अधिक अवसर देने लिए अन्य प्रदेश के चिकित्सकों को आरक्षण का लाभ न देने का फैसला किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here