IND vs SA LIVE: दक्षिण अफ्रीका की बैटिंग प्रारंभ, एल्‍गर और मार्कराम क्रीज पर

0
98

सेंचुरियन: भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच तीन टेस्‍ट मैचों की क्रिकेट सीरीज का दूसरा टेस्‍ट मैच टीम इंडिया के लिए ‘करो या मरो’ की तरह है. केपटाउन में हुआ पहला टेस्‍ट मैच टीम इंडिया 72 रन से हार गई थी. ऐसे में दूसरे टेस्‍ट में भारतीय बल्‍लेबाजों को पिच की उछाल और दक्षिण अफ्रीका के तेज आक्रमण का बेहतर ढंग से सामना करना होगा. एक तरह से लगातार नौ सीरीज जीतने का भारत का रिकॉर्ड दांव पर होगा. भारत को 2018-19 में विदेशी धरती पर 12 टेस्ट खेलने हैं और यह उनमें से दूसरा ही टेस्ट है. भारत को सीरीज में बने रहने के लिए यह टेस्ट हर हालत में जीतना होगा. मैच में दक्षिण अफ्रीका के कप्‍तान फाफ डु प्‍लेसिस ने टॉस जीता और पहले बैटिंग करने का फैसला किया.चार ओवर के बाद दक्षिण अफ्रीका की पहली पारी का स्‍कोर बिना विकेट खोए 12 रन है. डीन एल्‍गर 3 और एडेन मार्कराम 9 रन बनाकर क्रीज पर हैं. भारत के लिए पारी का पहला ओवर जसप्रीत बुमराह ने और दूसरा ओवर मो. शमी ने फेंका. ये दोनों ओवर मेडन रहे.बुमराह की ओर से फेंके गए तीसरे ओवर में दक्षिण अफ्रीका के रनों का खाता खुला. पारी के चौथे ओवर में मार्कराम ने शमी की गेंद पर लगातार दो चौके लगाए. इस ओवर में 8 रन बने.

भारतीय टीम ने अपनी प्‍लेइंग इलेवन में तीन बदलाव किए हैं. चोटिल ऋद्धिमान साहा की जगह पार्थिव पटेल, भुवनेश्‍वर कुमार की जगह ईशांत शर्मा और शिखर धवन की जगह केएल राहुल को टीम में स्‍थान दिया गया है.वैसे, दक्षिण अफ्रीका अगर सीरीज में क्‍लीन स्‍वीप करने में सफल होता है तो भी भारत की नंबर वन टेस्ट रैंकिंग पर असर नहीं पड़ेगा लेकिन भारतीय टीम को अपने देश में काफी आलोचना का सामना करना पड़ेगा. भारतीय टीम प्रबंधन को ऐसे में प्‍लेइंग इलेवन का काफी सोच-समझकर चयन करना होगा. भारत ने पिछली सीरीज ऑस्ट्रेलिया में 2014-15 में गंवाई थी जब उसे चार टेस्ट की सीरीज में 0-2 से हार का सामना करना पड़ा था.
गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन पर बल्‍लेबाजों ने पानी फेरा, केपटाउन टेस्‍ट हारी टीम इंडिया
दक्षिण अफ्रीका में हालांकि भारत का रिकॉर्ड काफी खराब है जहां उसने छह में से पांच सीरीज गंवाई हैं जबकि एक ड्रॉ रही. भारत ने 1992 से दक्षिण अफ्रीका की सरजमीं पर खेले 17 टेस्ट में से सिर्फ दो में जीत दर्ज की है. टीम ने एक जीत 2006-07 में राहुल द्रविड़ के नेतृत्व में जबकि एक 2010-11 में महेंद्र सिंह धोनी के नेतृत्व में दर्ज की. भारत ने हालांकि पिछले दो दौरों पर दक्षिण अफ्रीका में बेहतर प्रदर्शन किया है. टीम ने 2010-11 में सीरीज ड्रॉ कराई जबकि 2013-14 में उसे कड़ी टक्कर देने के बावजूद हार का सामना करना पड़ा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here