जदयू का दही-चूड़ा भोज: तिलकुट नहीं, नीतीश से मिलना ज्यादा मीठा लगा

0
178

मकर संक्रांति पर जदयू की ओर से दिए गए चूड़ा-दही के भोज में राजग के सैकड़ों नेता और हजारों कार्यकर्ता पहुंचे। कार्यकर्ता अपने नेता नीतीश कुमार के इंतजार में देर तक खड़े रहे।
पटना । मकर संक्रांति पर जदयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह की ओर से दिए गए चूड़ा-दही के भोज में राजग के सैकड़ों नेता और हजारों कार्यकर्ता पहुंचे। सबसे पहले हिन्दुस्तानी अवाम मोर्चा के अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी पहुंचे और फिर कुछ ही देर में भाजपा के दिग्गज-सुशील कुमार मोदी, नंदकिशोर यादव और मंगल पांडेय भी पहुंचे। पांडेय ने खुद की ओर इशारा करते हुए मजाकिया अंदाज में कहा-‘ब्राह्मण आ गया है, अब देर किस बात की। भोज शुरू किया जाए।’ तब 11 बजे रहे थे।
गेट पर लंबी कतार, सीएम आ रहे हैं
सवा 11 बजते ही मुख्य द्वार से अंदर तक दोनों ओर जदयू कार्यकर्ताओं की लंबी कतार लग गई। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आने वाले थे। कार्यकर्ताओं में उनसे मिलने की बेकरारी साफ दिख रही थी। मुख्यमंत्री को आने में देर हुई और वह करीब 12.45 बजे पहुंचे। कार्यकर्ता तिलकुट की मिठास भूलकर अपने नेता से मिलने के लिए बेकरार दिख रहे थे। वे कतार में ही खड़े रहे। दही-चूड़ी और सब्जी के अलावा भोज में 20 क्विंटल तिलकुट भी मंगाया गया था।
मुख्यमंत्री से पहले विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी आए और वशिष्ठ नारायण सिंह के अलावा जदयू के राष्ट्रीय महासचिव आरसीपी सिंह ने उनका स्वागत किया। मुख्यमंत्री करीब 25 मिनट रहे और उनके जाने के बाद जल संसाधन मंत्री ललन सिंह, लोजपा के वरिष्ठ नेता चिराग पासवान और फिर कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष डा. अशोक चौधरी अपने दो साथियों के साथ पहुंचे। भोज में मधुबनी से आए कुछ पहलवानों ने अपने करतब भी दिखाए।
देखरेख में जुटे रहे जदयू के दिग्गज
भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय, पूर्व मंत्री श्याम रजक, विधान पार्षद शिवप्रसन्न यादव भी मौजूद थे। जदयू प्रवक्ताओं-संजय सिंह, डा. सुनील कुमार सिंह, डा. सुहेली मेहता, भारती मेहता, निखिल मंडल, अरविंद निषाद के अलावा वरिष्ठ नेता संजय कुमार सिंह, रवींद्र सिंह, चंदेवश्वर प्रसाद चंद्रवंशी, रूदल राय, छोटू सिंह, नंदकिशोर कुशवाहा, ओमप्रकाश सिंह सेतु, चंद्रिका सिंह दांगी, मुकेश कुमार सिंह, मनोरंजन गिरी, कल्याणी सिंह आदि यह देखरेख करने में लगे थे कि भोज में आए लोगों को कोई दिक्कत न हो। मंत्री कृष्णनंदन वर्मा, महेश्वर हजारी, संतोष निराला एवं रमेश ऋषिदेव शुरू से ही मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here