लालू का घोटाला: आखिर सजा किसे-किसे मिलेगी?

0
128

राजद सु्प्रीमो लालू यादव चारा घोटाला मामले में जेल में सजा काट रहे हैं। लेकिन घोटालों से उनका पीछा छूटने वाला नहीं है। घोटाले के जद में बेटे बेटियों सहित दामाद भी आ गया हैं।

पटना। कहते हैं पाप का घड़ा भरता ही है और उस घड़े का पानी जिसने भी पीया हो पाप का भागीदार वो भी होता है। कुछ एेसा ही लालू परिवार के साथ हो रहा है। एक-एक कर हो रहे घोटालों के खुलासे के बाद उनके परिवार के सदस्य भी जांच एजेंसियों के शिकंजे में आते जा रहे हैं। चारा घोटाला, मिट्टी-मॉल घोटाला, रेलवे टेंडर घोटालों में फंसे लालू यादव की मुश्किलें अब कम नहीं होंगी।

एक ओर, जहां लालू यादव खुद रांची के होटवार जेल में सजा भुगत रहे हैं तो वहीं उनके बेटे तेजस्वी यादव, पत्नी राबड़ी देवी पर भी जांच एजेंसियों की नजर बनी हुई है। वो जांच के बाद समय-समय पर पूछताछ के लिए लालू परिवार को बुलावा भेजते रहे हैं। अब इन घोटालों की जांच की आंच की लौ अब उनकी बेटियों और दामाद तक भी पहुंच गई है।

एक तरफ मनी लान्ड्रिंग के मामले में लालू की बड़ी बेटी मीसा भारती और दामाद शैलेष के खिलाफ जांच एजेंसियों ने चार्जशीट दायर किया है तो वहीं अब लालू की दूसरी बेटी रागिनी यादव के पति राहुल यादव को भी ईडी ने पूछताछ के लिए तलब किया है।

बताया जा रहा है कि राबड़ी देवी ने इन्हीं पैसों से पटना में विवादित जमीन खरीदी थी, उनसे ईडी यह जानना चाहती है कि उन्होंने अपनी सास को एक करोड़ का जो लोन जमीन खरीदने के लिए दिया था वो कहां से आया?

लालू यादव को शुरू से ही अपने परिवार से खासा लगाव रहा है। उनकी सात बेटियां और दो बेटे हैं। लालू ने अपने बेटे-बेटियों के नाम अकूत संपत्ति बनाई, बिहार में हुए चर्चित घोटाले चारा घोटाले से लेकर कई घोटालों के नाम उजागर हुए, जिसने लालू और उनके परिवार की साख पर बट्टा लगा दिया। जब मामले खुलते गए तो उनकी पत्नी राबड़ी देवी, सहित बेटे और बेटियों के नाम भी इन घोटालों से जुड़ गए।

जांच एजेंसियों ने जब खुलासा किया तो पता चला कि लालू ने चारा घोटाला किया तो वहीं उनके नाम रेलवे होटल टेंडर घोटाला भी रहा। इसके साथ ही मिट्टी घोटाला, मॉल घोटाले में उनके बेटे बेटियों के नाम उजागर हुए।

कौन हैं लालू की बेटी रागिनी यादव और कौन हैं राहुल

लालू की सात बेटियों में चौथे नंबर की बेटी हैं रागिनी यादव- बीआईटी मेसरा, रांची से इंजीनियरिंग की पढ़ाई बीच में ही छोड़कर वो अपने पापा और उस वक्त मंत्री रहे लालू प्रसाद यादव के पास दिल्ली चली गई थीं। उसके बाद रागिनी ने कुछ दिनों तक कुछ एजेंसी का भी काम किया था, जिसमें कहा जाता है कि उन्हें करोड़ों रुपये कमीशन में मिले थे।

लालू ने बेटी रागिनी की शादी जनवरी 2012 में राजनीतिक परिवार से जुड़े राहुल यादव से की थी। राहुल के पिता जितेंद्र यादव उस वक्त गाजियाबाद से समाजवादी पार्टी के विधायक थे, बाद में उन्होंने कांग्रेस ज्वाइन की थी।बता दें कि लालू की बेटी रागिनी का नाम भी बेनामी संपत्ति मामले में शामिल है।

राहुल यादव ने पिछले साल यूपी विधानसभा चुनाव में सिकंदराबाद से समाजवादी पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ा था, जिसके प्रचार के लिए ससुर लालू यादव भी पहुंचे थे लेकिन वो चुनाव हार गए थे। राहुल यादव ने स्विट्जरलैंड से होटल एंड रेस्टोरेंट मैनेजमेंट की पढा़ई की है और 25 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति के मालिक हैं। राहुल अपने बिजनेस के अलावा किसानी पर भी डिपेंड करते हैं। उनके 21.3 करोड़ के यूपी में खेत हैं।

लालू की बेटी रागिनी यादव सबसे पहले 2006 में बिहार में चर्चा में आईं थीं। उस वक्त वो अपने दोस्तों के साथ रांची का दशम फॉल घूमने गईं थीं, जहां उनके दोस्त अभिषेक मिश्रा की डूबने से मौत हो गई थी और उसके बाद तरह-तरह की चर्चा सामने आई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here