क्रिकेटर हरमनप्रीत कौर को 5 महीने से नहीं मिली सैलरी, DSP बनने में भी पेंच

0
322

नई दिल्ली
भारतीय महिला क्रिकेटर हरमनप्रीत कौर तो याद ही होंगी आपको…। जी हां, हम उन्हीं की बात कर रहे हैं, जिन्होंने महिला वर्ल्ड कप-2017 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ धमाकेदार 171 रनों की पारी खेलते हुए भारत को फाइनल में पहुंचा दिया था। फिलहाल वह अपनी नौकरी को लेकर परेशान हैं। दरअसल, वह रेलवे छोड़कर पंजाब पुलिस में डीएसपी पद जॉइन करना चाहती हैं, लेकिन रेलवे इसकी इजाजत नहीं दे रहा है।
दरअसल, पंजाब सरकार ने महिला विश्व कप में प्रदर्शन को देखते हुए इस स्टार क्रिकेटर को डीएसपी बनाने का फैसला किया था। इस पेशकश को हरमन ने कबूल भी कर लिया, लेकिन रेलवे ने पेंच फसा दिया है। रेलवे ने हरमनप्रीत का इस्तीफा यह कहते हुए लेने से मंजूर करने से मना कर दिया कि बॉन्ड 5 सालों का था और आपको पूरा करना ही होगा। बता दें कि हरमन को खेल कोटा के तहत मिली रेलवे की नौकरी में अभी 3 साल हुए हैं।
रेलवे का क्या है कहना
यही नहीं, हरमन को पिछले 5 महीनों से सैलरी भी नहीं मिली है। एएनआई के अनुसार, इस बारे में रेलवे स्पोर्ट्स प्रमोशन बोर्ड के सेक्रेटरी रेखा यादव का कहना है कि हरमन फिलहाल बिग बैश लीग के लिए छुट्टी पर हैं, जो कि प्राइवेट टूर्नमेंट है। इसलिए हमने उन्हें इसके लिए अनापत्ति प्रमाण पत्र (NOC) दिए हैं। वह विशेष आकस्मिक छुट्टी पर हैं। ऐसे में सैलरी का तो सवाल ही नहीं उठता है।
हरमन की शिकायत, 27 लाख मांग रहा रेलवे
दूसरी ओर हरमनप्रीत ने कहा, ‘इस्तीफे को स्वीकार करने लिए रेलवे 27 लाख रुपये मांग रहा है।’ हरमन ने कहा कि मैंने यहां 3 साल काम किया है, लेकिन रिलीव करने के लिए वे मुझसे 5 साल की सैलरी जमा कराने के लिए बोल रहे हैं। विश्व कप की वजह से 5 महीने की सैलेरी भी नहीं मिली। हरमन का कहना है कि मुझे अक्टूबर में डीएसपी पद जॉइन करना था, लेकिन वहां पहुंची तो मुझे पता चला कि इसके लिए रेलवे से सहमति नहीं मिली।
पंजाब सीएम ने लिखा रेल मंत्री को पत्र
इस बारे में पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल को पत्र लिखकर इस स्टार खिलाड़ी को रिलीव करने का निवेदन किया है। उन्होंने कहा, ‘हरमन किसी प्राइवेट सेक्टर के लिए नौकरी नहीं छोड़ रही हैं। बस वह केंद्र सरकार की नौकरी छोड़कर राज्य सरकार की नौकरी जॉइन कर रही हैं। यह उनके भविष्य के लिए बेहतर होगा।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here