जोहानसबर्ग में ‘व्हाइटवॉश’ से बचने उतरेगा भारत

0
241

जोहानसबर्गः दक्षिण अफ्रीका से सीरीज गंवा चुकी नंबर वन भारतीय क्रिकेट टीम मंगलवार से शुरू होने जा रहे तीसरे और सीरीज के आखिरी क्रिकेट टेस्ट में सम्मान बचाने के साथ मेकाबान टीम के हाथों व्हाइटवॉश से भी बचने उतरेगी। भारत ने पहला मैच दक्षिण अफ्रीका से 72 रन से और दूसरा मैच 135 रन से हारा था और वह सीरीज पहले ही 0-2 से गंवा चुकी है। ऐसे में तीसरा मैच भले ही परिणाम के लिहाज से उसके लिए अहम न हो लेकिन दुनिया की नंबर एक टीम होने के नाते प्रतिष्ठा के लिहाज से काफी अहम होगा।
रहाणे ने दिए वापसी के संकेत
विराट कोहली के नेतृत्व में टीम इंडिया ने अंतिम मैच में जीत के लिए मैच से पहले कड़ा अभ्यास भी शुरू कर दिया है और बल्लेबाजी क्रम में अजिंक्या रहाणे की वापसी के भी संकेत मिल रहे हैं जिन्हें पिछले मैचों में बाहर रखे जाने को लेकर कप्तान को काफी आलोचना झेलनी पड़ी है। हालांकि रहाणे को बाहर रखे जाने से अंतिम एकादश में किस खिलाड़ी को बाहर बैठना होगा यह साफ नहीं है।
भारत के लिए सफल रहा वंडरर्स स्टेडियम
जोहानसबर्ग पिच की बात करें तो यह मैदान भारतीय टीम के लिए सफल रहा है और दक्षिण अफ्रीका में एकमात्र जीत उसे इसी मैदान पर वर्ष 2006 में मिली थी। यह मैच भारत ने 123 रन से जीता था जिसमें शांतकुमार श्रीसंत के पांच विकेट की अहम भूमिका थी। इसके अलावा उसने दिसंबर 2013 में यहां एक मैच ड्रा भी कराया है जबकि केपटाउन और सेंचुरियन मैदानों की तुलना में मेजबान टीम को इस मैदान पर खास सफलता नहीं मिली है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here