पर्रिकर इम्पोर्ट करना चाहते हैं और योगी एक्सपोर्ट, BJP है बीफ जनता पार्टी: कांग्रेस

0
248

चुनावी माहौल से भरे कर्नाटक में बीफ मसले पर बवाल सोमवार को भी जारी रहा. सत्तारूढ़ कांग्रेस पार्टी ने बीफ मसले पर ‘हिप्पोक्रेसी’ के लिए बीजेपी पर हमला बोला है. पार्टी का कहना है कि एक तरफ गोवा में पर्रिकर बीफ का आयात करना चाहते हैं, यूपी में योगी बीफ का निर्यात, लेकिन कर्नाटक में बीजेपी इसका विरोध कर रही है.
कर्नाटक कांग्रेस ने बीजेपी को ‘बीफ जनता पार्टी’ बताते हुए ट्वीट किया है, ‘पर्रिकर इसे इम्पोर्ट करना चाहते हैं, योगी एक्सपोर्ट, रिजिजू इसे खाना चाहते हैं. सोम इसे बेचना चाहते हैं. बीफ को कारोबार के साथ न मिलाएं. बीफ को राजनीति से मिलाएं, तो वे बिल्कुल हां कहेंगे! यह आपके दोहरेपन को बताने के लिए काफी है
गौरतलब है कि कर्नाटक में तमाम कथित गौरक्षकों ने बीफ से लदे ट्रक बीजेपी शासित गोवा में जाने से रोक दिया था, जिसके बाद गोवा के बीफ कारोबारियों ने हड़ताल कर दिया था. इसके बाद गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर ने पिछले हफ्ते कारोबारियों को यह भरोसा दिया था कि राज्य में बीफ के ‘लीगल इम्पोर्ट’ को नहीं रोका जाएगा.
बीजेपी कार्यकर्ता गोरक्षा के नाम पर पूरे देश में बीफ खाने पर रोक लगाने की मांग करते रहे हैं, लेकिन पूर्वोत्तर राज्यों में वे ऐसा नहीं कर पाते. पूर्वोत्तर के तीन राज्यों नगालैंड, मेघालय और त्रिपुरा में अगले महीने विधानसभा के चुनाव होने हैं. खुद किरन रिजिजू एक बार कथित रूप से बीफ खाने का बयान देकर फंस चुके हैं. इसी तरह यूपी के बीजेपी विधायक संगीत सोम पर यह आरोप लगाया जाता है कि वह बीफ एक्सपोर्ट फर्म अल दुआ के संस्थापक हैं और वह 2008 तक इस कंपनी में डायरेक्टर थे.
कर्नाटक कांग्रेस के इस ट्वीट के पीछे राज्य में पिछले दिनों में बना माहौल है. बीफ को लेकर कर्नाटक का दौरा कर चुके यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उनके समकक्ष सिद्धारमैया के बीच इसी महीने बयानबाजी हुई है. योगी ने कर्नाटक के मुख्यमंत्री पर हमला करते हुए कहा था कि वे बताएं कि वे बीफ खाते हैं या नहीं.
इसके जवाब में सिद्धारमैया ने कहा था, ‘वे लोग हमारे खान-पान की आदतों के बारे में सवाल करने वाले कौन हैं? बहुत से हिंदू बीफ खाते हैं. मैं यदि बीफ खाना चाहूंगा तो खाऊंगा. वे मुझे यह बताने वाले कौन होते हैं कि मुझे नहीं खाना चाहिए. यह अलग बात है कि मैं इसे पसंद नहीं करता, इसलिए नहीं खाता.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here