मानव श्रृंखला में शामिल हुए CM नीतीश, कहा- कुरीतियों के खिलाफ जागृत हुआ बिहार

0
193

मानव श्रृंखला के समापन पर सीएम नीतीश ने कहा कि बिहार के लोग समाजिक कुरीतियों के खिलाफ जागृत हो रहे हैं। सामाजिक कुरीतियों के खिलाफ सशक्त अभियान चलता रहेगा।
पटना । बाल विवाह व दहेज उन्मूलन अभियान के समर्थन में रविवार को आयोजित मानव श्रृंखला के समापन के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि सामाजिक कुरीतियों के खिलाफ लोगों के मन में जागृति आ रही है। यह देख संतोष की अनुभूति हुई है।
सामाजिक कुरीतियों के खिलाफ सशक्त अभियान चलता रहेगा। मानव श्रृंखला का उद्देश्य है कि निरंतर लोग सजग रहें। जब तक समाजिक कुरीतियों का बोलबाला रहेगा तब तक विकास का लाभ समाज के सभी लोगों को नहीं मिलेगा। मानव श्रृंखला का आयोजन राजनैतिक नहीं। जिसकी जैसी भावना है वह प्रकट हो रही है।
मुख्यमंत्री गांधी मैदान में दोपहर 12-12.30 बजे तक आयोजित मानव श्रृंखला में शामिल हुए। विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी, उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव और कृषि मंत्री डॉ प्रेम कुमार भी मुख्यमंत्री के साथ गांधी मैदान में मानव श्रृंखला में शामिल हुए।
नीतीश कुमार ने कहा कि पिछले वर्ष शराबबंदी और नशामुक्ति के समर्थन में आयोजित मानव श्रृंखला से इस बार आयोजित मानव श्रृंखला भिन्न थी। पिछली बार लोगों ने केवल सड़क पर मानव श्रृंखला बनाई थी पर इस बार गांव-गली, घर जहां भी लोगों ने चाहा वहां मानव श्रृंखला बनाई। मानव श्रृंखला तो एक सांकेतिक कार्यक्रम है।
सुशील मोदी की अपील- राजद-कांग्रेस भी ह्यूमन चेन में हो शामिल
सीएम ने कहा कि सामाजिक अभियान निरंतरता की चीज है। दहेज एक भयंकर कुरीति है, लेकिन इससे छूटकारा मिल सकता है। सभी लोग यह मन बना लें कि जो लोग दहेज लेंगे उनकी शादी में नहीं जाएंगे। बाल विवाह का काफी नुकसान है।
मुख्‍यमंत्री ने कहा कि मातृ मृत्यु दर (एमएमआर) के आंकड़े में यह बात सामने आई है कि प्रसव के दौरान मरनेवाली महिलाओं में उनकी संख्या सबसे अधिक है, जिनका बाल विवाह हुआ है। लोगों को हमेशा सजग रहना चाहिए। मानव शृंखला ने साबित किया है कि लोगों के अंदर उत्साह का भाव संचारित हुआ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here