शिवपाल सिंह यादव अब ‘वन मैन आर्मी’, मुलायम से भी मोहभंग

0
559

राजधानी के कई जगहों पर लगी होर्डिंग में शिवपाल की तस्वीर तो बहुत बड़ी लगी है, लेकिन अखिलेश और मुलायम की कोई फोटो नहीं लगी है।
लखनऊ । समाजवादी पार्टी में लगातार हाशिए पर चल रहे शिवपाल सिंह यादव अब ‘वन मैन आर्मी’ हो रहे हैं। अब उनका बड़े भाई मुलायम सिंह यादव से भी मोहभंग हो रहा है। लखनऊ में आज अपना 63वां जन्मदिन मना रहे शिवपाल सिंह यादव को बधाई देने वाले होर्डिंग्स में अब तो मुलायम सिंह यादव की भी तस्वीर नहीं दिखाई पड़ रही है।
अखिलेश यादव सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे शिवपाल सिंह यादव अभी तक मुलायम सिंह को अपना रहबर बताते थे। उनकी जुबान पर हर समय नेताजी (मुलायम सिंह यादव) का ही नाम रहता था। मुलायम सिंह यादव को अपना सबकुछ मानने वाले उनके छोटे भाई और सपा विधायक शिवपाल यादव का अब लगता है उनसे मोहभंग हो गया है। शिवपाल सिंह यादव तो अब एकला चलो की राह पर हैं। आज शिवपाल सिंह यादव के जन्मदिन के मौके पर राजधानी लखनऊ में लगे होर्डिंग से तो यही संकेत मिल रहे है। शिवपाल सिंह यादव को बधाई देते होर्डिंग्स तथा पोस्टर से इस बार तो नेताजी (मुलायम सिंह यादव) पूरी तरह गायब हैं।
कम होने लगा शिवपाल सिंह यादव का समाजवादी पार्टी से लगाव
राजधानी के कई जगहों पर लगी होर्डिंग में शिवपाल की तस्वीर तो बहुत बड़ी लगी है, लेकिन अखिलेश और मुलायम की कोई फोटो नहीं लगी है। पोस्टर से मुलायम सिंह यादव गायब दिखे तो सियासी गलियारे में चर्चा बढ़ गई कि अब शिवपाल सिंह यादव अपने बड़े भाई मुलायम सिंह यादव से भी नाराज हो गए हैं। यही कारण है कि मुलायम की तस्वीर नहीं है और शायद उन्होंने इस तरह अपने गुस्से का इजहार किया है। शिवपाल हमेशा से कहते आये हैं कि नेताजी से बिना पूछे कुछ नहीं किया जायेगा मगर उनके जन्मदिन के पहले कुछ ऐसा हुआ है जो सभी को हैरान कर देगा।
पूर्व कैबिनेट मंत्री शिवपाल सिंह यादव जनवरी 2017 से पार्टी में हाशिये पर चल रहे हैं। चाचा (शिवपाल सिंह यादव) और भतीजे (अखिलेश यादव) के बीच सुलह के तमाम प्रयास समय समय पर हुए लेकिन कोई सफलता नहीं मिली। शिवपाल सिंह यादव ने कई बार बागी तेवर दिखाये, पर मुलायम सिंह के चलते वह कोई निर्णय नहीं ले पाये।
कुनबे की कलहः लोहिया ट्रस्ट से रामगोपाल की छुट्टी, शिवपाल को जिम्मेदारी
यह भी पढ़ें
लोहिया ट्रस्ट पहुंचे शिवपाल यादव ने किया कार्यकर्ताओं को संबोधित
समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव जहां लोकसभा चुनावों की तैयारियों में लगे हैं, वहीं कद्दावर नेता शिवपाल यादव ही पार्टी के खिलाफ जाकर बागी नजर आ रहे हैं। लगातार नये राजनैतिक विकल्प की घोषणा की बात कहते हुए नजर आ रहे हैं। सपा नेता शिवपाल यादव अपने जन्मदिन पर आज लखनऊ में लोहिया ट्रस्ट पहुंचे हुए थे। जहां उन्होंने अपने समर्थकों के साथ केक काटने के बाद उनको संबोधित भी किया। समर्थकों को संबोधित करते हुए बड़ा ऐलान कर दिया है।
लखनऊ में आज लोहिया ट्रस्ट में शिवपाल यादव ने कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। शिवपाल यादव ने कहा कि आज का दिन बहुत शुभ है। साथ ही उन्होंने सभी को बसंत पंचमी की हार्दिक शुभकामनाएं दी। शिवपाल यादव ने कहा कि यह संघर्ष करने का समय है जो सभी लोग मिलकर करेंगे। उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में भ्रष्टाचार अपने चरम पर है। इस समय किसान से लेकर नौजवान सभी लोग परेशान हैं। महंगाई लगातार बढ़ रही है। उत्तर प्रदेश में कही कोई गरीबों की सुनने वाला नहीं है। उन्होंने कहा कि सभी लोग मिल कर ही चुनौतियों से निपट सकते हैं।
समर्थकों को बुलाया इटावा
शिवपाल सिंह यादव आज बसंत पंचमी पर अपना 63वां जन्मदिन मना रहे हैं। शिवपाल समर्थकों ने उनके जन्मदिन को यादगार बनाने की पूरी तैयारी कर ली है। लखनऊ से लेकर इटावा तक उनके समर्थकों ने शिवपाल यादव के स्वागत की तैयारियां कर रखी हैं। मंत्री शिवपाल यादव आज लखनऊ में दादा मियाँ की मजार जायेंगे। मजार पर गरीबों में कंबल बाटेंगे और भंडारे की शुरुआत करेंगे।
समाजवादी पार्टी के विधायक शिवपाल सिंह यादव आज लखनऊ के बाद अपना जन्मदिन घर के बजाय इटावा के कुनैरा के पास वृंदावन गार्डन में मनाएंगे। समर्थकों को शिवपाल ने बकायदा आमंत्रित किया है। अभी तक मिली जानकारी के मुताबिक सपा के संस्थापक मुलायम इसमें मौजूद नही रहेंगे।
अब बसंत पंचमी के दिन अपना जन्मदिन मनाने के बहाने वे अपनी ताकत दिखाने जा रहे हैं। उन्होंने 75 जिलों से अपने समर्थकों को कुनैरा के पास वृंदावन गार्डन बुलाया है। सपा नेता शिवपाल यादव के समर्थक इन दिनों उनके 63वें जन्मदिन की तैयारियां कर रहे हैं। शिवपाल समर्थक उनका जन्मदिन वृन्दावन गार्डन में बड़ी धूमधाम से मनाने जा रहे हैं जिसकी पूरी तैयारी हो चुकी है। पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव किसानों और युवाओं के लिए नये राजनैतिक विकल्प की घोषणा की बात कह रहे हैं। कह रहे हैं कि बहुत जल्द बड़ा फैसला लिया जायेगा जो सभी समाजवादियों को एकजुट करने का काम करेगा। शिवपाल यादव इन दिनों नयी पार्टी समाजवादी लोकदल बनाने को लेकर चर्चाओं में हैं।
शिवपाल के वजूद का अहसास कराएंगे समर्थक
शिवपाल सिंह यादव ने भले ही अभी तक कोई निर्णायक कदम नहीं उठाया हो लेकिन उनके समर्थक आसानी से हार मानने को तैयार नहीं। वह नका जन्मदिन सतत संघर्ष दिवस के रूप में मनाएंगे। राजधानी में इसके लिए बड़ी संख्या में होर्डिग-पोस्टर व बैनर लगाए गए हैं। पार्टी में पूरी तरह अखिलेश यादव का आधिपत्य हो जाने के बाद शिवपाल समर्थक पहली बार अपने नेता को केंद्र में रखकर सक्रिय हुए हैं। इसे शिवपाल के उन बयानों से जोड़कर भी देखा जा रहा है जिसमें उन्होंने कहा था कि जल्द ही नेताजी से निर्देश लेकर वह कोई निर्णायक कदम उठाएंगे। समाजवादी चिंतन सभा के दीपक मिश्र के अनुसार उनका जन्मदिन सतत संघर्ष दिवस के रूप में मनाया जाएगा। साथ ही शिवपाल के व्यक्तित्व पर केंद्रित ई-बुक का विमोचन भी होगा। सभी समाजवादी संगठन निराला जयंती के उपरांत 23 जनवरी को नेताजी सुभाष चंद्र बोस की भी जयंती मनाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.