दिल्ली-NCR में बूंदाबांदी से मौसम बदला, फिर लौटेगी कड़ाके की ठंड

0
126

नई दिल्ली (जेएनएन)। राजधानी में ठंड का प्रकोप कम नहीं हो रहा है। मंगलवार दोपहर में दिल्ली के साथ गुरुग्राम, गाजियाबाद, नोएडा, नारनौल और रेवाड़ी समेत एनसीआर के कुछ इलाकों में हल्की बूंदाबांदी हुई। बूंदाबंदा के चलते गणतंत्र दिवस के मद्देनजर चल रही रिहर्सल भी प्रभावित हुई।

वहीं, दिल्ली के रोहिणी में दोपहर बाद हुई स्कूलों की छुट्टी से छात्र-छात्राएं बूंदाबांदी के बीच घर लौटे। इस दौरान छात्राएं छाते का इस्तेमाल भी करती नजर आईं। वहीं, मौसम विभाग ने पहले ही कह दिया था कि मौसम में बदलाव सुबह से ही देखने को मिलेगा। बादलों की वजह से अधिकतम तापमान में भी गिरावट आएगी।

वहीं, ठंड का आलम यह है कि सोमवार को दिल्ली, शिमला से भी अधिक ठंडी रही। न्यूनतम तापमान 5.9 डिग्री सेल्सियस रहा जबकि शिमला में यह 6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार इस बार सर्दियों के दौरान शिमला में बर्फबारी कुछ कम हुई है।

12 दिसंबर के बाद से शिमला में बर्फ नहीं पड़ी है, जबकि हिमालय से आ रहीं बर्फीली हवाएं दिल्ली में ठिठुरन कम नहीं होने दे रही हैं। यह जरूर है कि धूप निकलने के बाद दिल्लीवासियों को ठंड से राहत मिलती है।

स्काईमेट वेदर के मुताबिक इस बार सर्दियों के दौरान पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता बढ़ी है, इसीलिए शिमला क्षेत्र में अधिक मौसमी गतिविधियां नहीं हो सकीं। इन विक्षोभों की वजह से शिमला में बादल छाए और हवा में तब्दील हो गए। मौसम विभाग के अनुसार मंगलवार से एक पश्चिमी विक्षोभ पश्चिम हिमालय क्षेत्र में सक्रिय हो रहा है।

इस कारण दिल्ली एनसीआर के मौसम में बदलाव होगा, शाम को बारिश होने की संभावना है। शिमला में भी बारिश होगी। हालांकि शिमला में बर्फबारी की संभावना नहीं है, लेकिन दिल्ली और शिमला दोनों जगह कुछ दिन ठंड बढ़ने के आसार हैं।

फिर बढ़ा प्रदूषण का स्तर

सोमवार को वायु प्रदूषण एक बार फिर बेहद खराब श्रेणी में आ गया है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के अनुसार दिल्ली में एयर इंडेक्स के मुताबिक, पीएम-2 का स्तर 342, फरीदाबाद में 347, गाजियाबाद में 434 और गुरुग्राम में 262 रहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here