पीएम मोदी की ‘मन की बात’ से होगा दावोस समारोह का उद्घाटन

0
127

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज को दावोस में वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम को संबोधित करेंगे. शाम 3:45 बजे उनका भाषण होगा. पीएम मोदी यहां दुनिया भर से आए प्रतिनिधियों को भारत की ताकत और अपनी योजनाओं से अगवत कराएंगे. साथ ही वह भारत क्यों दुनिया के लिए अहम हिस्सा होगा इस पर अपने ‘मन की बात’ रखेंगे. वो दुनिया को भारत में आकर बिजनेस करने के लिए प्रेरित भी करेंगे. इसके बाद पीएम मोदी स्वीडन और कनाडा के प्रधानमंत्रियों से मिलेंगे. सोमवार को पीएम मोदी ने दुनिया की शीर्ष कंपनियों के 40 सीईओ के साथ राउंड टेबल मीटिंग की. उन्होंने कहा कि इंडिया का मतलब ही बिजनेस है. उन्होंने भारत में कारोबारी मौके का भी जिक्र किया और देश के विकास की कहानी भी बताई.
2000 कंपनियों के CEOs ले रहे हिस्सा

दावोस-2018 में डब्ल्यूटीओ, विश्व बैंक, आईएमएफ समेत 38 संगठनों के प्रमुख शामिल हो रहे हैं. 2,000 कंपनियों के सीईओ भी इस समिट में हिस्सा ले रहे हैं.
मीटिंग में 400 सेशन होंगे. इसमें 70 देशों के प्रमुखों समेत 350 नेता हिस्सा लेंगे.
दावोस में पहली बार योग सत्र का आयोजन हो रहा है. इसमें योग गुरु बाबा रामदेव के दो शिष्य योग सिखाएंगे.
एक सेशन को आरबीआई के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन भी संबोधित करेंगे.
पाक पीएम शाहिद खाकान अब्बासी, चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग भी हिस्सा लेंगे.

भारत की खास मेहमाननवाजी

शाहरुख खान भी दावोस पहुंचे. उन्होंने वुमन एम्पावरमेंट सेशन में स्पीच दी. शाहरुख, एक्ट्रेस केट ब्लैंचेट और ब्रिटिश सिंगर एल्टन जॉन को 24वां क्रिस्टल अवॉर्ड दिया गया.
वहीं, मोदी 3 कार्यक्रमों में दुनिया के नेताओं, बिजनेसमैन को भारत की ओर से भोज देंगे.
ताज होटल से 32 शेफ दावोस गए हैं. वे 1000 किलो मसाले ले गए हैं. 1200 लोगों के लिए शाकाहारी खाना बनाएंगे.
PM मोदी ने कई कंपनियों के सीईओ ने भारत में निवेश बढ़ाने की जानकारी दी.

WEF की बड़ी बातें

दुनिया की शीर्ष कंपनियों के CEOs की बैठक में मुकेश अंबानी, सत्या नडेला समेत कई बड़ी कंपनियों के सीईओ मौजूद थे.
पीएम ने सभी को संबोधन के लिए आमंत्रित किया. 10-12 स्पीकरों की बातें सुनीं. कई कंपनियों के सीईओ ने भारत में निवेश बढ़ाने की जानकारी दी.
पीएम मोदी ने बताया कि व्यापार की सहूलियत को लेकर भारत ने जो वादे किए थे, वो कैसे पूरे हो रहे हैं.
पीएम मोदी ने सीईओ को अपने विजन के बारे में बताया. साथ ही भारतीय अर्थव्यवस्था में निवेश और सरकार की नीतियों की भी जानकारी दी.
WEF में दो दशक बाद भारत का कोई प्रधानमंत्री शिरकत कर रहा है. खास बात यह है कि WEF के 47 वर्षों के इतिहास में पहली बार इस सम्मेलन की अध्यक्षता की बागडोर पूरी तरह से 7 महिलाओं को सौंपी गई है. इन 7 महिलाओं में भारत के ‘माण देसी महिला सहकारी बैंक’ की अध्यक्ष चेतना सिन्हा भी शामिल हैं.
पीएम मोदी उद्घाटन सत्र को संबोधित करेंगे. इसमें पीएम मोदी भारत के ग्लोबल इकोनॉमी के विकास में अहम भागीदार, भारत में बिजनेस को आसान बनाने, भ्रष्‍टाचार और कालाधन को कम करने, टैक्‍स प्रणाली सरल बनाने जैसे उठाए गए जरूरी कदमों पर चर्चा कर सकते हैं.
पीएम मोदी स्विट्जरलैंड राष्ट्रपति के साथ द्विपक्षीय बैठक करेंगे. भारतीय अधिकारियों का कहना है कि दावोस में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहीद खाकान अब्बासी और मोदी के बीच बैठक की कोई योजना नहीं है.
बैठक में भाग लेने वाले अन्य नेताओं में जर्मनी की चांसलर एजेंला मर्केल, इटली के प्रधानमंत्री पाउलो गेटिलोअली, फ्रांस के राष्ट्रपति एमानुएल मैक्रोन, ब्रिटेन के प्रधानमंत्री थेरेसा मे तथा कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रुडेव शामिल होंगे.
पीएम मोदी के साथ केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली, सुरेश प्रभु, पीयूष गोयल, धर्मेंद्र प्रधान, एम जे अकबर और जितेंद्र सिंह भी वहां जा रहे हैं. उद्योग इकाई सीआईआई के नेतृत्व में सीईओ प्रतिनिधिमंडल में मुकेश अंबानी, गौतम अडाणी, अजीम प्रेमजी, राहुल बजाज, एन चंद्रशेखरन, चंदा कोचर, उदय कोटक और अजय सिंह समेत अन्य लोग शामिल हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here