गंगा नदी में नाव डूबने से पांच लोगों की मौत

0
213

पटना। राजधानी से सटे पफतुहा में आज सुबह नाव डूबने से पांच लोगों की मौत नाव पलटने से हो गयी। घटना की सूचना पर प्रशासन के बड़े अधिकारी मौके पर पहुंच चुके हैं। जानकारी के मुताबिक, पटना से सटे पफतुहा के मस्ताना घाट पर गंगा नदी में आज सुबह 15 लोगों को ले जा रही नाव पलट गयी। इससे करीब पांच लोगों की मौत हो गयी। वहीं, घटना के बाद छह लोग तैर कर किसी तरह सुरक्षित बाहर निकलने में कामयाब रहे। गया जिले के नीमचक थाना के लडुई गांव के पांच लोगों को बचा लिया गया है। बचाये गये लोगों में गया जिले के नीमचक थाने के लडुई गांव के धनेश की पत्नी अनीता देवी, रामसेवक दास की पत्नी अनुराधा देवी और उसका बेटा, रामरती देवी, आयुषी कुमारी शामिल हैं। अन्य लापता लोग भी इसी परिवार के हैं। घटना की सूचना मिलने पर प्रशासन के आला अधिकारी तुरंत घटनास्थल पर पहुंचे और बचाव कार्य शुरू किया गया। घटना के संबंध में पफतुहा के थानाध्यक्ष ने पांच लोगों की मौत होने की पुष्टि की है। वहीं, हादसे में अन्य लापता लोगों की तलाश के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन किया जा रहा है। छोटी नाव पर सवार होकर एक दर्जन से अधिक लोग गंगास्नान के लिए जा रहे थे। इसी दौरान बीच गंगा नदी में नाव पलट गयी। जानकारी के मुताबिक नाव में करीब 15 लोग सवार थे। क्षमता से अधिक भार होने की वजह से नाव का संतुलन बिगड़ गया और वह गंगा नदी में समा गई। बता दें कि माघी पूर्णिमा के अवसर पर मस्ताना घाट पर गंगा स्नान करने के लिए कापफी संख्या में श्र(ालु पहुंचे। कुछ श्र(ालु नदी के इस पार से उस पार नाव में सवार होकर जा रहे थे कि बीच में ही नाव असंतुलित होकर डूब गई, जिससे नाव में सवार पांच लोगों की डूबने से मौत हो गई और वहीं छह लोग तैरकर बाहर निकल आए हैं। मृतकों में दो महिलाएं शामिल हैं। लोगों का कहना है कि श्र(ालुओं की भीड़ को देखते हुए भी स्थानीय प्रसाशन द्वारा सुरक्षा की कोई व्यवस्था नही गई और दुर्घटना होने के बाद हाय तौबा मची है। वहीं इस घटना को लेकर सियासत भी तेज हो गई है। विपक्ष ने घटना के लिए राज्य सरकार और प्रशासन को सीध्े तौर पर जिम्मेवार ठहराया है। वहीं सत्ता पक्ष का कहना है कि घटना की जांच की जाएगी। इसके बाद लापरवाही बरतने वालों पर कारवाई की जाएगी।

मृतक के परिजनों को 4-4 लाख मुआवजा देगी सरकार
हादसे में मारे गये लोगों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये देने की घोषणा राज्य सरकार ने की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here