केन्द्र सरकार के बजट ने किया लोगों को निराश

0
257

वर्तमान केन्द्र सरकार का यह अंतिम बजट था तथा इस बजट पर लोगों की आंखें तथा आशाएं टिकी हुई थीं। हर वर्ग इस बजट को लोकसभा चुनाव के साथ जोड़कर बहुत अधिक राहत की आशा लगाए बैठा था परंतु यदि पेश किए बजट पर गहनता से नजर दौड़ाई जाए तो इस बजट ने लोगों को आयकर छूट के मामले में तो पूरी तरह से निराश किया है।

यह बजट देश के इतिहास में सबसे निकम्मा बजट प्रमाणित हुआ है। स्वास्थ्य सेवाओं को छोड़ कर किसी को कुछ नहीं मिला।’’ वरिष्ठ कांग्रेसी नेता रमन बहल

कुछ राहत तो कुछ टैक्स बढ़ौतरी वाला यह बजट आम लोगों को कोई विशेष राहत देने वाला नहीं है। वर्तमान हालात में अधिक से अधिक रियायतें लोगों को मिलनी चाहिएं।’’

किसान बलजिन्द्र सिंह के अनुसार बजट में कृषि संबंधी सुधार की घोषणा की गई है। यदि किसानों को कृषि पैदावार के हिसाब से लागत मिले तो किसान खुशहाल हो सकता है। बजट में यह कहा तो गया है परंतु इसे कितना व्यावहारिक रूप दिया जाएगा यह तो समय ही बताएगा। यदि देश का किसान खुशहाल होगा तो निश्चित रूप में देश खुशहाल होगा।’’ किसान बलजिन्द्र सिंह

यह बजट पिछड़े इलाके में सेहत सुविधाएं देने वाला जरूर है, इससे हो सकता है कि पिछड़े इलाकों में रहने वाले लोगों को राहत मिले परंतु आधुनिक सेहत सुविधाओं संबंधी बजट में कुछ नहीं है जबकि अब जरूरत आधुनिक सेहत सुविधाओं की है।’’ डा. सतनाम सिंह निज्जर

यह बजट न तो छोटे उद्योग को कोई राहत देने वाला तथा न ही बड़े उद्योग को। केन्द्र सरकार से यह आशा थी कि अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर बसे जिलों में उद्योग को प्रफुल्लित करने तथा बचाने के लिए सरकार कुछ घोषणा करेगी परंतु ऐसा बजट में कुछ नहीं है।’’ उद्योगपति रमन अग्रवाल

यह बजट एक छलावा लगता है। केन्द्र सरकार ने पेश बजट में आयकर छूट में किसी तरह की राहत नहीं दी है। जबकि महंगाई दर को देखते हुए आयकर छूट सीमा बढ़ाया जाना चाहिए था।’’

केन्द्र सरकार के बजट में कुछ भी राहत किसी सैक्टर में दिखाई नहीं देती। राजनीतिक लाभ अर्जित करने वाला भाजपा का यह बजट जनता स्वीकार नहीं कर सकती तथा आगामी लोकसभा चुनाव में इसका असर दिखाई देगा।’’ कांग्रेसी नेता, बलविन्द्र सिंह भोला

बजट ने सी.ए. तथा आयकर वकीलों को भी इसलिए निराश किया है कि हम समझते थे कि सरकार लोगों को आयकर छूट अढ़ाई लाख से बढ़ाकर 4 लाख करेगी क्योंकि महंगाई के हिसाब से यह जरूरी था।’’
सी.ए. पिं्रसी महाजन

केन्द्र सरकार द्वारा पेश बजट में न तो आम जनता तथा न ही पूर्व सैनिकों को कुछ लाभ हुआ है। यह बजट पूर्व सैनिकों को निराश करने वाला बजट है।’’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here