IND vs SA: केपटाउन में फिर फहराया गया उल्‍टा तिरंगा, पहले टेस्‍ट में भी हुई थी गलती

0
106

न्यूलैंड में तीसरे वन डे में टीम इंडिया ने मेजबान टीम को करारी शिकस्त दी है, लेकिन मैच से पहले यहां पर देश की प्रतिष्ठा के साथ खिलवाड़ हुआ। दक्षिण अफ्रीका के न्यूलैंड में मैच शुरू होने से पहले तिरंगा को उल्टा फहराया गया था। इस दौरान तिरंगे में हरी पट्टी ऊपर की ओर थी। कई दर्शकों ने सोशल मीडिया पर तुरंत इस मुद्दे को उठाया और दक्षिण अफ्रीकी टीम प्रशासन ने इस बावत कार्रवाई की मांग की। आपको यह जानकार हैरानी होगी की टेस्ट मैच के दौरान भी इसी मैदान पर यही गलती दुहराई गई थी। दक्षिण अफ्रीका के साथ पहले टेस्ट में न्यूलैंड में भी यही गलती की गई थी। बावजूद इसके न्यूलैंड के अधिकारियों द्वारा फिर से इसी गलती को दुहराया जाना काफी आश्चर्यजनक है। एक ही गलती बार-बार दुहराये जाने को खेल प्रेमियों ने लापरवाही से जोड़कर देखा है। भारतीय खेल प्रेमियों ने न्यूलैंड के अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

हालांकि टीम इंडिया ने बुधवार (7 फरवरी) को मैदान पर शानदार प्रदर्शन किया। भारत ने कप्तान विराट कोहली (नाबाद 160) के शतक और शिखर धवन (76) के अर्धशतक केबाद कुलदीप यादव तथा युजवेंद्र चहल के दम पर बुधवार को न्यूलैंड्स मैदान पर खेले गए मैच में मेजबान दक्षिण अफ्रीका को 124 रनों से हरा दिया। इसी के साथ भारत ने छह वनडे मैचों की सीरीज में 3-0 की अजेय बढ़त ले ली है। भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए पूरे 50 ओवर खेलने के बाद छह विकेट के नुकसान पर 303 रन बनाए थे। मेजबान टीम के बल्लेबाजों का बल्ला इस मैच में भी शांत रहा और पूरी टीम 40 ओवरों में 179 रनों पर पवेलियन लौट कर लगातार तीसरी हार को मजबूर हो गई। कुलदीप और चहल ने चार-चार विकेट लिए। जसप्रीत बुमराह को दो सफलताएं मिलीं। दक्षिण अफ्रीका की तरफ से ज्यां पॉल ड्यूमिनी ने सबसे ज्यादा 51 रनों की पारी खेली। चुनौतीपूर्ण लक्ष्य का पीछा करने उतरी मेजबान टीम को बुमराह ने दूसरे ओवर की पहली गेंद पर ही बड़ा झटका दे दिया। हाशिम अमला (1) एक के कुल स्कोर पर बुमराह की गेंद पर पगबाधा करार दे दिए गए। हालांकि उनके जाने के बाद कप्तान एडिन मार्कराम (32) और ड्यूमिनी ने टीम को बखूबी संभाला। यह जोड़ी अच्छे से टीम के स्कोर बोर्ड को चला रही थी। स्कोर 79 था और तभी यह साझेदारी टूट गई।

इस मैच में भारतीय कप्तान कोहली ने बल्ले से अपने शानदार फॉर्म को जारी रखते हुए अपने वनडे करियर का 34वां शतक जड़ा। उन्होंने धवन के साथ दूसरे विकेट के लिए 140 रनों की साझेदारी की। धवन के आउट होने के बाद भारत ने कुछ विकेट लगातार खो दिए और लग रहा था कि मेहमान टीम बड़े स्कोर से महरूम रह जाएगी, लेकिन कप्तान ने अपनी जिम्मेदारी को बखूबी निभाया और एक छोर पर खड़े रहते हुए अपनी टीम को मजबूत स्कोर प्रदान किया।कोहली ने अपनी नाबाद पारी में 159 गेंदों का सामना किया और 12 चौकों के अलाव दो छक्के लगाए। कोहली ने धवन के जाने के बाद अपना शतक पूरा किया। यह कप्तान के तौर पर उनका 12वां शतक है। इसी के साथ वह सबसे ज्यादा शतक लगाने वाले भारतीय कप्तान बन गए हैं। कोहली ने साथ ही इस मैच में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे में अपने 1000 रन पूरे किए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here