सुंजवान आतंकी हमलाः 9 घंटे से ऑपरेशन जारी, आतंकियों को मारने उतरे पैरा कमांडो, 2 जवान शहीद

0
402

जम्मू-कश्मीर में आज (शनिवार) तड़के जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादियों ने जम्मू शहर के सुंजवान में स्थित सेना के एक शिविर पर हमला कर दिया। इस हमले में सेना के दो जवान शहीद हो गए जबकि दो लोग घायल, जिसमें से एक सेना के जूनियर कमीशंड ऑफिसर थे।
जम्मू कश्मीर के संसदीय कार्य मंत्री अब्दुल रहमान वीरी ने जम्मू कश्मीर विधानसभा को सूचित किया कि जम्मू आतंकी हमले में दो जेसीओ शहीद हुए हैं और छह लोग जख्मी हुए हैं। घायलों में एक कर्नल रैंक का अफसर समेत एक जवान की बेटी भी शामिल है।
उधर केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि ऑपरेशन खत्म होने से पहले कुछ भी कहना ठीक नहीं। उन्होंने कहा कि आश्वस्त रहें सेना और जवान बखुबी अपना काम अंजाम दे रहे हैं।
वहीं गृह राज्य मंत्री हंसराज अहीर ने कहा कि हमारे जवान आतंकियों को मुंहतोड़ जवाब दे रहे हैं।
ऐसे घुसे आतंकी
जैश के आतंकियों के एक समूह ने सुंजवान सैन्य शिविर में घुसने के लिए पहले ग्रेनेड फेंके और स्वचालित हथियारों से हमला किया। बताया जा रहा है कि सुंजवान कैंप के रिहायशी इलाके में 3 से 5 आतंकी एक क्‍वार्टर में छिपे हुए हैं। मीडिया में चल रही खबरों के मुताबिक, आतंकियों का मकसद सैनिकों को बंधक बनाना है। आतंकियों की तलाश में सेना ने अपना ऑपरेशन तेज कर दिया है। आतंकियों की तलाश में पैरा कमांडो जुटे हुए हैं। ताजा जानकारी के मुताबिक, सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण से बात की है और उन्‍हें आतंकी हमले के बारे में जानकारी दी है।
वायुसेना के कमांडो हुए एयरलिफ्ट
सुंजवान कैंप पर हमला करने वाले आतंकियों को ठिकाने लगाने के लिए अब हेलीकॉप्टर के जरिए पैरा कमांडो को एयरलिफ्ट कराया गया है। भारतीय वायुसेना ने इन सभी पैरा कमांडोज को उधमपुर से जम्मू में एयरलिफ्ट किया है। हालांकि आतंकी अभी भी रूक-रूक कर फायरिंग कर रहे हैं।
जम्मू-कश्मीर: हाल में हुए बड़े आतंकी हमलों पर एक नजर
ऑपरेशन जारी
आईजी ने कहा कि आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन जारी है और ये अंतिम चरण में है। आर्मी कैंप के 500 मीटर के भीतर के स्कूलों को बंद कर दिया गया है।
जैश आतंकी
मीडिया में चल रही खबरों के मुताबिक सुंजवान कैंप पर हमले करने वाले तीन आतंकी हैं और तीनों ही पाकिस्तानी है। इसके अलावा ये सभी जैश-ए-मोहम्मद ते आतंकी बताए जा रहे हैं। फिलहाल सेना ने अपने ऑपरेशन के जरिए तीनों आतंकियों को अलग-अलग कर दिया है। आपको बता दें कि आतंकवादियों ने 2006 में भी इसी सैन्य शिविर पर हमला किया था।
राजनाथ ने पुलिस प्रमुख से की बात
केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने जम्मू में सैन्य शिविर पर हुए आतंकवादी हमले के संबंध में आज जम्मू-कश्मीर के पुलिस प्रमुख से बातचीत की तथा जम्मू में सेना के शिविर पर हुए आतंकी हमले से उपजे हालात का जायजा लिया ।
गृहमंत्री के कार्यालय से किये गए ट्वीट के अनुसार, फोन पर हुई बातचीत में गृह मंत्री ने जम्मू में सैन्य शिविर पर हुए आतंकवादी हमले के संबंध में पुलिस महानिदेशक एस. पी. वैद्य से विस्तृत जानकारी मांगी है ।
ट्वीट में बताया गया है, ”पुलिस महानिदेशक ने उन्हें स्थिति से अवगत कराया। केन्द्रीय गृह मंत्रालय हालात पर करीब से नजर रखे हुए है।
अधिकारियों ने बताया कि जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादियों ने आज तड़के जम्मू के सुंजवान स्थित सैन्य शिविर पर हमला कर दिया। इसमें सेना के तीन कर्मी और एक सैन्यकर्मी की बेटी घायल हो गयी है।
जम्मू के आईजीपी एसडी सिंह जमवाल ने बताया कि हमला सुबह 4.55 बजे हुआ। उस वक्त संतरी में कुछ संदिग्ध हरकतें दिखीं। जिसके बाद संतरी बंकर पर फायरिंग की गई। हमारी ओर से भी जवाबी कार्रवाई की गई। हमले में कितने आतंकवादी शामिल हैं अभी तक ये पता नहीं चल पाया है।
खुफिया एजेंसियों ने अफजल गुरू की बरसी पर जैश ए मोहम्मद द्वारा सुरक्षा प्रतिष्ठानों को निशाना बनाये जाने को लेकर पहले ही चेतावनी जारी की थी। अफजल गुरू को नौ फरवरी 2013 को फांसी दी गई थी।
अधिकारियों ने बताया कि शिविर के पिछले हिस्से में सैन्यकर्मियों के आवासीय क्वार्टर हैं। आतंकवादियों की संख्या दो से तीन मानी जा रही है। हालांकि उन्हें अलग-थलग किया जा चुका है।
अब तक तीन लोगों के घायल होने की खबर है। घायलों में एक जूनियर कमीशन्ड अफसर और उनकी बेटी शामिल हैं। उधर सैन्य कैंप से अभी भी फायरिंग की आवाजें आ रही हैं। कैंप के पास 500 मीटर के दायरे में मौजूद सभी स्कूलों को बंद रखने का आदेश दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here