जम्मू-कश्मीर में रक्तपात बंद करना है तो पाकिस्तान से बातचीत जरूरी: CM महबूबा मुफ्ती

0
219

जम्मू-कश्मीर के सुंजवान में सेना के कैंप में आतंकी हमले के बाद सोमवार को श्रीनगर के करण नगर में भी सीआरपीएफ के हेडक्वॉर्टर के पास मुठभेड़ जारी है। इन हमलों में सेना के जवान सहित स्थानीय नागरिक भी मारे गए हैं। लगातार हो रही हिंसा और खून खराबे को रोकने के लिए जम्मू कश्मीर की सीएम महबूबा मुफ्ती ने पाकिस्तान से बातचीत जरूरी बताई है। महबूबा ने अपने ऑफिशल ट्विटर अकाउंट से ट्वीट किया, ‘इस रक्तपात को रोकना चाहते हैं तो पाकिस्तान से बातचीत जरूरी है। मुझे पता है कि आज मुझे टीवी न्यूज चैनलों के ऐंकरों द्वारा ऐंटी नैशनल का तमगा दे दिया जाएगा लेकिन मुझे इससे फर्क नहीं पड़ता। जम्मू-कश्मीर के लोग पीड़ित हैं। हमें बात करनी होगी क्योंकि युद्ध उपाय नहीं है।’ महबूबा मुफ्ती इससे पहले भी कई मौकों पर पाकिस्तान के साथ बातचीत को लेकर वकालत कर चुकी हैं। वहीं, जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नैशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला ने भी पाकिस्तान का नाम लिए बिना कहा, ‘जितना आतंकवाद बढ़ेगा, उतनी मुसीबत आएगी और उनके मुल्क में ज्यादा मुसीबत आएगी। वहां कुछ भी नहीं रहेगा। अगर यही सूरत रही तो हिंदुस्तान की हुकूमत को भी सोचना पड़ेगा कि अगला कदम क्या होगा।’ गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के हालिया कायराना हमले के बाद रविवार देर रात सेना ने सुंजवान कैंप में ‘क्लिनिंग ऑपरेशन’ शुरू कर दिया था। यहां सेना के 5 जवान शहीद हो गए हैं। यह ऑपरेशन अभी भी जारी है। उधर, श्रीनगर में एक बार फिर आतंकियों ने सीआरपीएफ कैंप पर हमले की कोशिश की। यहां सेना और आतंकियों के बीच जारी मुठभेड़ में सीआरपीएफ का एक जवान शहीद हो गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here