मेरी किसी के साथ कोई प्रतिस्पर्धा नहीं है: विराट कोहली

0
150

सेंचुरियन
विराट कोहली ने खुद को 22 गज की दुनिया का बेताज बादशाह साबित कर दिया है। लेकिन भारतीय कप्तान क्रिकेट जगत के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज जैसे किसी विशिष्ट ‘तमगे’ के लिए’ किसी के साथ प्रतिस्पर्धा’ करने के मूड में नहीं हैं। कोहली ने साउथ अफ्रीका के खिलाफ शुक्रवार को समाप्त हुई 6 वनडे मैचों की सीरीज में तीन शतकों की मदद से 558 रन बनाए। इस दौरान विराट के बल्ले से तीन शतक और एक अर्धशतक भी निकला। उनके शानदार प्रदर्शन से भारत ने यह सीरीज 5-1 से जीती, लेकिन इस स्टार बल्लेबाज ने साफ किया कि उन्होंने कभी सुर्खियों में रहने के लिए क्रिकेट नहीं खेला।
कोहली ने छठे और अंतिम वनडे मैच में भारत की 8 विकेट से जीत के बाद कहा, ‘इस मुकाम पर मुझे किसी के साथ प्रतिस्पर्धा जैसा महसूस नहीं होता है। यह सब कुछ मैच से पहले मेरी तैयारियों और मैच के दिन मैं कैसा महसूस कर रहा हूं, से जुड़ा है। मेरी एकमात्र प्रेरणा खुद को उस स्थिति में लाना है। मेरी किसी से भी किसी भी तरह की प्रतिस्पर्धा नहीं है।’
कोहली ने बताया कि और कितने साल खेलेंगे क्रिकेट
कोहली से पूछा गया कि क्या उन्हें अब वर्ल्ड क्रिकेट में सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज कहा जा सकता है, उन्होंने कहा, ‘मैंने जैसे कहा है कि मैं किसी तरह का तमगा नहीं चाहता हूं। मैं सुर्खियों में नहीं रहना चाहता हूं। मैं केवल अपनी भूमिका अच्छी तरह से निभाना चाहता हूं। यह लोगों पर निर्भर करता है कि वे क्या लिखते हैं।’
उन्होंने कहा, ‘यह मेरा काम है। मैं जो कर रहा हूं वह मुझे करना चाहिए और मैं किसी की तारीफ के लिए ऐसा नहीं कर रहा हूं। इसलिए मैं कड़ी से कड़ी मेहनत और टीम के लिए सर्वश्रेष्ठ करने की कोशिश करने के वर्तमान दौर में बने रहना चाहता हूं।’
साउथ अफ्रीका में भारत की ऐतिहासिक जीत, टि्वटर पर दिग्गजों का सलाम
टीम इंडिया ने साउथ अफ्रीका में खेली गई 6 मैचों की वनडे सीरीज को 5-1 से अपने नाम कर लिया। भारत की इस जीत पर पूर्व दिग्गज क्रिकेटरों ने टीम इंडिया को बधाई दी है। देखें इस ऐतिहासिक जीत पर क्या बोले पूर्व दिग्गज क्रिकेटर…
टीम इंडिया ने साउथ अफ्रीका में खेली गई 6 मैचों की वनडे सीरीज को 5-1 से अपने नाम कर लिया। भारत की इस जीत पर पूर्व दिग्गज क्रिकेटरों ने टीम इंडिया को बधाई दी है। देखें इस ऐतिहासिक जीत पर क्या बोले पूर्व दिग्गज क्रिकेटर…
महान बल्लेबाज सचिन तेंडुलकर ने भारत की इस जीतपर विराट कोहली और उनकी टीम को बधाई दी है।सचिन ने लिखा, ‘विराट कोहली की 35वीं शतकीय पारी शानदार थी। भारत को साउथ अफ्रीका में पहली बार वनडे सीरीज जीतने की बधाई। खास उपलब्धि है यह..
महान बल्लेबाज सचिन तेंडुलकर ने भारत की इस जीतपर विराट कोहली और उनकी टीम को बधाई दी है।
सचिन ने लिखा, ‘विराट कोहली की 35वीं शतकीय पारी शानदार थी। भारत को साउथ अफ्रीका में पहली बार वनडे सीरीज जीतने की बधाई। खास उपलब्धि है यह..’
टीम इंडिया के पूर्व दिग्गज टेस्ट बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण ने भी टीम को जीत की बधाई दी। लक्ष्मण ने विराट की तारीफ के साथ-साथ युवा स्पिन गेंदबाज कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल की भी तारीफ की। इन दोनों ने इस सीरीज में 33 विकेट अपने नाम किए।
टीम इंडिया के पूर्व दिग्गज टेस्ट बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण ने भी टीम को जीत की बधाई दी। लक्ष्मण ने विराट की तारीफ के साथ-साथ युवा स्पिन गेंदबाज कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल की भी तारीफ की। इन दोनों ने इस सीरीज में 33 विकेट अपने नाम किए।
वीरेंदर सहवाग ने भारत की इस सीरीज जीत पर बधाई देते हुए लिखा, ‘टीम को साउथ अफ्रीका में पहली द्विपक्षीय सीरीज जीतने पर बहुत-बहुत बधाई। टीम ने निरंतर जीत की भूख प्रदर्शित की। विदेश में मिली इस जीत के कई मायने हैं और यह भविष्य में मिलने वाले कई उपलब्धियों का संकेत है।’
वीरेंदर सहवाग ने भारत की इस सीरीज जीत पर बधाई देते हुए लिखा, ‘टीम को साउथ अफ्रीका में पहली द्विपक्षीय सीरीज जीतने पर बहुत-बहुत बधाई। टीम ने निरंतर जीत की भूख प्रदर्शित की। विदेश में मिली इस जीत के कई मायने हैं और यह भविष्य में मिलने वाले कई उपलब्धियों का संकेत है।’
टीम इंडिया के पूर्व खिलाड़ी संजय मांजरेकर ने लिखा, ‘इस मैच में बोलर्स ने जीत दिलाई लेकिन जिस अंदाज में कोहली ने इस मैच को खत्म किया वह काबिलेतारीफ है। यह डराने वाला भी है कि कितनी आसानी से विराट कोहली अपने अंतरराष्ट्रीय शतक पूरे कर लेते हैं।’
टीम इंडिया के पूर्व खिलाड़ी संजय मांजरेकर ने लिखा, ‘इस मैच में बोलर्स ने जीत दिलाई लेकिन जिस अंदाज में कोहली ने इस मैच को खत्म किया वह काबिलेतारीफ है। यह डराने वाला भी है कि कितनी आसानी से विराट कोहली अपने अंतरराष्ट्रीय शतक पूरे कर लेते हैं।’
टीम इंडिया के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने भी टीम की तारीफ की। शास्त्री ने टीम इंडिया की विनिंग फोटो को शेयर करते हुए लिखा, ‘आप सभी पर गर्व है। आप सभी ने शानदार खेल दिखाया। इस पल को जियो।’
टीम इंडिया के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने भी टीम की तारीफ की। शास्त्री ने टीम इंडिया की विनिंग फोटो को शेयर करते हुए लिखा, ‘आप सभी पर गर्व है। आप सभी ने शानदार खेल दिखाया। इस पल को जियो।’
विराट कोहली और उनकी टीम को एक और शानदार परफॉर्मेंस और सीरीज जीत के लिए बधाई। यह विराट कोहली का भारत है और उनकी खास टीम है। शानदार से शानदार रिजल्ट…
विराट कोहली और उनकी टीम को एक और शानदार परफॉर्मेंस और सीरीज जीत के लिए बधाई। यह विराट कोहली का भारत है और उनकी खास टीम है। शानदार से शानदार रिजल्ट…
भारतीय कप्तान ने फिर से साफ किया कि जब तक टीम उनकी अहमियत समझती है, तब तक लोग क्या सोचते हैं यह उनके लिए ज्यादा मायने नहीं रखता। उन्होंने कहा, ‘मेरे लिए यह मायने रखता है कि टीम प्रबंधन मेरे बारे में क्या सोचता है, मैं खिलाड़ियों के बारे में क्या सोचता हूं और खिलाड़ी मेरे बारे में क्या सोचते हैं। मेरे लिए यही सब मायने रखता है। मैं जानता हूं कि हर दिन शीर्षक बदलता है। कल अगर मैं खराब शॉट खेलकर 0 पर आउट होता हूं, तो हर कोई वह काम करेगा जो उसे करना चाहिए, इसलिए यह कहना मेरा काम नहीं है कि मैं क्या करूं।’
विराट ने पूरा किया कैच का शतक, गांगुली-रैना की बराबरी
कोहली ने कहा, ‘हां अगर मैं गलती करता हूं, तो मैं यहां आकर उसे स्वीकार करूंगा। मैं उन लोगों में नहीं हूं, जो बहाना बनाते हैं और आगे भी ऐसा ही रहूंगा। लेकिन मैं ऐसा व्यक्ति भी नहीं हूं, जो यहां आकर खुद की प्रशंसा करूं। मैं कभी ऐसा नहीं कर सकता क्योंकि जैसे मैंने कहा यह मेरी भूमिका है। मैं किसी की तारीफ के लिए ऐसा नहीं कर रहा हूं।’
विराट के बल्ले से बरसे रेकॉर्ड
छठे और अंतिम मुकाबले में भारतीय टीम ने साउथ अफ्रीका को 8 विकेट से हराते हुए वनडे सीरीज 5-1 से अपने नाम की। मेजबान टीम ने पहले बैटिंग करते हुए 46.5 ओवर में 204 रन बनाए। जवाब में भारतीय टीम ने सिर्फ 32.1 ओवर में ही 2 विकेट खोकर विजयी लक्ष्य पा लिया। इस मैच में भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कई वर्ल्ड रेकॉर्ड बनाए…
छठे और अंतिम मुकाबले में भारतीय टीम ने साउथ अफ्रीका को 8 विकेट से हराते हुए वनडे सीरीज 5-1 से अपने नाम की। मेजबान टीम ने पहले बैटिंग करते हुए 46.5 ओवर में 204 रन बनाए। जवाब में भारतीय टीम ने सिर्फ 32.1 ओवर में ही 2 विकेट खोकर विजयी लक्ष्य पा लिया। इस मैच में भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कई वर्ल्ड रेकॉर्ड बनाए.
भारतीय कप्तान विराट कोहली साउथ अफ्रीका के खिलाफ इस द्विपक्षीय वनडे सीरीज में 558 रन बनाए। इस दौरान उनका औसत 186 का रहा, जबकि बेस्ट स्कोर नाबाद 160 रन रहे। किसी भी द्विपक्षीय वनडे सीरीज में 500 से अधिक रन बनाने वाले वह पहले कप्तान और खिलाड़ी बन गए हैं। उन्होंने कप्तान के तौर पर जॉर्ज बैली का रेकॉर्ड तोड़ा। बैली ने भारत के खिलाफ 2013-14 में 6 मैचों में 478 रन बनाए थे।
भारतीय कप्तान विराट कोहली साउथ अफ्रीका के खिलाफ इस द्विपक्षीय वनडे सीरीज में 558 रन बनाए। इस दौरान उनका औसत 186 का रहा, जबकि बेस्ट स्कोर नाबाद 160 रन रहे। किसी भी द्विपक्षीय वनडे सीरीज में 500 से अधिक रन बनाने वाले वह पहले कप्तान और खिलाड़ी बन गए हैं। उन्होंने कप्तान के तौर पर जॉर्ज बैली का रेकॉर्ड तोड़ा। बैली ने भारत के खिलाफ 2013-14 में 6 मैचों में 478 रन बनाए थे।
विराट कोहली ने बैटिंग ही नहीं फील्डिंग में भी उपलब्धि हासिल की। उन्होंने इस मैच में बुमराह की बॉल पर इमरान ताहिर का कैच लपका, जो उनके वनडे करियर का 100वां कैच रहा। ऐसा करने वाले वह छठे भारतीय हैं।
विराट कोहली ने बैटिंग ही नहीं फील्डिंग में भी उपलब्धि हासिल की। उन्होंने इस मैच में बुमराह की बॉल पर इमरान ताहिर का कैच लपका, जो उनके वनडे करियर का 100वां कैच रहा। ऐसा करने वाले वह छठे भारतीय हैं।
इस मैच में विराट कोहली ने सबसे तेज 9500 वनडे रन भी पूरे किए। इसके लिए उन्होंने सिर्फ 200 पारियां खेलीं। उन्होंने एबी डि विलियर्स (215) का वर्ल्ड रेकॉर्ड तोड़ा। यहां तक पहुंचने के लिए पूर्व भारतीय कप्तान सौरभ गांगुली ने 246 और सचिन तेंडुलकर ने 247 पारियां खेली थीं।
इस मैच में विराट कोहली ने सबसे तेज 9500 वनडे रन भी पूरे किए। इसके लिए उन्होंने सिर्फ 200 पारियां खेलीं। उन्होंने एबी डि विलियर्स (215) का वर्ल्ड रेकॉर्ड तोड़ा। यहां तक पहुंचने के लिए पूर्व भारतीय कप्तान सौरभ गांगुली ने 246 और सचिन तेंडुलकर ने 247 पारियां खेली थीं।
भारतीय टीम ने पहली बार साउथ अफ्रीका को उसी के मैदान पर द्विपक्षीय वनडे सीरीज में 5-1 के अंतर से हराया। इस सीरीज से पहले भारतीय टीम कुल मिलाकर 4 मुकाबले ही जीत सकी थी।
भारतीय टीम ने पहली बार साउथ अफ्रीका को उसी के मैदान पर द्विपक्षीय वनडे सीरीज में 5-1 के अंतर से हराया। इस सीरीज से पहले भारतीय टीम कुल मिलाकर 4 मुकाबले ही जीत सकी थी।
भारत दूसरा ऐसा देश है, जिसने साउथ अफ्रीका को उसी के मैदान पर वनडे सीरीज में इतनी बुरी तरह हराया। इससे पहले ऑस्ट्रेलिया ने 2001-02 में मेजबान टीम को 5-1 से हराया था।
भारत दूसरा ऐसा देश है, जिसने साउथ अफ्रीका को उसी के मैदान पर वनडे सीरीज में इतनी बुरी तरह हराया। इससे पहले ऑस्ट्रेलिया ने 2001-02 में मेजबान टीम को 5-1 से हराया था।
कप्तान के इस बयान से साफ झलकता है कि वह पूर्व की आलोचनाओं से वह कितने आहत थे। कोहली से पूछा गया कि क्या यह भारत की विदेशी सरजमीं पर सर्वश्रेष्ठ जीत है, उन्होंने कहा, ‘आप लोग कह सकते हो। एक महीने पहले हमारी टीम बहुत बुरी थी। अब हमसे यह सवाल किया जा रहा है। हमने अपनी मानसिकता नहीं बदली।’
गांगुली का अपग्रेडेड वर्जन हैं विराट कोहली: सहवाग
उन्होंने कहा, ‘मैं जानता हूं कि पहले 2 टेस्ट मैचों के बाद 90 प्रतिशत लोगों ने हमारी जीत की संभावना नकार दी थी। मैं इसी कमरे में संवाददाता सम्मेलन में बैठा था। इसलिए हम जानते हैं कि हमारी टीम क्या कर सकती है। मैं किसी तरह के मुगालते में नहीं जीता क्योंकि यह मेरे लिए मायने नहीं रखता। जब हम 0-2 से पिछड़ रहे थे, तब भी यह मायने नहीं रखता था और अब जब हम 5-1 से जीते हैं तब भी। मेरे लिए ड्रेसिंग रूम का सम्मान मायने रखता है।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here