योगी सरकार के बजट में धार्मिक पर्यटन पर सबसे ज्यादा जोर, काशी की देव दीपावली पर खर्च होंगे 10 करोड़ रुपये

0
113

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने बजट में धार्मिक पर्यटन पर सबसे ज्यादा जोर दिया है. प्रधानमंत्री के निर्वाचन क्षेत्र काशी की देव दीपावली के लिए बजट में 10 करोड़ रुपये की व्यवस्था की गई है. नई पर्यटन नीति-2018 के तहत रामायण सर्किट, कृष्णा सर्किट, सूफी सर्किट, बौद्ध सर्किट, बुंदेलखंड सर्किट और जैन सर्किट के लिए करोड़ों रुपये का प्रावधान किया गया है. यही नहीं, अयोध्या की दीपावली और बरसाना की होली को भी योगी सरकार ने काफी महत्व दिया है. वित्तमंत्री राजेश अग्रवाल ने बजट भाषण में बताया कि ब्रज तीर्थ विकास परिषद की स्थापना एवं सुविधाओं के लिए 100 करोड़ रुपए की व्यवस्था की गई है.
सरकार ने पर्यटन नीति के तहत रामायण सर्किट के साथ कृष्ण सर्किट, बौद्ध सर्किट, आध्यात्मिक सर्किट, सूफी सर्किट, बुंदेलखंड सर्किट और जैन सर्किट के लिए 70 करोड़ रुपये आवंटित किए हैं.
इसके अलावा अयोध्या में दीपावली, बरसाना की होली, काशी की देव दीपावली जैसे सांस्कृतिक झांकियों के लिए सरकार ने बजट में 10 करोड़ की व्यवस्था की है. सरकार ने गाजियाबद में कैलाश मानसरोवर भवन के निर्माण के लिए 94 करोड़ रुपये की व्यवस्था की है. गोरखपुर में आधुनिक ऑडिटोरियम के लिए 29 करोड़ 50 लाख रुपये दिए हैं. यूपी में अपराधियों ने जेल से फेसबुक पर अपलोड की सेल्फ़ी…​
वित्तमंत्री राजेश अग्रवाल ने योगी सरकार का दूसरा बजट पेश किया. अग्रवाल ने कुल 4 लाख 28 हजार 384 करोड़ रुपये का बजट पेश किया. यह पिछले साल की तुलना में 11.4 प्रतिशत ज्यादा है. पिछले साल 3.84 लाख करोड़ रुपये का बजट पेश किया गया था. यह अब तक का सबसे बड़ा बजट है. बजट में 44 हजार 53 करोड़ 32 लाख रुपये का राजकोषीय घाटा अनुमानित है. राज्य की ऋणग्रस्तता सकल राज्य घरेलू उत्पाद 29.8 प्रतिशत अनुमानित है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here