कुमकुम भाग्य: अभि ने जलाया लाइटर, किचन में गैस ब्लास्ट

0
642

प्रज्ञा लाइटर ढूंढने किचन में जाती है जहां उसे इयररिंग्स मिलता है। वह खुश हो जाती है। अभि घर लौटता है और पूरब से कहता है कि वह चाहता कि प्रज्ञा यह खुद स्वीकार करे कि वह प्रज्ञा है। दिशा आती है तो अभि पूछता है कि प्रज्ञा कहां है? दिशा कहती है कि वह सुबह से किचन में खाना बना रही। अभि कहता है, उसे देखना है कि प्रज्ञा कितनी उत्साहित है। अभि किचन में पहुंच जाता है, लेकिन वह वहां नहीं होती है। उसे गैस लीक होने की बदबू आती है। वह आगे यह देखने के लिए बढ़ता है कि यह स्मेल कहां से आ रही कि रास्ते में उसे खीर, पनीर और छोले दिख जाता है। वह प्रज्ञा के खयालों में डूब जाता है।
अभि काफी खुश है और किचन में प्रज्ञा का इंतजार कर रहा। प्रज्ञा कमरे में जा रही, लेकिन सिमॉनिका उसे रोककर किचन में जाकर खाना बनाने को कहती है। प्रज्ञा कहती है कि यह इयररिंग्स काफी अहम है, इसलिए वह इसे कमरे में रखने जा रही। सिमॉनिका कहती है कि अब उनकी लाइफ उसके हाथों में है, वह रख देगी यह इयररिंग्स। अभि खीर चखता है तो पाता है कि खीर थोड़ी कच्ची है। वह सोचता है कि उसे गैस पर धीमी आंच पर रख दे और वह लाइटर ढूंढने लगता है। उसे मिल तो जाता है लेकिन वह जला नहीं पाता। प्रज्ञा दिशा और पूरब को अभि के बारे में बातें करते सुनती है और उनसे पूछती है कि वह कब आया? पूरब कहता है कि वह अभी-अभी आया है। प्रज्ञा कहती है कि उन्होंने उसे क्यों बताया कि वह किचन में थी। अभि लाइटर जलाने की कोशिश करता है और उसे गैस की बदबू का एहसास नहीं होता।
अभि लगातार उसे जलाने की कोशिश कर रहा। लाइटर जलता है और कमरे में आग की लपट दिखने लगती है। आग देखकर अभि कूदकर निकलता है। किचन में आग देखकर वह हैरान है। प्रज्ञा अभि के बारे में सोचते हुए वहां आ रही। अभि गैस सिलिंडर कैबिनेट को खोलता है और यह फट जाता है। वह पीछे की ओर गिरता है और भागने की कोशिश करता है। अभि प्रज्ञा, पूरब को पुकारता है। सिमॉनिका उसका आवाज सुनकर खुश हो रही है। हर कोई हैरान है और वहां सबसे पहले प्रज्ञा पहुंचती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here