गुजरात निकाय चुनाव: पीएम मोदी के गृहनगर वडनगर में बीजेपी ने दर्ज की धमाकेदार जीत

0
96

अहमदाबाद
गुजरात विधानसभा चुनाव में बेहद कड़े मुकाबले में जीत के बाद बीजेपी ने स्थानीय निकाय के चुनावों में विपक्षी दलों का सूपड़ा साफ कर दिया। बीजेपी ने सोमवार को घोषित हुए निकाय चुनावों में 75 नगर पालिकाओं में से 47 पर जीतकर यह साबित कर दिया है कि अब भी गुजरात में भगवा लहर बरकरार है। बीजेपी के लिए सबसे अच्छी खबर प्रधानमंत्री के गृहनगर वडनगर से आई। बीजेपी ने प्रतिष्ठा का प्रश्न बनीं यहां की 28 में से 27 सीटों पर धमाकेदार जीत दर्जकर विधानसभा चुनाव का बदला ले लिया।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का गृहनगर वडनगर उंझा विधानसभा क्षेत्र में आता है। विधानसभा चुनाव में उंझा सीट पर कांग्रेस उम्मीदवार आशा पटेल ने बीजेपी उम्मीदवार और मौजूदा विधायक नारायण पटेल को 19000 वोटों के बड़े अंतर से हरा दिया था। 2012 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी के दिग्गज नेता पटेल (79 वर्ष) ने 40 वर्षीय आशा पटेल को हराया था।
गुजरात निकाय चुनाव: बीजेपी के खाते में 47, कांग्रेस को 16 जगहों पर मिली जीत
विधानसभा चुनाव में हार के बाद विपक्षी दलों ने वडनगर के बहाने पीएम मोदी और बीजेपी पर हमला बोलना शुरू कर दिया था। निकाय चुनाव में वडनगर में बीजेपी की शानदार जीत ने विरोधियों को अब यह संदेश दे दिया है कि वहां पर अब भी पीएम मोदी का जादू बरकरार है। इस जीत ने बीजेपी में एक बार से आत्मविश्वास भर दिया है। राज्य बीजेपी के अध्यक्ष जीतू वघानी ने कहा, ‘चुनाव परिणाम यह दर्शाता है कि मात्र दो महीने के अंदर ही कांग्रेस पार्टी से लोगों का मोहभंग हो गया।’
निकाय चुनाव में जीत के बाद जश्न मनाते बीजेपी कार्यकर्ता
उंझा के कुल 2.12 लाख मतदाताओं में 77 हजार पाटीदार हैं वहीं करीब 50 हजार मतदाता ठाकोर समुदाय से आते हैं। उंझा को उमिया माता मंदिर के लिए भी जाना जाता है जो कड़वा पटेल समुदाय की कुलदेवी हैं। शानदार जीत से उत्साहित बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने इस जीत को राज्य सरकार, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सुशासन और आम जनता समर्थक नीतियों में लोगों के ‘अटूट’ विश्वास का सबूत करार दिया।
उन्होंने कहा, ‘गुजरात की जनता का बीजेपी में निरंतर अपना विश्वास प्रकट करना बीजेपी की प्रदेश सरकार और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के सुशासन व लोककल्याणकारी नीतियों में जनता के अटूट विश्वास को प्रमाणित करता है।’ बता दें, बीजेपी ने गुजरात विधानसभा चुनाव में जीत के बाद निकाय चुनाव के रूप में अपनी पहली परीक्षा में कांग्रेस को शिकस्त दे दी। 75 नगरपालिकाओं में से बीजेपी ने 47 जगहों पर जीत दर्ज की है। मतगणना के शुरुआती दौर में बीजेपी को कड़ी टक्कर देती दिख रही कांग्रेस को 16 नगरपालिकाओं में जीत मिली है। निर्दलीयों को 4 जगहों पर जीत मिली है।
जश्न मनातीं बीजेपी की महिला कार्यकर्ता
2013 में इन 75 नगरपालिकाओं के लिए हुए चुनावों में भी बीजेपी को 47 नगरपालिकाओं में जीत मिली थी। इस लिहाज से इस चुनाव में बीजेपी को न तो नुकसान हुआ है और ना ही फायदा। कांग्रेस ने जरूर इस चुनाव में बेहतर प्रदर्शन किया है। पिछली नगरपालिकाओं में चुनावों में कांग्रेस ने केवल 13 जगहों पर जीत दर्ज की थी, लेकिन इस बार उसे 16 नगरपालिकाओं में जीत मिली है। वहीं 6 नगरपालिकाओं में किसी को बहुमत नहीं मिला है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here