बिहार के औरंगाबाद में सीबीआइ की छापेमारी, 2 करोड़ 10 लाख की हेराफेरी का मामला

0
471

बिहार के औरंगाबाद जिले के जिलाधिकारी के ठिकानों पर सीबीआइ की छापेमारी चल रही है। साथ ही अन्‍य छह ठिकानों पर भी सीबीअाइ कागजातों को खंगाल रही है।
पटना । बिहार के औरंगाबाद जिले में जिलाधिकारी कंवल तनुज के ठिकानों सहित पांच जगहों पर सीबीआइ की छापेमारी चल रही है। सीबीआई के एसपी राजीव रंजन के नेतृत्‍व में 20 लोगों की टीम 2 करोड़ 10 लाख की गड़बड़ी से जुड़े मामले की जांच के लिए यह कार्रवाई कर रही है।
जानकारी के अनुसार, बिहार के औरंगाबाद के नवीनगर में रेल और एनटीपीसी के संयुक्‍त उपक्रम से 1000 मेगावाट का बिजली घर बन रहा है। इसके लिए जमीन अधिग्रहण हुआ था। अधिग्रहित जमीन में से वर्ष 7 एकड़ 45 डिसिमल जमीन को वर्ष 2015 में पहले मालिक गरमजरूआ घोषित किया गया।
दो साल बाद वर्ष 2017 की रिपोर्ट जब डीएम ने मांगी तो सीओ ने बताया कि ये मालिक गरमजरूआ नहीं है, बल्कि गोपाल प्रसाद सिंह की रैयती जमीन है। इसके एवज में गोपाल प्रसाद सिंह को ही 2 करोड़ 10 लाख का भुगतान किया गया। यह पैसा उनके खाते में गया है। चर्चा है कि यह जमीन गोपाल प्रसाद सिंह की नहीं है। इसकी शिकायत सीबीआइ में की गई। इसी बाबत छापेमारी हो रही है।
प्रथम दृष्‍टया सीबीआइ ने मामला दर्ज करते हुए छापेमारी की है। सिर्फ औरंगाबाद में पांच जगहों पर छापेमारी चल रही है। डीएम आवास, डीएम कार्यालय, जिला भू अर्जन कार्यालय, बीआबीसी कंपनी के सीईओ के आवास तथा कार्यालय और अंचल अधिकारी के कार्यालय पर छापेमारी हो रही है। सुबह 9 बजे डीएम आवास में शुरू हुई छापेमारी जारी है। सीबीआइ एससपी राजीव रंजन है। 20 लोगों की टीम है।
सीबीआई के रेड को लेकर प्रशासनिक हलकों में हड़कंप मचा हुआ है। इस संबंध में अब तक कोई कुछ भी बोलने की स्थिति में नहीं है। यहां तक कि पटना के हायर अथॉरिटी भी वेट एंड वाच की स्थिति में है। छापेमारी पूरी होने के बाद ही पूरे मामले का पता चल सकेगा।
CBI Raid के बाद लालू ने की जेठमलानी से बात, मिलने पहुंचे राजद-कांग्रेस के नेता
औरंगाबाद के साथ ही तंवर के लखनऊ और नोएडा सहित छह ठिकानों पर सीबीआइ ने एकसाथ दबिश दी है। आवास के अंदर किसी को जाने नहीं दिया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.