अमेरिका ने उत्तर कोरिया पर लगाया अबतक का सबसे बड़ा प्रतिबंध, मददगार चीन को भी नहीं छोड़ा

0
74

अमेरिका ने उत्तर कोरिया पर अबतक की सबसे बड़ी कार्रवाई की है। 28 जलपोत और 9 परिवहन से जुड़ी कंपनियों पर प्रतिबंध लगाया गया है।
वॉशिंगटन/सियोल । अमेरिका ने उत्तर कोरिया पर अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई की है। अमेरिका और दुनिया भर की चेतावनी को अनसुना कर धड़ल्ले से मिसाइल और परमाणु परीक्षण कर रहे उत्तर कोरिया पर अमेरिका ने सबसे बड़ा प्रतिबंध लगाने का ऐलान किया है। अपने इस फैसले से अमेरिका ने साफ कर दिया है कि वह प्योंगयांग (उत्तर कोरिया) के खिलाफ दबाव की रणनीति को कम नहीं होने देगा। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने उत्तर कोरिया को आगाह करते हुए कहा कि उत्तर कोरिया पर पहले दौर के प्रतिबंधों के काम न करने पर, दूसरे दौर के प्रतिबंध लगाए जाएंगे जो कि दुनिया के लिए बेहद दुर्भाग्यपूर्ण होंगे। अमरिकी ट्रेजरी डिपार्टमेंट ने 28 जलपोत और 9 परिवहन से जुड़ी कंपनियों पर प्रतिबंध लगाया है। जिन 27 कंपनियों को बैन किया है वह नार्थ कोरिया, सिंगापुर और चीन में रजिस्टर हैं।
बता दें कि राष्ट्रपति ट्रंप ने अमेरिकी दौरे पर आए ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री मैलकम टर्नबुल के साथ एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘अगर प्रतिबंध काम नहीं करते तो हमें फिर से नए प्रतिबंध लगाने होंगे और दोबारा लगाए जाने वाले प्रतिबंध बहुत ज्यादा कठोर हो सकते हैं। शायद वे दुनिया के लिए बेहद दुर्भाग्यपूर्ण हों।’ यूएस ट्रेजरी डिपार्टमेंट की ओर से कहा गया कि इन प्रतिबंधों को उत्तर कोरिया की शिपिंग और ट्रेडिंग कंपनियों व जहाजों को बाधित करने के लिए लगाया गया है, ताकि प्योंगयांग अकेला पड़ जाए।
अमेरिकी राष्‍ट्रपति ट्रंप ने उत्तरी कोरिया पर लगाए नए प्रतिबंध
हालांकि इस बीच अमेरिका ने प्रतिबंधों का असर पड़ने की उम्मीद जताई है। अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा, ‘हमारे फैसले को दुनियाभर से समर्थन मिल है। उत्तर कोरिया मनमानी करने वाला देश है।’ वहीं, उत्तर कोरिया के साथ समझौते की बात पर ट्रंप ने कहा, ‘अगर समझौता हो जाता है तो यह बहुत अच्छा होगा। लेकिन अगर ऐसा नहीं हुआ तो आगे कुछ तो होगा।’
बता दें कि ट्रंप प्रशासन द्वारा की गई घोषणा के वक्त पर भी गौर किया जा रहा है, क्योंकि यह ऐलान ऐसे मौके पर किया गया है जब उनकी बेटी इवांका दक्षिण कोरिया में हैं। दरअसल, इवांका रविवार को ओलिंपिक खेलों के समापन समारोह कार्यक्रम में अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व करने पहुंची हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here