चीन में जिनपिंग लंबे समय तक बने रह सकते हैं राष्ट्रपति, आज प्रस्ताव को मंजूरी मिलने की संभावना

0
107

कम्युनिस्ट पार्टी ने दो कार्यकाल की सीमा खत्म करने का प्रस्ताव रखा है।
बीजिंग, एजेंसी। शी जिनपिंग चीन के राष्ट्रपति पद पर अनिश्चिकाल तक बने रह सकते हैं। सत्तारू़़ढ कम्युनिस्ट पार्टी ने राष्ट्रपति पद पर लगातार दो कार्यकाल की समयसीमा के संवैधानिक प्रावधान को खत्म करने का प्रस्ताव पेश किया है। इस प्रस्ताव को स्वीकृति मिलने पर जिनपिंग वषर्ष 2023 के बाद भी राष्ट्रपति पद पर बने रहेंगे। वह 2013 से चीन के राष्ट्रपति हैं।
चीन की सरकारी न्यूज एजेंसी शिन्हुआ के अनुसार कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना ([सीपीसी)] की सेंट्रल कमेटी ने संविधान के उस प्रावधान में बदलाव का प्रस्ताव पेश किया है जिसमें देश के राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति को लगातार दो कार्यकाल से ज्यादा बार पद पर रहने की अनुमति नहीं है। पार्टी का अधिवेशन सोमवार को हो रहा है। इसमें इस प्रस्ताव को मंजूरी दिए जाने की संभावना है। इससे जिनपिंग के लिए अनिश्चित काल तक के लिए चीन का राष्ट्रपति बने रहने का रास्ता साफ हो जाएगा। जिनपिंग को आधुनिक चीन का सबसे ताकतवर नेता माना गया है।
चीन के मौजूदा संविधान के तहत 64 वषर्षीय जिनपिंग को दूसरा पांच वषर्षीय कार्यकाल समाप्त होने पर राष्ट्रपति पद छो़़डना प़़डेगा। बतौर राष्ट्रपति उनका पहला कार्यकाल समाप्त होने वाला है। दूसरे कार्यकाल के लिए उन्हें चुने जाने की औपचारिकता चीन की संसद में जल्द पूरी की जाएगी। इसके लिए संसद की कार्यवाही पांच मार्च से शुरूहोने वाली है।
पिछले साल अक्टूबर में सीपीसी के राष्ट्रीय सम्मेलन में जिनपिंग के दूसरे कार्यकाल पर मुहर लगी थी। एक तरह से उन्हें पार्टी का सर्वोच्च नेता घोषिषत किया गया। इससे पहले देश में तीन दशकों से सामूहिक पार्टी नेतृत्व की परंपरा चली आ रही थी। जिनपिंग कम्युनिस्ट पार्टी के साथ ही सेना के भी प्रमुख हैं। वषर्ष 2016 में सीपीसी ने जिनपिंग को कोर लीडर की उपाधि दी थी।
चीन के सबसे ताकतवर नेता बनेंगे शी
प्रस्ताव पारित होने पर राष्ट्रपति जिनपिंग माओत्से तुंग के बाद चीन के सबसे ताकतवर नेता बन जाएंगे। माओ ने वषर्ष 1943 से 1976 तक चीन पर शासन किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here