बक्सर में मैट्रिक परीक्षार्थियों का हंगामा, रेलवे स्टेशन में की तोड़-फोड़

0
212

बिहार में जगह-जगह बिहार बोर्ड की मैट्रिक परीक्षा के छात्रों ने गणित में आउट अॉफ सिलेबस प्रश्न पूछे जाने को लेकर जमकर हंगामा मचाया और खूब तोड़ फोड़ की।
बक्सर । बिहार बोर्ड की मैट्रिक परीक्षा में गणित विषय में सिलेबस से बाहर का प्रश्न पूछे जाने को लेकर आज बक्सर जिले में परीक्षार्थियों ने जमकर बवाल काटा। छात्रों ने रेलवे ट्रैक पर स्लैब रखकर ट्रैक जाम कर दिया। इस दौरान उन्होंने पाटलिपुत्र एक्सप्रेस में जमकर तोड़फोड़ तथा यात्रियों से मारपीट भी की।
उसके बाद छात्रों ने आसपास के इलाकों में भी जमकर उत्पात मचाया। छात्रों ने अंधाधुंध पत्थरबाजी की जिससे आसपास के कई दुकानों एवं वाहनों को भी क्षति पहुंची है। इसी दौरान छात्रों ने मुफ्फसिल थाना चेक पोस्ट के समीप जब्त कर रखी हुई मोटरसाइकिल एवं चार पहिया वाहनों को आग लगा दिया।
छात्रों ने बुकिंग आफिस में तोड़फोड़ की, छात्रों के डरकर सभी रेलकर्मी भाग खड़े हुए। रेल यातायात घंटे भर बाधित रहा। छात्रों ने मोबाइल से फोटो खींच रहे एक दर्जन यात्रियों के मोबाइल को तोड़ दिया, साथ ही घटना की तस्वीरें लेने वाले छायाकारों को दूर तक खदेड़ा।
नीतीश कुमार के काफिले पर ग्रामीणों का हमला, बाल-बाल बचे मुख्यमंत्री
लगभग आधे घण्टे तक बवण्डर की तरह आये लगभग सौ की संख्या में जुटे छात्रों ने जमकर हंगामा मचाया और उसके बाद खुद ही वहां से चले गए।
वहीं बक्सर के अलावे आज सुबह मधुबनी जिले के झंझारपुर में भी मैट्रिक परीक्षार्थियों ने हंगामा किया है। उनका कहना है कि गणित और विज्ञान की परीक्षा में मॉडल सेट से इतर इंटरमिडिएट स्तर के प्रश्न पूछे गए हैं।आक्रोशित परीक्षार्थियों ने झंझारपुर आरएस के खादी भंडार चौक को आधे घंटे तक जाम रखा।
पूर्वी चंपारण के रक्सौल में सोमवार को विभिन्न परीक्षा केंद्रों पर मैट्रिक परीक्षार्थियों ने जमकर हंगामा किया। छात्रों का कहना है कि परीक्षा में जो प्रश्न आए हैं, वे पाठ्यक्रम से बाहर के हैं। विद्यालयों में विषयवार शिक्षक नहीं है। पठन-पाठन स्कूलों में नहीं होता है। जब परीक्षार्थी परीक्षा देने पहुंचते हैं तो उनकी जांच कपड़ा खोलकर की जाती है।
नशे में धुत महावत ने हाथी से उठक-बैठक करने कहा, हाथी ने ले ली जान
नाराज छात्रों ने परीक्षा केंद्रों के अलावा थाने पर हमला बोल दिया। इस दौरान कई व्यावसायिक प्रतिष्ठानों को भी क्षति पहुंचाई गई। थाने पर हुए हमले में रक्सौल के पुलिस उपाधीक्षक की गाड़ी समेत कई वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया।
घटना की सूचना मिलने के बाद पुलिस उपाधीक्षक राकेश कुमार, एसडीओ व अन्य अधिकारी परीक्षार्थियों को समझाने में लगे हैं। स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है। डीएसपी ने बताया कि छात्रों को नियंत्रित किया जा रहा है। स्थिति सामान्य होने के बाद ही कारणों का खुलासा हो सकेगा।
मैट्रिक परीक्षा के चौथे दिन शनिवार को गणित के प्रश्नपत्र में सिलेबस से बाहर का प्रश्न पूछे जाने से आक्रोशित परीक्षार्थियों ने रविवार को सुपौल, किशनगंज, कटिहार, सीतामढ़ी, बगहा में जमकर बवाल मचाया और सड़क जाम कर प्रदर्शन किया। परीक्षार्थी गणित की परीक्षा रद्द करने की मांग कर रहे थे। छात्रों ने तोड़फोड़ और अागजनी कर शिक्षा मंत्री व बिहार बोर्ड के विरुद्ध नारेबाजी की।
किशनगंज में मैट्रिक परीक्षा में गणित के पर्चे में सिलेबस से बाहर के सवाल पूछे जाने का परीक्षार्थियों ने आरोप लगाते हुए कल भी जमकर बवाल काटा था। परीक्षा शनिवार को हुई थी। परीक्षार्थियों का हुजूम दोपहर करीब 12 बजे बस स्टैंड के सामने पहुंचा। धीरे-धीरे छात्रों की संख्या बढ़ती गई। सबसे पहले उन्होंने एनएच-33 काे जाम कर दिया।
यहां छात्रों ने कुछ वाहनोंं के कांच भी फोड़ दिए। इसके बाद प्रशासन ने सख्त रुख अपनाया। हल्के बल प्रयोग से जब परीक्षार्थियों की भीड़ को खदेड़ा गया तो वे रेलवे लाइन पर पहुंच गए और वहां से गुजर रही ट्रेनों पर पथराव शुरू कर दिया। पुलिस ने यहां से भी भीड़ को खदेड़ा।
पुलिस व पब्लिक ने खदेड़ कर पीटा, प्रदर्शन से पूरे दिन अफरातफरी
लोहिया नगर चौक पर परीक्षार्थियों ने करीब डेढ़ घंटे तक सड़क जाम कर प्रदर्शन किया। पुलिस-प्रशासन के लोगों को देख छात्र अचानक उग्र हो गए और हंगामा करने लगे। दुकानों में तोड़फोड़ की। दुकानों को जबरन बंद कराया और आगजनी भी की।
जब भीड़ बेकाबू हो गई तो पुलिस ने पब्लिक से भी सहयोग मांगा और लाठीचार्ज कर दिया। दोनों ने छात्रों को खदेड़ कर पीटा। पुलिस ने 6 छात्रों को हिरासत में लिया। पुलिस गिरफ्त में आने के बाद भी कुछ लोग छात्रों की पिटाई करते रहे।
सीतामढ़ी में नाराज परीक्षार्थियों ने रविवार को जनकपुर रोड रेलवे स्टेशन पर जहां जमकर तोड़फोड़ की, वहीं रेलवे स्टेशन व पटरी को कब्जे में ले लिया। शासन-प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते हुए परीक्षार्थियों ने 4 घंटे तक उग्र प्रदर्शन किया। स्टेशन पर सीमेंट की बनी कुर्सियों को भी तोड़ दिया। साथ हीं इन कुर्सियों को रेलवे ट्रैक पर डाल ट्रेनों का परिचालन बाधित रखा। उनके उग्र तेवर के सामने पुलिस की एक न चली। ट्रेनों का परिचालन ठप रहा। इसके चलते आम यात्रियों को काफी परेशानी झेल।
कटिहार के बारसोई रेलवे स्टेशन के इंदिरा चौक पर इस्लामिया हाई स्कूल व बीएमपी स्कूल के परीक्षार्थियों ने सड़कों पर टायर जलाकर प्रदर्शन किया और शिक्षा मंत्री के खिलाफ नारेबाजी की। कहा कि सिलेबस से बाहर के प्रश्न पूछे जाने से उनका पेपर खराब चला गया। फिर से परीक्षा ली जाए। सूचना मिलते ही बीडीओ, डीएसपी दल बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे और परीक्षार्थियों को समझाने-बुझाने के बाद जाम हटाया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here